भारतीय दिग्गज फुटबॉलर सुनील छेत्री ने करियर में पूरे किए 15 साल: 10 बड़ी बातें

सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) ने अपने करियर में 15 साल पूरे कर लिए हैं. इस दौरान छेत्री ने भारतीय फुटबॉल (Indian Football) में जो मुकाम हासिल किया है वह असाधारण है

भारतीय दिग्गज फुटबॉलर सुनील छेत्री ने करियर में पूरे किए 15 साल: 10 बड़ी बातें

सुनाल छेत्री से जुड़ी 10 बड़ी बातें

खास बातें

  • सुनील छेत्री ने भारतीय फुटबॉल में पूरे किए पूरे 15 साल
  • सुनील छेत्री भारतीय फुटबॉल में सबसे चर्चित फुटबॉल खिलाड़ी बने
  • वर्तमान फुटबॉलर में सबसे ज्यादा गोल करने वाले दूसरे फुटबॉलर

भारत के दिग्गज फुटबॉलर सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) ने अपने करियर में 15 साल पूरे कर लिए हैं. इस दौरान छेत्री ने भारतीय फुटबॉल (Indian Football) में जो मुकाम हासिल किया है वह असाधारण है. सुनील छेत्री का जन्म 3 अगस्त 1984 को सिकंदराबाद (भारत) में हुआ था. छेत्री भारत के सबसे सफल फुटबॉलर हैं, बाईचुंग भूटिया (Baichung Bhutia) के बाद सबसे ज्यादा ख्याती पाने वाले भारतीय फुटबॉलर के तौर पर जाने जाते हैं. बता दें कि बाईचुंग भूटिया का करियर भी 15 सालों से ज्यादा रहा है, ऐसे में सुनील भारत के दूसरे ऐसे फुटबॉलर रहे हैं जिनका करियर भारतीय फुटबॉल में 15 साल से ज्यादा रहा है. छेत्री का जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ जो आर्मी और फुटबॉल दोनों ही फील्ड से संबंध रखता है. सुनील के माता-पिता नेपाल के रहने वाले थे और बाद में भारत आ गए थे. छेत्री के पिता आर्मी ऑफिसर रह चुके हैं. छेत्री ने अपने परफॉर्मेंस से भारतीय फुटबॉल (Indian Football) का मान विदेशों में बढ़ाया है. ऐसे में जानते हैं सुनील छेत्री के बारे में 10 बड़ी बातें.

सुनील छेत्री की मां और बहन फुटबॉल से जुड़ी हैं

भारतीय फुटबॉल के दिग्गज सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) की मां सुशीला छेत्री और बहन नेपाल महिला राष्ट्रीय टीम के लिए फुटबॉल खेला करती थीं.

पाकिस्तान के खिलाफ किया डेब्यू
सुनील छेत्री ने साल 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ खेलकर अपना डेब्यू भारत के लिए किया था. क्वेटा में खेले गए मैच में छेत्री ने अपने पहले ही मैच में एक गोल किए थे. यह मैच 1-1 से ड्रा रहा था लेकिन भारत को एक महान फुटबॉलर मिल चुका था.

भारत की ओर से सबसे ज्यादा गोल करने वाले फुटबॉलर
सुनील छेत्री भारत की ओर से सबसे ज्यादा गोल करने वाले फुटबॉलर हैं, छेत्री ने अबतक अपने करियर में 72 गोल किए हैं. इंटरनेशनल फुटबॉल करियर में छेत्री वर्तमान फुटबॉलर की लिस्ट में सबसे ज्यादा गोल करने वाले दूसरे फुटबॉलर हैं. क्रिस्टियानो रोनाल्डो (Cristiano Ronaldo) इस मामले में अभी सबसे आगे हैं.

2008 में पहली हैट्रिक
साल 2008 में छेत्री ने एएफसी चैलेंज कप (AFC Challenge Cup) में तजाकिस्तान के खिलाफ करियर में पहली बार हैट्रिक गोल किए थे.

सुनील छेत्री भारत के 4 बड़े क्लब के लिए खेल चुके हैं
सुनील छेत्री भारत के 4 सबसे बड़े फुटबॉल क्लब के लिए भी खेले हैं. मोहन बागान, जेसीटी, ईस्ट बंगाल और डेम्पो क्लब का हिस्सा छेत्री रहे हैं. वहीं भारत का यह दिग्गज फुटबॉलर (UAE) के कैनसस सिटी विजार्ड्स क्लब (Kansas City Wizards) के लिए भी खेलने का गौरव प्राप्त कर चुके हैं.

इस टीम के खिलाफ किए हैं सर्वाधिक गोल
सुनील ने चीनी ताइपी टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा गोल करने का कमाल किया है. उन्होंने अबतक इस टीम के खिलाफ 5 मैच खेले और इस दौरान 6 गोल करने में सफल रहे हैं. अबतक अपने करियर में छेत्री एआईएफएफ फुटबॉलर ऑफ द ईयर (AIFF Footballer of the Year) का खिताब 6 बार जीत चुके हैं.

नेहरू कप में किया कमाल का परफॉर्मेंस
छेत्री ने अबतक नेहरू कप (Nehru Cup) में कुल 14 मैच खेले हैं इस दौरान 9 गोल करने का कमाल कर दिखाया है. नेहरू कप का नाम अब बदलकर इंटरकांटिनेंटल कप (Intercontinental Cup) कर दिया गया है.

12 बार खेल चुके हैं फीफा वर्ल्डकप क्वालीफायर
सुनील छेत्री ने अबतक अपने करियर में 12 बार फीफा वर्ल्डकप क्वालीफायर (FIFA World Cup qualifiers) मैच खेल चुके हैं और इस दौरान 7 गोल करने में सफल रहे हैं.

2011 रहा सबसे शानदार
साल 2011 में सुनील छेत्री का परफॉर्मेंस शानदार रहा. इस पूरे साल छेत्री ने शानदार परफॉर्मेस करते हुए कुल 13 गोल किए थे. इसी साल भारतीय टीम AFC Asian Cup भी खेली थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नेहरू कप में भारत को जीताया
23 साल की उम्र में ही सुनील छेत्री ने 2007 के नेहरू कप में शानदार परफॉर्मेंस कर हर किसी को हैरान कर दिया. फाइनल में भारत में सीरिया को हराया था, टूर्नामेंट में छेत्री ने 4 गोल किए थे.

आईएसएल (ISL) में सबसे ज्यादा गोल करने वाले भारतीय फुटबॉलर
सुनील छेत्री आईएसएल (ISL) में सबसे ज्यादा गोल करने वाले भारतीय फुटबॉल हैं. छेत्री ने अबतक 39 गोल किए हैं. साल 2018 में एशियाई फुटबॉल परिसंघ (Asian Football Confederation) के द्वारा छेत्री को एशियाई आइकन' के तौर पर नामित किया था.