FIFA WORLD CUP 2018: जापान ने कोलंबिया को 2-1 से हराया, ओसाको ने दागा निर्णायक गोल

FIFA WORLD CUP 2018: जापान ने कोलंबिया को 2-1 से हराया, ओसाको ने दागा निर्णायक गोल

जापान ने कोलंबिया पर 2-1 की बेहतरीन जीत हासिल की

खास बातें

  • जापान ने छठे मिनट में कगावा के गोल से बढ़त बनाई
  • कोलंबिया ने क्विंटेरो ने 39वें मिनट में स्‍कोर बराबर किया
  • ओसाको के 73वें मिनट के गोल से जापान ने मैच जीता
सरान्स्क (रूस) :

एशियाई टीम जापान ने फीफा वर्ल्‍डकप 2018 में अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की है. टीम ने आज यहां खेले गए रोमांचक मुकाबले में कोलंबिया को 2-1 से हराते हुए हर किसी को चौका दिया. मैच में जापान के लिए खेल के 6वें मिनट में कागावा और 73वें मिनट में ओसाको ने गोल दागे. दूसरी ओर, कोलंबियाई टीम के लिए एकमात्र गोल खेल के 39वें मिनट में जुआन क्विंटेरो ने किया. हाफटाइम तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थी, लेकिन दूसरे हाफ में ओसाको के गोल से जापान ने 2-1 की बढ़त हासिल कर ली और फिर इसे अंत तक कायम रखा. खेल के शुरुआती क्षणों में ही कोलंबिया के सांचेज को रेड कार्ड मिला जिसके कारण टीम को पूरे मैच में 10 खिलाड़ि‍यों से खेलने को मजबूर होना पड़ा.

FIFA WORLD CUP: इंग्‍लैंड की टीम के लिए लकी चार्म बने विराट कोहली, जानिए कैसे..

मैच की सनसनीखेज शुरुआत हुई. खेल के चौथे ही मिनट में  कोलंबिया के कार्लोस सांचेज ने गेंद को गोल बॉक्‍स के अंदर फाउल किया.फलस्‍वरूप रैफरी ने रेड कार्ड दिखाकर उन्‍हे मैदान से बाहर कर दिया और जापान के पक्ष में पेनल्‍टी दी. यह वर्ल्‍डकप के इतिहास का दूसरा सबसे तेज रेड कार्ड रहा. सांचेज इस वर्ल्‍डकप में रेड कार्ड पाने वाले पहले खिलाड़ी रहे. पेनल्‍टी पर जापान के 10 नंबर की जर्सी पहने कागावा ने गोल करते हुए टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी. यह गोल 6वें मिनट में बना. सांचेज को मिले रेड कार्ड के कारण 10 खिलाड़ियों से खेल रही कोलंबियाई टीम ने 10वं मिन्‍ट में काउंटर अटैक किया लेकिन जापानी गोलकीपर ने खतरा टाल दिया. इसके कुछ ही देर बाद जापान को अपनी बढ़त को 2-0 पर पहुंचाने का मौका मिला था लेकिन कगावा का किक इस बार गोल से बगल से निकल गया.लगातार किए गए हमलों का कोलंबिया का फायदा मिला जब 39वें मिनट में जुआन क्विंटेरो ने फ्रीक्रिक पर बेहतरीन गोल दागकर स्‍कोर 1-1 से बराबरी पर ला दिया. हाफटाइम तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं.पहले हाफ में जापान ने 52 फीसदी मौके पर बॉल पर कब्‍जा रखा जबकि 10 खिलाड़ि‍यों से खेलने के बावजूद कोलंबिया ने 48 फीसदी मौके पर बॉल पर कब्‍जा बनाए रखा.

 

दूसरे हाफ के चौथे मिनट में जापान ने कॉर्नर हासिल किया लेकिन यह कोलंबियाई टीम के लिए खतरा नहीं बन सका. 56वें मिनट में जापान को गोल का एक और मौका मिला लेकिन इसका फायदा नहीं लिया जा सका. कोलंबिया ने 58वें मिनट में एक बदलाव करते हुए अपने गोल स्‍कोरर क्विंटेरो के स्‍थान पर जेम्‍स रोड्रिग्‍ज को मैदान में उतारा. खेल के 63वें मिनट में कोलंबिया को बोरिस को खतरनाक टैकल के लिए रैफरी में येलो कार्ड दिखाया. 73वें मिनट में जापान फिर 2-1 की बढ़त लेने में सफल हो गया. टीम के लिए यह गोल ओसाको ने हेडर से दागा. 2-1 की बढ़त लेने के बाद जापान के हौसले बुलंद हो गए. 77वें मिनट में कोलंबिया के रोड्रिग्‍ज के पास बराबरी का गोल दागने का सुनहरा मौका था लेकिन वे शॉट गोलपोस्‍ट के ऊपर मार बैठे.डिफेंस को मजबूती देने के लिए उसने शिकासाकी के स्‍थान पर 80वें मिनट में यामागुची को मैदान में उतारा.जापान यह मैच 2-1 से जीतने में सफल रहा.

वीडियो: मैक्सिको ने जर्मनी को हराकर किया बड़ा धमाका

गौरतलब है कि वर्ल्‍डकप के करीब ढाई माह पहले होलिलहोदजिच को कोच पद से बर्खास्त करने के बाद जापान फुटबॉल संघ ने पूर्व तकनीकी निदेशक अकिरा निशिनो को कोच बनाया था. 63 वर्षीय कोच निशिनो को जे-लीग में काफी अनुभव है लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर उन्होंने अब तक केवल अंडर-20 और अंडर-23 टीमों के साथ काम किया है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com