NDTV Khabar

World Diabetes Day: कैसे मुलेठी कंट्रोल करेगी डायबिटीज, जानें कैसे करें ब्लड शुगर को कंट्रोल

What Is Diabetes: डायबि‍टीज क्या है? डायबिटीज़ एक मेटाबोलिक ड‍िसऑर्डर है. जिसमे शुगर को शरीर में ठीक से मेटाबोल नहीं मिलता है. इसका मतलब है कि रक्त शुगर का स्तर ऊंचा होना जारी रहता है. डायबिटीज़ दो तरह की होती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
World Diabetes Day: कैसे मुलेठी कंट्रोल करेगी डायबिटीज, जानें कैसे करें ब्लड शुगर को कंट्रोल

डायबिटीज दो तरह की होती है. टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज.

What Is Diabetes: डायबिटीज क्या है? डायबिटीज एक मेटाबोलिक ड‍िसऑर्डर है. जिसमे शुगर को शरीर में ठीक से मेटाबोल नहीं मिलता है. इसका मतलब है कि रक्त शुगर का स्तर ऊंचा होना जारी रहता है. डायबिटीज दो तरह की होती है. टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज . टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) एक ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है, इसमें बीटा कोशिकाएं इंसुलिन नहीं बना पाती हैं. वहीं टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) में शरीर में इंसुलिन (Insulin) की मात्रा कम हो जाती है या शरीर सही तरह से इस्तेमाल नहीं कर पाता. आज की जीवनशैली में डायबिटीज (Diabetes) तेजी से फैल रहा है. डायबिटीज या मधुमेह होना अब बहुत आम सी बात होती जा रही है, जोकि बहुत बुरा है. हालात तो ऐसे हैं कि आजकल बड़े या बुजुर्गों में ही नहीं छोटे-छोटे बच्चों में डायबिटीज की समस्या देखने को मि‍ल रही है. डायबिटीज को साइलेंट किलर के तौर पर जाना जाता है. डायबिटीज वह स्थिति है (What Is Diabetes) जब ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है. वर्तमान में यह दुनियाभर में सबसे अधिक ज्यादा फैलने वाले चयापचय विकारों में से एक है. डायबिटीज या मधुमेह रोगियों को अपनी डाइट (Diabetes diet chart) के प्रति बहुत ज्यादा सजग रहने की जरूरत होती है. यह जरूरी हो जाता है कि आप अपनी डाइट (Diabetes diet) में शुगर पर ध्यान दें और नेचुरल एंटिबायोटिक्स (Natural antidiabetic) लें, जो आपको आहार से मिल सकते हैं. वैज्ञानिकों ने कई फलों और सब्जियों के प्राकृतिक एंटीडायबिटिक गुणों की खोज की है.


Diabetes Management: इसके अलावा कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां भी हैं जो आप अपने आहार में शामिल कर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं. तो अगर आप अपनी डायबिटीज डाइट (Diabetes diet) में शामिल कते हैं कुछ ऐसी चीजें जो ब्लड शुगर लेवल और मधुमेह को नियंत्र‍ित करने में मददगार हों, तो आप बिलकुल सही राह पर हैं. अब अगर आप सोच रहे हैं कि डायबिटीज के घरेलू नुस्खे, डायबिटीज से बचने के उपाय या डायबिटीज को और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए क्या खाएं तो इनका जवाब हो सकता है मुलेठी. जिसे इंग्ल‍िश में भी कहा जाता है. मुलेठी में बहुत से एंटी-डायबिटीक गुण होते हैं.

मुलेठी के फायदे और इलाज: कैसे मुलेठी ब्लड शुगर लेवल को नि‍यंत्रि‍त करती है (How Does Licorice (Mulethi) Help Manage Blood Sugar Levels)

मुलेठी के फायदे: मुलेठी के औषधीय गुण खांसी में किसी दवा की तरह ही काम करते हैं. जब गला सूख रहा हो तो मुलेठी आपके लिए लाइफसेवर हो सकती है. गला सूखने पर या खराश होने पर छोटी से मुलेठी को मुंह में रख लें. यह आपके गले को नमी देगी और राहत दलिाएगी. इसके अलावा यह सांस से संबंधी रोगों में भी मददगार है. कुछ अध्ययनों ने यह भी दावा किया है कि यह आपके रक्तचाप के स्तर को भी स्थिर रखने में मदद कर सकता है.

डीके पब्लिशिंग हाउस की पुस्तक 'हीलिंग फूड्स' के अनुसार, "मुलेठी एक एंटीडायबिटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर औषधि है. जो मेाबॉलिक सिंड्रोम (जोखिम कारकों का एक समूह है जो मधुमेह और हृदय रोग का कारण बन सकता है) के उपचार में सहायता करता है." पुस्तक में आगे यह भी उल्लेख किया गया है कि थोड़ी मात्रा में मुलेठी भी चीनी की कमी को कम करने में मदद कर सकता है.


अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार, मुलेठी की जड़ में अमोर्फ्रुटिन (Amorfrutins) होते हैं, जो मधुमेह विरोधी गुणों के लिए जाने जाते हैं. Amorfrutins में कई एंटी इंफ्लेमेट्री गुण (anti-inflammatory properties) होते हैं, मधुमेह से संबंधित स्थितियों को दूर रखने में मददगार है. 

vmnp85g

World Diabetes Day: डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए भोजन में बदलाव किया जा सकता है..

अब, जब आप मुलेठी के इतने फायदों के बारे में जान ही चुके हैं तो यकीनन आपके मन में सवाल होगा क‍ि मधुमेह या डायबिटीज के लिए मुलेठी को कैसे इस्तेमाल करें. 
  

कैसे बनाएं मुलेठी की चाय (How To Make Licorice Tea For Diabetes)

1. दो कप पानी उबाल लें.

2. अब एक चम्मच सूखे मुलेठी की जड़ें इस पानी में डालें. इसे 3 से 4 म‍िनट तक उबलने दें. 

3. इसके बाद उसे कप में छान लें. 
 
आप चाहें तो स्वाद के लिए इसमें इलायची भी डाल सकते हैं. इलायची भी डायबिटीज में लाभदायक साब‍ित होती है. लेक‍िन इस बात का ध्यान रखें क‍ि आप अपने आहार में कोई भी बदलाव अपने डॉक्टर की सलाह से ही करें. 

डायबिटीज से जुड़ी और खबरों के लिए क्लि‍क करें.
 

ये भी पढ़ें- 

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement