NDTV Khabar

क्या वाकई गुजरात में कांटे की टक्कर है? नतीजों पर सबकी नजरें

नोटबंदी, जीएसटी और पाटीदार आंदोलन पर सख्ती से नाराज पटेलों के चलते कांग्रेस को जीत की उम्मीद थी, लेकिन एग्जिट पोल बीजेपी को बहुमत का अनुमान लगा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या वाकई गुजरात में कांटे की टक्कर है? नतीजों पर सबकी नजरें

गुजरात में दो चरणों में हुए चुनाव के नतीजे सोमवार को आएंगे.

खास बातें

  1. गुजरात में बहुमत का आंकड़ा 92 सीटों का
  2. 2012 में बीजेपी ने ज्यादातर सीटें बड़े अंतर से जीती थी
  3. सभी एग्जिट पोल के अनुसार इस बार भी बीजेपी को बहुमत के आसार
नई दिल्ली: गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों की मतगणना सोमवार सुबह 8 बजे शुरू हो जाएगी. जहां तमाम सर्वे दावा कर रहे हैं कि गुजरात और हिमाचल में बीजेपी सरकार बनाने जा रही है, वहीं कांग्रेस भी अपनी उम्मीद नहीं छोड़ी रही है. हिमाचल से लेकर गुजरात तक के सर्वे जो भी कह रहे हों, कांग्रेस का दावा है कि सरकार उसी की बनेगी. बात अगर गुजरात की करें तो यहां चुनाव का पूरा प्रचार दिलचस्प रहा. 22 साल में पहली बार कांग्रेस तैयारी के साथ दमखम से लड़ती नजर आई. कड़वाहट भरी बयानबाजी हुई और आखिर तक दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर आचार संहिता तोड़ने का आरोप लगाती रहीं. नोटबंदी, जीएसटी और पाटीदार आंदोलन पर सख्ती से नाराज पटेलों के चलते कांग्रेस को जीत की उम्मीद थी, लेकिन एग्जिट पोल बीजेपी को बहुमत का अनुमान लगा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : अगर एग्जिट पोल सही साबित हुए तो गुजरात में बीजेपी की जीत के ये होंगे 5 बड़े कारण

NDTV के सीनियर एडवाइजर आईपी वाजपेयी ने आंकड़ों का विश्लेषण कर बताया है कि गुजरात बीजेपी का गढ़ क्यों है. बीजेपी ने कई सीटों पर अपनी पकड़ बनाए रखी है. पिछले 3 चुनावों में बीजेपी ने लगातार 62 सीटें जीतीं, जबकि पिछले 2 चुनावों में 79 सीटें ऐसी हैं, जिसमें बीजेपी लगातार जीती. यानी जिस राज्य में बीजेपी ने पिछले तीन चुनाव में 62 और पिछले 2 चुनाव में 79 सीटें जीती हों, उसे 92 सीटों के बहुमत के आंकड़े को पाना मुश्किल नहीं है.

यह भी पढे़ं : कांग्रेस गुजरात जीते या हारे, मगर बीजेपी को राहुल गांधी से ये 5 बातें जरूर सीखनी चाहिए

अब बात जीत के अंतर की यानी पिछले चुनाव में बीजेपी ने कितने प्रतिशत वोटों के अंतर से सीटें जीतीं. 2012 के चुनाव में जीत के अंतर पर नजर डालें तो 5 फीसदी से कम के अंतर में बीजेपी को 22, कांग्रेस को 26 और अन्य को 2 सीटें मिलीं. 5 से 10 फीसदी के अंतर से बीजेपी ने 19 तो कांग्रेस ने 14 सीटें जीतीं, जबकि 10 फीसदी से ज्यादा के अंतर से बीजेपी ने 74 सीटें जीतीं. कांग्रेस को 21 सीटें मिलीं. यानी बीजेपी ने जो 115 सीटें जीतीं थीं, उनमें से 74 सीटों पर जीत का अंतर 10 फीसदी से भी अधिक था.

टिप्पणियां
VIDEO : हमलोग : गुजरात में बीजेपी का गढ़ कितना सुरक्षित?


ये बताता है कि गुजरात क्यों बीजेपी का गढ़ है? वहां बीजेपी कितनी मजबूत है?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement