NDTV Khabar

किस तरह हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज़ रोकते हैं दिल की समस्याएं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किस तरह हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज़ रोकते हैं दिल की समस्याएं
न्यूयॉर्क: अपने लाइफस्टाइल में रोज़ाना एक्सरसाइज़ शामिल करना बेहद सुखद कार्य माना जाता है। अक्सर आपने लोगों को पार्क में व्यायाम और योग करते देखा ही होगा। कई लोग ऐसा मोटापा कम करने के लिए करते हैं, तो कई पूरे दिन फ्रेश महसूस करने के लिए। कई को ऐसा करने से खुशी का अहसास होता है, तो कई अपने शरीर को तंदरुस्त रखने और बीमारियों की चपेट में न आने की वज़ह से करते हैं। ख़ासकर की महिलाएं दिन भर के काम और ऑफिस की वज़ह से खुद के लिए एक्सरसाइज़ करने का समय ही नहीं निकाल पाती हैं। लेकिन व्यायाम करना उतना ही महत्वपूर्ण कार्य है, जितना कि दिन में तीन आहार लेना।

सिर्फ एक्सरसाइज़ ही नहीं अगर आप अपनी डाइट में संतुलित आहार शामिल कर रहे हैं, तो ऐसा करने से भी आप हेल्दी रह पाते हैं। एक अध्ययन में पाया गया है कि मोटापे से परेशान लोगों में दिल की बीमारियों के खिलाफ लड़ने में संतुलित आहार और व्यायाम से मज़बूत सुरक्षा मिलती है। पत्रिका 'अमेरिकी जरनल ऑफ क्लिीनिकल न्यूट्रिशन' में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, एक स्वस्थ ह्दय पाने के लिए स्वस्थ भोजन और व्यायाम का संयोजन सही तरीका है।

सेंट लुइस यूनिवर्सिटी के सहायक प्रोफेसर, एडवर्ड वीस ने कहा कि "ज़्यादा वज़न वाली महिलाएं और पुरुष, दोनों के शरीर में मामूली वज़न में कमी आने से ह्दय रोगों के मामले में शक्तिशाली सुरक्षा मिलती है। इससे फर्क नहीं पड़ता कि वज़न में कमी कैसे हुई, फिर चाहे ऐसा व्यायाम करने से हुआ या फिर कम कैलोरी वाले आहार लेने से"।

शोध को साबित करने के लिए वीस और उनके दल ने अधिक वज़न वाले मध्यम आयु वर्ग के 52 लोगों को पुरुष और महिला समूहों में विभाजित किया। इन्हें संतुलित आहार, व्यायाम और दोनों से अपने शरीर के वज़न का सात प्रतिशत 12-14 हफ्ते में कम करने को कहा। जिन लोगों ने ख़ासतौर पर आहार लिया और व्यायाम को चुना, उन्हें अपना भोजन 20 फीसदी कम करने और गतिविधि स्तर 20 फीसदी बढ़ाने के लिए कहा गया। वहीं, जिन लोगों ने दोनों कार्य किए, उन्हें 10 फीसदी कम खाने और व्यायाम 10 फीसदी ज़्यादा करने को कहा गया।

टिप्पणियां
इसके बाद शोधकर्ताओं ने विश्लेषण किया कि कैसे यह सभी बदलाव दिल की बीमारियों से व्यक्ति को दूर करने में सक्षम हैं। इसके लिए रक्त दाब, ह्दय की धड़कन और कोलेस्ट्राल स्तर पर नज़र रखी गई। शोधकर्ताओं ने पाया कि तीनों तरीके समान रूप से ह्दय स्वास्थ्य में सुधार लाने में प्रभावकारी हैं। अध्ययन में यह भी सुझाया गया है कि आहार, व्यायाम और दोनों को अपनाने वाले किसी भी व्यक्ति के जीवनकाल में ह्दय रोग में 10 फीसदी तक कमी आ सकती है।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement