NDTV Khabar

FIFA WORLD CUP 2018: इंग्‍लैंड के हैरी केन को 'गोल्‍डन बूट', टूर्नामेंट में सर्वाधिक 6 गोल दागे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
FIFA WORLD CUP 2018: इंग्‍लैंड के हैरी केन को 'गोल्‍डन बूट', टूर्नामेंट में सर्वाधिक 6 गोल दागे

इंग्‍लैंड के हैरी केन ने फीफा वर्ल्‍डकप 2018 में सर्वाधिक 6 गोल दागे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. क्रोएशिया को 4-2 से हराकर फ्रांस बना वर्ल्‍डकप चैंपियन
  2. फाइनल में फ्रांस के ग्रीजमैन, पोग्‍बा और एमबापे ने किए गए
  3. फ्रांस के ग्रीजमैन, एमबापे ने टूर्नामेंट में दागे चार-चार गोल
मॉस्‍को:
टिप्पणियां

फ्रांस की टीम बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए फीफा वर्ल्‍डकप 2018 की चैंपियन बन गई है. फ्रांस टीम ने गोलों की बरसात करते हुए खिताबी मुकाबले में क्रोए‍शिया को 4-1 से पराजित किया. फ्रांसीसी टीम की इस जीत में क्रोएशिया के एक आत्‍मघाती गोल का भी योगदान रहा. यह आत्‍मघाती गोल क्रोएिशया के मांडजुकिच के नाम पर रहा. क्रोएशिया के इस आत्‍मघाती गोल की मदद से फ्रांस ने 1-0 की बढ़त हासिल की थी. बाद में फ्रांस टीम के ग्रीजमैन ने 38वें, पोग्‍बा ने 59वें और एमबापे ने 65वें मिनट में गोल दागे. क्रोएशिया के लिए पेरिसिच ने 28वें और मांडजुकिच ने 69वें मिनट में गोल दागे. क्रोएशिया इस मैच में हारी जरूर लेकिन उसने अपनी जुझारू क्षमता से हर किसी को प्रभावित किया. हालांकि पहली बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बनने का उसका सपना पूरा नहीं हो पाया. बेल्जियम की टीम टूर्नामेंट में तीसरे और इंग्‍लैंड की टीम चौथे स्‍थान पर रही. इंग्‍लैंड के लिए सांत्‍वना देने वाली बात केवल यही रही कि उसके कप्‍तान हैरी केन टूर्नामेंट में सबसे ज्‍यादा गोल करने वाले खिलाड़ी रहे. उन्‍होंने 6 गोल के साथ गोल्‍डन बूट हासिल किया. फ्रांस के एमबापे को यंग प्‍लेयर अवार्ड मिला.

 

FIFA WORLD CUP 2018 के बाद रूस के स्टेडियमों के भविष्य पर अनिश्चितता के बादल

हैरी केन ने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 6 गोल दागे. पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्‍डो, रूस के डेनिस चेरिशेव, बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू, फ्रांस के एंटोनियो ग्रीजमैन और इसी देश के काइलियान एमबापे गोल करने के मामले में दूसरे स्‍थान पर रहे. इन सभी खिलाड़‍ियों के खाते में चार-चार गोल रहे.

वीडियो: पहली बार वर्ल्‍डकप के फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

 फ्रांस के 10 नंबर की जर्सी पहनने वाले खिलाड़ी एमबापे ने फाइनल मुकाबले में एक गोल दागा, इसके साथ ही वे वर्ल्‍डकप के फाइनल में गोल बनाने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के फुटबॉलर बने. टूर्नामेंट के फाइनल में सबसे कम उम्र में गोल दागने का रिकॉर्ड 'फुटबॉल के जादूगर' कहे जाने वाले ब्राजील के पेले के नाम पर है जिन्‍होंने 60 वर्ष पहले वर्ष 1958 में यह श्रेय हासिल किया था. पेले ने 1958 के फाइनल में दो गोल दागे थे उस समय उनकी उम्र महज 17 साल थी.एमबापे की उम्र इस समय 19 वर्ष है.




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Tanhaji Box Office Collection Day 17: अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने 17वें दिन मचाया तूफान, बॉक्स ऑफिस पर बनाया रिकॉर्ड

Advertisement