NDTV Khabar

गुजरात चुनाव : 'जनेऊधारण' से लेकर 'नीच' वाले बयानों का कितना रहा असर, सूरत में क्या इसीलिए साफ हो गई कांग्रेस

एक और जहां राहुल गांधी का सोमनाथ दौरा विवादों में घिर गया तो मणिशंकर अय्यर का 'नीच' वाले बयान को पीएम मोदी ने अपनी चुनावी रैली में मुद्दा बना दिया.

193 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात चुनाव : 'जनेऊधारण' से लेकर 'नीच' वाले बयानों का कितना रहा असर, सूरत में क्या इसीलिए साफ हो गई कांग्रेस

फाइल फोटो

खास बातें

  1. सूरत में कांग्रेंस को मिली एक सिर्फ एक सीट
  2. सूरत की रैली में नीच वाले बयान को पीएम ने बनाया था मुद्दा
  3. नोटबंदी और जीएसटी पर सूरत के व्यापारी थे नाराज
अहमदाबाद: गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान कई मुद्दे ऐसे रहे जो पूरे चुनाव का एजेंडा बन गए थे. विकास के मुद्दे पर शुरू हुआ चुनाव प्रचार जातिवादी समीकरणों से होते हुए 'जनेऊजाल; और 'नीच' जैसे बयानों के बीच फंस गया. एक और जहां राहुल गांधी का सोमनाथ दौरा विवादों में घिर गया तो मणिशंकर अय्यर का 'नीच' वाले बयान को पीएम मोदी ने अपनी चुनावी रैली में मुद्दा बना दिया. लेकिन इन मुद्दों का कितना असर पड़ा यह भी देखने वाली बात है.

गुजरात में बीजेपी का फिर से सत्ता में आना बड़ी बात नहीं, कांग्रेस असली विजेता : शिवसेना

'नीच' वाला बयान
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के लिए एक बयान में नीच शब्द का इस्तेमाल किया था. हालांकि कांग्रेस ने तुरंत ही अय्यर को प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया लेकिन सूरत की रैली में पीएम मोदी ने अय्यर के इस बयान को गुजराती अस्मिता से जोड़ दिया. सूरत में कांग्रेस जीएसटी और नोटबंदी से व्यापारियों के गुस्से को भुनाना चाहती थी लेकिन बीजेपी ने यहां पर 15 से 16 सीटें जीत ली हैं. दरअसल सूरत ही वह इलाका है जो बीजेपी के लिए गेमचेंजर के लिए साबित हुआ. इसमें एक और बात निकलकर सामने आती है कि क्या आर्थिक नुकसान का असर भावनात्मक मुद्दों के आगे कम हो जाता है.

गुजरात चुनाव : हिले-हिले से मेरे सरकार नजर आते हैं!

राहुल गांधी का 'जनेऊधारी' अवतार
राहुल गांधी का सोमनाथ मंदिर दौरा विवादों में घिर गया था. बीजेपी ने गैर-हिंदू वाले रजिस्टर में राहुल के हस्ताक्षरों मुद्दा बना दिया. इस पर कांग्रेस सकते में आ गई और उसको राहुल गांधी की जनेऊधारी वाली फोटो जारी करनी पड़ गई. बात करें यहां के नतीजों की तो सोमनाथ जिले की चारो सीटों को कांग्रेस जीत गई. 

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 : राज्‍य सरकार के पांच मंत्री भी नहीं बचा सके अपनी कुर्सी

टिप्पणियां
'सूटबूट वाली सरकार'
पोरबंदर में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को सूटबूट वाली सरकार कहा था. पोरबंदर मछुआरों का इलाका है. नोटबंदी से यहां के लोग काफी नाराज थे. बात करें नतीजों की तो यहां पर कांग्रेस को फायदा हुआ है और उसे 9 में से 5 सीटें मिली हैं जबकि दो सीटें बीजेपी के पास आई हैं. 

वीडियो : हार में भी क्यों जीत देख रही है कांग्रेस

'इंदिरा बेन ने बदबू से मुंह ढक लिया था'
पीएम मोदी ने मोरबी में आई बाढ़ का जिक्र करते हुए था कि इंदिरा बेन यहां पर लाशें देखकर मुंह ढक लिया था. बात करें यहां के नतीजों को तो मोरबी की 3 सीटों में से एक ही सीट बीजेपी को मिली.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement