दिदिएर ड्रोग्बा बोले, एमबापे कम उम्र में भी हैं बहुत परिपक्व फुटबॉलर

दिदिएर ड्रोग्बा बोले, एमबापे कम उम्र में भी हैं बहुत परिपक्व फुटबॉलर

दिदिएर ड्रोग्बा

खास बातें

  • भारत में क्लब संभाले जाने की खबर को अफवाह बताया
  • भारत में फुटबॉल की बहुत संभावनाएं-ड्रोग्बा
  • फ्रांस के प्रोफेंशनल फुटबॉल लीग (LFP) के ब्रैंड अंबैसडर हैं ड्रोग्बा
पेरिस:

आइवरी कोस्ट और चेल्सी के दिग्गज दिदिएर ड्रोग्बा फ्रांस के फुटबॉल वर्ल्ड चैंपियन किलियान एमबापे पर भरोसा दिखाते हैं तो वो उस कसौटी  पर हमेशा खरा उतरते हैं. फ्रेंच कप के सेमीफाइनल में एमबापे ने अपने गोल से पेरिस सेंट जर्मां यानी PSG को फाइनल में पहुंचाने में अहम रोल अदा किया. फ्रेंच कप फइनल में अब फ्रांस के टॉप क्लब पेरिस सेंट जर्मां की टक्कर रैन (Rennes)से होगी. रिकॉर्ड 12 बार फ्रेंच कप की विजेता पेरिस सेंट जर्मां ने सेमीफ़ाइनल में नैन्टेस को 3-0 से हरा दिया. पेरिस सेंट जर्मां लगातार पांचवीं बार ख़िताब पर कब्ज़ा करना चाहती है. लीग 1 में भी ये क्लब अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी लील से 20 अंक आगे है. इस मैच में PSG की ओर से मार्को वेराति (29'), किलियान एमबापे (85') डानि अलावेस (90+2') ने गोल किए. 

ड्रोग्बा कहते हैं कि 20 साल के एमबापे टैलेंट से भरपूर हैं और चाहें तो दुनिया के किसी क्लब के लिए खेल सकते हैं. ड्रोग्बा ने भारत  में ISLयानी इंडियन सुपर लीग के किसी क्लब के संभाले जाने की उनकी ख़बर को अफ़वाह बताया. भारतीय पत्रकारों से पूछे जाने पर उन्होंने ये ज़रूर कहा, "ये सब बजट पर निर्भर करता है. वहां क्वालिटी है. युवा खिलाड़ियों को तराशकर बेहतर बनाया जा सकता है." उन्होंने ये भी कहा कि भारतीय क्लब को संभालने की बात लुभावनी ज़रूर है. पिछले साल ड्रोग्बा भारत आए तो उनके किसी क्लब के कोच बनाए जाने को लेकर अटकलें लगायीं जा रही थीं.

यह भी पढ़ें: मशहूर कोच जोस मोरिन्हो के फ्रेंच लीग में शामिल होने की अटकलों को यूं मिला बल...

वैसे प्रोफ़ेशनल फ़ुटबॉल लीग (LFP) पुरज़ोर कोशिश में है कि कोई भारतीय निवेशक उन्हें यहां बाज़ार में जगह बनाने में जगह बनाने में  मदद करे. एक भारतीय टायर कंपनी BKT फ़्रांस के कूप दा ला लीग को प्रायोजित तो करती है. लेकिन भारत में ऐसे ही किसी निवेशक  की ज़रूरत समझी जा रही है. BKT के चेयरमैन और डायरेक्टर अरविंद पोद्दार इंडियन प्रीमियर लीग यानी IPL में पैसा लगाने की बात  भी करते हैं और भारत में भी फ्रेंच लीग की मौजूदगी से इंकार नहीं करते. लेकिन भारतीय फुटबॉल में किस तरह पैसा आ सकता है,  इस पर खुलासा नहीं करते. प्रोफेशनल फुटबॉल लीग के CEO दिदिएर कियो कहते हैं,"सवा अरब की आबादी वाले भारत में फुटबॉल  की बहुत संभावनाएं हैं. हम उम्मीद करते हैं कि चीन की तरह ही भारत के भी निवेशक पैसा लगाएंगे. हमारी फुटबॉल की दक्षता और  भारत के टैलेंटे के सहारे ये खेल बहुत आगे जा सकता है."  

VIDEO: पिछले साल फ्रांस ने क्रोएशिया को हराकर वर्ल्ड कप का खिताब जीता था. 

बता दें कि 41 साल के ड्रोग्बा इन दिनों फ्रांस के प्रोफेंशनल फुटबॉल लीग (LFP) के ब्रैंड अंबैसडर हैं. ड्रोग्बा, 2002 के वर्ल्ड चैंपियन एडमिल्सन और 1998 के फ़्रांस के वर्ल्ड चैंपियन योहान योर्कायेफ के साथ 'BKT कूप दा ला लीग' के फ़ाइनल में लील के मैदान पर आए  तो क़रीब 50,000 दर्शक उन्हें देखकर झूमते और नारे लगाते रहे. फ़्रांस में ले मौं (Le Mans),गिगौं (Guingamp)और  मार्सेइ (Marseille) जैसे क्लबों में भी हीरो रहे ड्रोग्बा भारतीय फुटबॉल की बढ़ती संभावनाओं से भी इंकार नहीं करते. 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com