NDTV Khabar

मां बनने की सही उम्र का हुआ खुलासा! जानें किस उम्र में मां बनना सही और किसमें गलत

ज्यादा उम्र में मां बनने पर जहां कई समस्याएं सामने आती हैं, तो इसके कई सकारात्मक पहलू भी हैं. 40 की उम्र में माता-पिता बनने वाले लोग अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार, धैर्यवान और आत्मनिर्भर होते हैं.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मां बनने की सही उम्र का हुआ खुलासा! जानें किस उम्र में मां बनना सही और किसमें गलत
ज्यादातर सुनने में आता है कि सही उम्र में मां बन जाना चाहिए. और यह सही उम्र 30 साल से पहले की मानी जाती है. आज की लाइफ में करियर बनाना हर औरत के लिए महत्वपूर्ण है. ऐसे में वह बच्चे और परिवार की जिम्मेदारियों को दूसरे नंबर पर रख देती है. लेकिन यह कितना सही है और कितना गलत यह चर्चा का विषय है. ज्यादातर माएं यही सलाह देती हैं कि ज्यादा उम्र में मां बनने पर महिलाओं को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन डॉक्टर्स की मानें तो 40 या इससे अधिक उम्र में मां बनना गलत विचार नहीं है. 

बढ़ रही है संख्या :
 
pregnant

स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक अमिता शाह का कहना है कि "40 या इससे अधिक की उम्र में मां बनने वाली महिलाओं की संख्या बढ़ रही है. पिछले साल की तुलना में इसमें 20 से 30 फीसदी तक का बढ़ावा हुआ है. इनमें से अधिकतर महिलाएं उच्च मध्यम वर्ग से हैं और करियर उन्मुख हैं."

करियर और शिक्षा है वजह
 
pregnant

अधिक उम्र में मां बनने का चलन अब सिर्फ पश्चिमी देशों तक ही सीमित नहीं रह गया है, बल्कि भारतीय महिलाएं भी इसे अपना रही हैं. महिलाएं केवल करियर और शिक्षा को लेकर ही इस प्रकार के फैसले नहीं ले रही हैं. इसके अलावा सही जीवनसाथी मिलने में देर और अगर मिल भी जाए तो अच्छे रिश्ते या शादी के बाद जीवन में सही प्रकार से बस जाने के बाद ही महिलाएं मां बनने का फैसला करती हैं.

क्या हो सकती हैं परेशानियां
 
pregnant generic

30 के बाद या अधिक उम्र में मां बनने पर गर्भावस्था में कई जोखिम होते हैं. इसमें गर्भपात, उच्च रक्तचाप, गर्भकालीन मधुमेह और कम वजन वाले शिशुओं के जन्म का खतरा अधिक होता है. डॉक्ट र्स का कहना है कि मां बनने के लिए महिलाएं जितनी अधिक देरी करती हैं, उन्हें उतनी ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है. ज्यामदा उम्र में अंडे बनने में समस्याएं, गर्भपात और जन्म से संबंधित परेशानियां अधिक होती हैं. उन्हें आईवीएफ इलाज की जरूरत होती है और 'डोनर एग' इलाज के जरिए अधिक उम्र की महिलाएं गर्भधारण कर पाती हैं.

दोनों पलड़े हैं बराबर
 
pregnant lady baby new born baby

ज्यादा उम्र में मां बनने पर जहां कई समस्याएं सामने आती हैं, तो इसके कई सकारात्मक पहलू भी हैं. 40 की उम्र में माता-पिता बनने वाले लोग अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार, धैर्यवान और आत्मनिर्भर होते हैं. वे अधिक अनुभवी, वित्तीय रूप से सक्षम और अपने करियर में सहज होते हैं. अगर ज्या.दा उम्र में गर्भधारण के कई जैविक नुकसान हैं, तो दूसरी ओर इसके कई सामाजिक लाभ भी हैं. 

इनुपट आईएएनएस से 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement