NDTV Khabar

World Arthritis Day 2019: अर्थराइटिस में क्या खाएं और क्या न खाएं, जानें गठिया रोग का घरेलू उपचार

World Arthritis Day 2019: अर्थराइटिस में आहार (Diet In Arthritis) क्या होना चाहिए, अर्थराइटिस की जांच कैसे की जा सकती है, अर्थराइटिस में खानपान (Catering In Arthritis) का ध्यान कैसे रखें साथ ही अर्थराइटिस के लक्षण और उपचार (Symptoms And Treatment Of Arthritis) क्या होते हैं इसको लेकर जागरूकता फैलाने की जरूरत है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
World Arthritis Day 2019: अर्थराइटिस में क्या खाएं और क्या न खाएं, जानें गठिया रोग का घरेलू उपचार

arthritis Diet: गठिया रोग में खट्टी चीजें नुकसानदायक हो सकती हैं.

खास बातें

  1. जानें गठिया रोगी का भोजन क्या होना चाहिए.
  2. जानें अर्थराइटिस में घरेलू उपचार कैसे करें.
  3. गठिया में खट्टी चीजें हो सकती हैं नुकसानदायक.

World Arthritis Day 2019: आज यानि 12 अक्टूबर को वर्ल्ड अर्थराइटिस डे मनाया जाता है. गठिया रोग बुजुर्गों में ही नहीं बल्कि युवाओं में भी बढ़ता जा रहा है. अर्थराइटिस में आहार (Diet In Arthritis) क्या होना चाहिए, अर्थराइटिस की जांच कैसे की जा सकती है, अर्थराइटिस में खानपान (Catering In Arthritis) का ध्यान कैसे रखें साथ ही अर्थराइटिस के लक्षण और उपचार (Symptoms And Treatment Of Arthritis) क्या होते हैं इसको लेकर जागरूकता फैलाने की जरूरत है. गठिया रोग में परहेज करने से ही इससे बचा जा सकता है. कई लोगों को यह नहीं पता होता कि अर्थराइटिस में क्या खाएं (What To Eat In Arthritis) क्योंकि हमारे खानपान से गठिया रोग का खतरा बढ़ सकता है. अगर हम अर्थराइटिस में दर्द की दवा (Pain Medicine In Arthritis) की बात करें तो कई लोग झोलाछाप डॉक्टरों पर यकीन कर लेते हैं जिससे इस रोग के साथ-साथ कई और बीमारियां भी हो सकती हैं. हम यहां आपको बताएंगे कि अर्थराइटिस में क्या खाएं और क्या न खाएं साथ ही आर्थराइटिस के घरेलू उपचार (Arthritis Home Remedies) क्या होते हैं और गठिया में व्यायाम (Exercise In Arthritis) करने से क्या फायदा होता है इन सबके बारे में यहां बताने जा रहे हैं अगर आप भी जानना चाहते हैं आर्थराइटिस के घरेलू उपचार (Arthritis Home Remedies) तो ये लेख सिर्फ आपके लिए है. 

गठिया में क्या खाना चाहिए |  What To Eat In Arthritis

1. प्रोटीन से भरपूर चीजों का करें सेवन:


गठिया रोग में सेम और अन्य फलीदार सब्जियों (बींस), चेरी, मशरूम, ओट्स, चौलाई, संतरा, भूरे चावल, हरी पत्तेदार सब्जियां, मेथी, सोंठ, नाशपाती, गेहूं का अंकुर, सूरजमुखी के बीज, कद्दू, अंडा, (सोया मिल्क, सोया बडी, सोया पनीर, टोफू आदि) पपीता, ब्रोकली, लाल शिमला मिर्च, अजवायन, अनानास, अनार, आडू, अंगूर, आम, एलोवेरा, आंवला, सेब, केला, तरबूज, लहसुन, आलूबुखारा, सूखे आलूबुखारे, ब्लूबेरी और स्ट्रॉबेरी.

2. डेयरी प्रोडक्ट्स देंगे फायदा:

डेयरी पदार्थ जैसे दूध और दूध से बने उत्पाद (दही, पनीर आदि) कैल्शियम का अच्छा स्रोत है इन्हें आप ले सकते है लेकिन बेहतर यह होगा की आप गठिया रोग में दूध-दही भी कम मात्रा में ही लें. कैल्शियम की पूर्ति फलों और सब्जियों से करें.

i98pu1qgArthritis Causes: गठिया रोग में दूध-दही भी कम मात्रा में ही लें

3. यह सब्जियां हैं लाभदायक:

गठिया रोग में फलो और सब्जियों में सहिजन, बथुआ, मेथी, सरसों का साग, ककड़ी, लौकी, तुरई, पत्ता गोभी, परवल, गाजर, अजमोद,आलू, शकरकंद, अदरक, करेला, लहसुन का सेवन करें. गठिया के रोगी को चौलाई की सब्जी भी फायदा करती है.

4. जैतून के तेल का करें उपयोग:

जैतून का तेल, अलसी का तेल, मछली का तेल गठिया रोग में फायदा दे सकता है.

5. खूब पानी पिएं:

गठिया रोग में अधिक पानी युक्त फल जैसे खरबूजा, तरबूज, पपीता, खीरा अधिक खाएं. गठिया रोग में हींग, शहद, अश्वगंधा और हल्दी भी लाभकारी हो सकते हैं.

6. मछली का करें सेवन:

इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो जोड़ो की सूजन को कम करने में मददगार होता है.

गठिया में क्या न खाएं | What Not To Eat In Arthritis 

1. ज्यादा चीनी से बचें:

चीनी की मिठास आपके घुटनों के लिये खराब हो सकती है. इससे वजन बढता है और घुटनों में दर्द पैदा होता है.

2. कैफीन का सेवन न करें:

कैफीन शरीर को डीहाइड्रेट बनाता है जो दर्द को बढा सकता है. साथ ही यह शरीर के जरुरी पोषक तत्‍वों को भी सोख लेती है जिससे और भी दर्द हो सकता है.

3. रेड मीट न खाएं:

जब आपको गठिया हो तब आपको उन खाद्य पदार्थों को खाने से बचना चाहिए जिसमें फॉस्‍फोरस पाया जाता है. क्‍योंकि आपके शरीर में जितना फॉस्‍फोरस रहेगा आप उतना ही कैल्‍शियम हड्डियों से घटाते जाएंगे.

lncmd64oArthritis Symptoms: अर्थराइटिस में रेड मीट का सेवन करने से बचना चाहिए

4. खट्टी चीजों को न कहें:

गठिया रोग में खटाई युक्त चीजें कच्चा आम, इमली, सिरका आदि का सेवन न करें.

गठिया रोग का घरेलू उपचार | Home Remedies For Arthritis 

1. लहसुन दे सकती है फायदा: लहसुन में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होता है, जिससे यह जोड़ों में दर्द और सूजन को कम कर सकता है. इसके अलावा, लहसुन में डायलाइल डाइसल्फाइड नामक तत्व भी होता है, जो एंटीइंफ्लेमेटरी की तरह प्रभावी असर दिखाता है. यह आर्थराइटिस के कारण होने वाले दर्द व सूजन को कम करने और नष्ट कार्टिलेज को ठीक करने का काम कर सकता है.

2. आलू हो सकता है लाभदायक: आलू के रस में विभिन्न प्रकार के खनिज और कार्बनिक नमक मौजूद होता है। इसे पीने से शरीर में जमा यूरिक एसिड बाहर निकल जाता है, जिस कारण आर्थराइटिस से आराम मिलता है.

3. अदरक दिलाएगा राहत: अदरक सूजन को दूर करने के भी काम आ सकता है. यह शरीर में प्रोस्टाग्लैंडीन के स्तर को कम कर आर्थराइटिस से राहत दिला सकता है.

4. सौंठ का सेवन करें: सौंठ का सेवन करने से गठिया के रोग में आराम मिल सकता है. इसे आप किसी भी रूप में खा सकते हैं.

और खबरों के लिए क्लिक करें

टिप्पणियां



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement