Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

अब कमज़ोर मांसपेशियों को मज़बूत करने का इलाज संभव, आइए जानें कैसे...

ईमेल करें
टिप्पणियां
अब कमज़ोर मांसपेशियों को मज़बूत करने का इलाज संभव, आइए जानें कैसे...

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: आज के समय में बड़े बूढ़ों के अलावा कई युवाओं को मांसपेशियों की समस्याएं हो रही हैं। आपको बता दें कि शोधकर्ताओं ने ऐसे जीन प्रमोशन की एक नई तकनीक का खुलासा किया है, जिससे मांसपेशियों में कमजोरी यानी डुशैन मसल डिस्ट्रोफी (डीएमडी) का इलाज किया जा सकता है। डीएमडी नाम की यह बीमारी लड़कों में ज्यादा पाई जाती है, जिसके कारण उनकी मांसपेशियों का विकास नहीं हो पाता है। ऐसे में उन्हें काफी कमज़ोरी भी रहती है।

हालांकि डीएमडी नामक इस बीमारी के पीछे की जेनेटिक खराबी का पता वैज्ञानिकों को 30 साल पहले ही लग गया था, लेकिन इस समस्या को खत्म करने का उपाय अभी तक नहीं मिल पाया था। इस बीमारी में, मांसपेशियों के फाइबर टूटकर फैट टिशू में बदल जाते हैं, जिसके कारण मांसपेशियां धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगती हैं। कई बार लोगों को इसके कारण दिल की बीमारियां भी हो जाती है।
 

युवा चूहों पर किए जा रहे अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने इस बीमारी के स्थाई इलाज के लिए जीन प्रमोशन तकनीक का प्रयोग किया, जिसमें उन्हें सफलता मिली। अमेरिका के टेक्सास यूनिवर्सिटी के साउथ वेस्टर्न मेडिकल सेंटर के वरिष्ठ शोधाकर्ता ऐरिक ऑल्सन ने बताया कि यह बाकी के मेडिकल नियम से अलग है, क्योंकि इसमें हम सीधे बीमारी की जड़ को ख़त्म कर देते हैं।

साल 2014 में ऑल्सन और उनकी टीम ने चूहों को डीएमडी से बचाने के लिए उनके जीन में बदलाव किया था, जिसमें उन्हें सफलता मिली थी। हालांकि, वही इलाज मनुष्यों पर पूरी तरह कारगर साबित नहीं हो पाया था। इसके चलते वैज्ञानिक, मनुष्यों के लिए सही इलाज की तकनीक पर काम कर रहे थे, जिसमें अब जाकर उन्हें सफलता मिली है।

यह शोध साइंस जरनल में प्रकाशित हुआ है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement