NDTV Khabar

इस सर्दी में ये सुपरफूड आपके ब्लड शुगर लेवल को करेगा कंट्रोल

आर्युवेद में प्राचीन काल से ही घी को स्वास्थ्यवर्धक वसा का स्रोत माना जाता है. प्राचीन चिकित्सकीय उपचारों और कुछ अध्ययनों में ये सुझाव दिया गया है कि घी को सही मात्रा में खाने से ह्र्दय रोगों का कम ख़तरा होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस सर्दी में ये सुपरफूड आपके ब्लड शुगर लेवल को करेगा कंट्रोल

घी ऐसा सुपरफूड है जो सर्दियों में आपकी डाइट के लिए बेहद ज़रूरी हैं

खास बातें

  1. घी सर्दियों में आपकी डाइट के लिए बेहद ज़रूरी है.
  2. ये शरीर को ज़रूरी ऊर्जा भी प्रदान करता है, साथ ही आलस को भी दूर करता है
  3. घी को सही मात्रा में खाने से ह्र्दय रोगों का कम ख़तरा होता है

घी और शुद्ध मक्खन दो ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो सर्दियों में आपकी डाइट के लिए बेहद ज़रूरी हैं. ये देसी रसोई में होने वाले ऐसे सुपरफूड हैं जो सर्दियों में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाते हैं. इनके इस्तेमाल की सबसे बड़ी वज़ह इनके लाभ हैं. घी के बारे में कहा जाता है कि सर्दियों में हमारे शरीर को ये अंदर से गर्म रखता है, जिससे की सर्दियों का विपरीत प्रभाव आपके शरीर पर नहीं पड़ता है. आर्युवेद में घी की प्रकृति को ऊष्मोत्पादक (गर्मी पैदा करने वाला खाद्य पदार्थ) कहा जाता है. ठंड के मौसम में सब्जियों और सूप में देसी घी के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है.

ये शरीर को ज़रूरी ऊर्जा भी प्रदान करता है, साथ ही आलस को भी दूर करता है. घी आपके शरीर को सौंदर्य लाभ भी देता है- यह त्वचा को नमी प्रदान कर इसे कोमल बनाए रखता है, खास तौर पर सर्दियों के दिनों में. घी में मौजूद अनसैचुरेटिड फैट या हेल्दी फैट खून में मौजूद अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सही करने में मदद करता है. हेल्दी फैट की घी में अधिकता होने की वज़ह से यह वज़न को भी कम करता है. घी का एक ऐसा फायदा भी है जिसकी ओर अक्सर हमारा ध्यान नहीं जाता है. घी का ये खास गुण इसे सर्दियों में सुपरफूड बनाता है. ये शुगर के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है. 

ghee enhances brain function शुगर के मरीज़ों के लिए घी का सेवन सुरक्षित और स्वस्थ्य माना गया है

कैसे घी है शुगर के मरीजों के लिए सर्दियों में सुपरफूड?


आर्युवेद में प्राचीन काल से ही घी को स्वास्थ्यवर्धक वसा का स्रोत माना जाता है. प्राचीन चिकित्सकीय उपचारों और कुछ अध्ययनों में ये सुझाव दिया गया है कि घी को सही मात्रा में खाने से ह्र्दय रोगों का कम ख़तरा होता है. घी में मौजूद कॉन्जुगेटिड लिनोलिक एसिड ह्र्दय रोगों को कम करने में मदद करता है. टाइप टू शुगर से पीड़ित लोगों में ये ख़तरा ज़्यादा होता है. इसके अलावा ये भी कहा जाता है कि चावल जैसे कार्बोहाइड्रेट से लैस खाद्य पदार्थों में घी को शामिल करने से ये उसमें मौजूद शुगर को अधिक प्रभावी ढंग से पचाने में मदद करता है.

टिप्पणियां

यही वज़ह है कि शुगर के मरीज़ों के लिए घी का सेवन सुरक्षित और स्वस्थ्य माना गया है. हालांकि यहां इस बात का भी ज़िक्र करना ज़रूरी है कि अत्यधिक मात्रा में घी का सेवन वज़न बढा़ने की भी वज़ह बन सकता है और शुगर के रोगियों के लिए हानिकारक हो सकता है. ऐसे में सलाह दी जाती है कि अच्छी गुणवत्ता का ऑर्गेनिक घी ही इस्तेमाल करें, जिससे की आप सर्दियों के इस सुपरफूड के गुणों का लाभ ले सकें. इसके अलावा नियम से Hb1ac के लेवल की भी सही समय पर जांच कराते रहें और सर्दियों के इस सुपरफूड घी के सेवन के लिए खाद्य विशेषज्ञ की भी सलाह ले सकते हैं.

डिस्क्लेमर: यहां दी गई सलाह और सुझाव सामान्य जानकारी प्रदान करते हैं. यह किसी तरह से योग्य चिकित्सा के परामर्श का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. NDTV इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement