NDTV Khabar

फारुख अब्दुल्ला ने बीजेपी और आरएसएस को दी नसीहत, धार्मिक आधारों पर देश को बांटना घातक

उन्होंने कहा कि धार्मिक आधारों पर देश को बांटने का बढ़ता चलन राष्ट्र हित के लिए घातक है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फारुख अब्दुल्ला ने बीजेपी और आरएसएस को दी नसीहत, धार्मिक आधारों पर देश को बांटना घातक

नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली: नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला   ने भाजपा- राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को 'उन्माद फैलाने और लोगों की भावनाओं का दुरुपयोग करने' से बचने की नसीहत दी है. उन्होंने कहा कि धार्मिक आधारों पर देश को बांटने का बढ़ता चलन राष्ट्र हित के लिए घातक है. अब्दुल्ला ने गुजरात विधानसभा चुनावों को धर्म के आधार पर 'बिगाड़े जाने' पर भी चिंता जाहिर की और कहा कि यह 'भारतीय राजनीति की सबसे दुखद गतिविधि है.' उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर देश को बांटने का बढ़ता चलन राष्ट्र हित के लिए नुकसानदेह है और ऐसी प्रवृत्ति को किसी भी कीमत पर खत्म किया जाना चाहिए.

फ़ारूक अब्दुल्ला ने पीओके पर फिर दिया विवादित बयान, मच गया कोहराम

अब्दुल्ला ने राजनीतिक उद्देश्यों को साधने के लिए 'मंदिर-मस्जिद' जैसे मुद्दों पर लोगों को लड़ाई के लिए 'भड़काने के प्रयासों' की निंदा की. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'भारत किसी खास धर्म के लोगों का नहीं है, बल्कि यह कई रंगों के खूबसूरत फूलों का एक गुलदस्ता है. धर्मनिरपेक्ष देश में सभी धर्म को मानने वाले लोगों के पास समान अधिकार हैं.'

टिप्पणियां
वीडियो : पहले भी फारुख के निशाने पर रह चुके हैं पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि मौजूदा  'विद्वेषपूर्ण माहौल' में नेशनल कॉन्फ्रेंस को धर्मनिरपेक्षता के ध्वज को ऊंचा रखने में चुनौतीपूर्ण भूमिका निभानी है.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement