NDTV Khabar
होम | गुजरात विधानसभा चुनाव 2017

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017

  • Assembly Election Results 2017: हिमाचल में खिलेगा कमल और गुजरात में मोदी लहर? 10 बातें
    हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती 8 बजे से शुरू होगी. आज ये साफ हो जाएगा कि हिमाचल और गुजरात के गढ़ में कौन सी पार्टी परचम लहराने में कामयाब होती है. हिमाचल में जहां 62 सीटों के लिए 337 उम्‍मीदवारों के भाग्‍य का फैसला होगा, वहीं गुजरात में 1828 उम्मीदवारों का भाग्य दांव पर है. वोटों की गिनती शुरू होते ही शुरुआती रुझानों और परिणामों से तस्वीरें साफ होने लगेंगी. गुजरात चुनाव को 2019 के फाइनल से पहले सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा है. तो चलिए जानते हैं नतीजों से पहले हिमाचल और गुजरात चुनाव के बारे में 10 बड़ी बातें.
  • चुनाव आयोग ने राहुल गांधी को भेजा नोटिस लिया वापस, कांग्रेस ने पूछा- तो क्या यह महज एक साजिश थी
    चुनाव आयोग ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को दिया नोटिस वापस ले लिया है. चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर एक बार फिर से सवाल उठाए हैं.
  • कांग्रेस का दावा, गुजरात में एग्जिट पोल के नतीजे पलट जाएंगे
    गुजरात में राहुल गांधी के चुनाव प्रचार करने से अपनी जीत को लेकर आश्वस्त कांग्रेस ने रविवार को कहा कि एग्जिट पोल के नतीजे पलट जाएंगे और पार्टी राज्य में विजेता बनकर उभरेगी. चुनाव नतीजों की घोषणा की पूर्व संध्या पर कांग्रेस नेताओं ने राहुल के गुजरात चुनाव प्रचार की रविवार को सराहना की और कहा कि उनकी मुद्दा आधारित रणनीति सोमवार को मतगणना होने पर पार्टी के लिए सकारात्मक नतीजे लेकर आएगी.
  • गुजरात में भाजपा की बड़ी जीत होगी, मोदी को हराने का दम देश के किसी नेता में नहीं : अमर सिंह
    कभी समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने दावा किया कि गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा की बड़ी जीत होगी.
  • गुजरात चुनाव परिणाम 2017 Live: गुजरात में एक बार फिर बीजेपी सरकार, बहुमत किया हासिल
    गुजरात चुनाव परिणाम में पीएम मोदी का मैजिक चलता नजर आ रहा है. रुझानों में बीजेपी ने बहुमत के आंकड़ें को पार कर लिया है. वहीं 100 से ज्‍यादा सीटों पर आगे चल रहे हैं. गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने राजकोट पश्चिम से चुनाव जीत लिया है.
  • टीवी चैनलों को दिए गए इंटरव्‍यू को लेकर राहुल गांधी को दिया नोटिस चुनाव आयोग ने लिया वापस
    चुनाव आयोग ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को दिया नोटिस वापस ले लिया है. राहुल गांधी को चुनाव आयोग ने पिछले 13 दिसम्बर को नोटिस जारी किया था जिसमें गुजरात में दूसरे चरण की वोटिंग से पहले टीवी चैनलों को दिए गये इंटरव्यू को लेकर आपत्ति जताई गई थी.
  • क्या वाकई गुजरात में कांटे की टक्कर है? नतीजों पर सबकी नजरें
    गुजरात में 22 साल में पहली बार कांग्रेस तैयारी के साथ दमखम से लड़ती नजर आई. कड़वाहट भरी बयानबाजी हुई और आखिर तक दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर आचार संहिता तोड़ने का आरोप लगाती रहीं.
  • गुजरात चुनाव परिणाम के बारे में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया यह बयान
    गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आने में अब कुछ ही घंटे शेष हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को भरोसा है कि गुजरात विधानसभा के चुनाव नतीजे कांग्रेस के पक्ष में होंगे, क्योंकि वहां की जनता बदलाव चाहती है. 
  • हैकिंग की शिकायत के बाद सूरत में रखी गई EVM के आसपास वाई-फाई पर रोक - 10 खास बातें
    गुजरात की कामरेज विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार की तरफ से विधानसभा चुनावों में इस्तेमाल की गई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की संभावित हैकिंग एवं उससे छेड़छाड़ की शिकायत करने के बाद एक स्थानीय कॉलेज में वाई-फाई सेवा रविवार को रोक दी गई. ईवीएम इसी कॉलेज में रखी हुई हैं. कांग्रेस उम्मीदवार अशोक जरीवाला की शिकायत के बाद अठवा लाइंस इलाके में स्थित गांधी इंजीनियरिंग कॉलेज के परिसर में वाई-फाई सेवा रोकी गई है.
  • पूर्ण बहुमत को भूल जाइए, पार्टी को सरकार बनाने तक के लिए पर्याप्त सीटें नहीं मिलेंगी : राज्‍यसभा सांसद
    ज्यादातर एग्जिट पोल में गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा के जीत हासिल करने की संभावना जताए जाने के बीच राज्‍यसभा में भाजपा समर्थित निर्दलीय सांसद संजय काकड़े ने दावा किया कि बीजेपी राज्य में अगली सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीटें नहीं जीतेगी.
  • गुजरात में छह मतदान केंद्रों पर दोबारा मतदान, 70 फीसदी पड़े वोट
    गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग की शनिवार को की गई घोषणा के मद्देनजर गुजरात में चार विधानसभा क्षेत्रों के छह मतदान केंद्रों पर आज फिर से मतदान कराया जाएगा. वीरमगाम में दो और सावली में दो तथा वडगाम और दास्करोई क्षेत्रों की एक-एक मतदान केंद्र पर फिर से मतदान होगा.
  • अगर गुजरात में कांग्रेस एक बार फिर से हारी तो इसके पीछे होंगे ये 5 बड़े कारण
    लाख कोशिशों के बाद कांग्रेस गुजरात में 22 साल बाद भी सरकार बनाने में नाकामयाब दिख रही है, बशर्ते 18 दिसंबर को कोई चमत्कार न हो. गुजरात चुनाव के पूरे घटनाक्रम को देखें तो गुजरात में बीजेपी जीत नहीं रही है, बल्कि कांग्रेस हार रही है. यानी कि कांग्रेस के पास 22 साल के सरकार विरोधी लहर को भुनाने का जबरदस्त मौका था, मगर कुछ वजहों से वो ऐसा करने में सफल नहीं हो पाई. एग्जिट पोल्स ने गुजरात में कांग्रेस के हार की पटकथा लिख दी है. इसलिए अब सभी उसके कारणों की तलाश में जुट गये होंगे. तो चलिए जानते हैं कि आखिर कांग्रेस गुजरात चुनाव में जीत का परचम नहीं लहरा पा रही है तो इसके पीछे कौन-कौन से कारण होंगे. 
  • अगर एग्जिट पोल सही साबित हुए तो गुजरात में बीजेपी की जीत के ये होंगे 5 बड़े कारण
    एग्जिट पोल की भविष्यवाणी में कितना दम है इसका फैसला 18 दिसंबर को वोटों की गिनती के बाद ही होगा. मगर जिस तरह से तमाम न्यूज चैनलों और एजेंसियों ने गुजरात में भाजपा को बढ़त दी है, उससे ये साफ नजर आने लगा है कि अगर कोई हैरान करने वाला वाकया नहीं होता है, तो भारतीय जनता पार्टी गुजरात में पिछले 22 सालों की सत्ता को एक बार फिर से बचाने में कामयाब हो जाएगी. गुजरात में अगर बीजेपी सच में सरकार बनाती है तो इसकी एक वजह नहीं, बल्कि कई वजहें होंगी. इस बार सिर्फ मोदी मैजिक ही नहीं चला है, बल्कि ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिसे भुनाने में बीजेपी कामयाब हो गई है. 
  • गुजरात चुनाव : चुनाव आयोग ने दिया आदेश, 6 मतदान केंद्रों पर रविवार को दोबारा होगा चुनाव
    निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया कि कहा है कि आयोग के निर्देशानुसार वीवीपीएटी के माध्यम से मतगणना होगा.
  • राहुल गांधी ने संभाली कांग्रेस की कमान, प्रियंका के राजनीति में आने की चर्चा, 10 बड़ी बातें
    राहुल गांधी आज देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस की कमान संभाल लिया है. उनको इस पद के लिए निर्विरोध चुना गया था. राहुल गांधी ने 4 दिसंबर को इस पद के चुनाव में नामांकन किया था. राहुल के पक्ष में 86 लोगों ने प्रस्ताव किया था और 11 दिसंबर को उनके निर्विरोध चुने जाने की घोषणा की गई. राहुल की ताजपोशी की सबसे खास बात यह है कि उनको अध्यक्ष बनाने का फैसला ऐसे समय लिया गया था जब वह गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए अहम लड़ाई लड़ रहे थे. कांग्रेस में यह फैसला क्यों किया गया, इसको लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं. वैसे भी एग्जिट पोल के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में नही हैं.
  • गुजरात चुनाव 2017 : जानिए चुनाव की तारीख, नतीजे, कार्यक्रम और कुछ सवालों के जवाब
    गुजरात विधानसभा चुनाव के सभी चरणों का मतदान संपन्न हो चुका है. अब बस इंतजार है नतीजे की जिसकी तारीख 18 दिसंबर निर्धारित है. गुजरात चुनाव का प्रचार अभियान 12 दिसंबर को खत्म हुआ. पीएम मोदी के गृह राज्य में बीजेपी और कांग्रेस के बीच में जबरदस्त राजनीतिक टक्कर देखने को मिली. हालांकि, अब संभावनाएं जताई जा रही हैं कि राज्य में बीजेपी फिर से सरकार बनाने में कामयाब हो जाएगी. कांग्रेस जहां राज्य में बीजेपी के विजय रथ को रोकना चाहती है, वहीं बीजेपी विजय अभियान जारी रखना चाहती है. बता दें कि गुजरात में पिछले 22 सालों से बीजेपी की सरकार है. इस चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने जातिय समीकरण को साधने की कोशिश की है. गुजरात चुनाव के मैदान में कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने काफी सोच-समझ कर अपने उम्मीदवारों को उतारा था. 2002 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 40 फीसदी वोट मिले थे, वहीं 2007 और 2012 के गुजरात चुनाव में 49 फीसदी वोट मिले थे. राजनीतज्ञों की मानें तो इस चुनाव में कांग्रेस के लिए महज 4-5 फीसदी का इधर-उधर गेम चेंजर साबित हो सकता है. 
  • गुजरात चुनाव : एक्जिट पोल पर सुशील मोदी और शिवानंद तिवारी के बीच बयानबाजी का दंगल
    गुजरात चुनाव पर एग्जिट पोल भाजपा के पक्ष में क्या आया बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि गुजरात में पाकिस्तान समर्थकों की हार हो रही है. मोदी ने राजद और कांग्रेस पर भी आरोप लगाए. इसके जवाब में राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने सुशील मोदी को कांग्रेस शासनकाल की याद दिलाई.
  • क्या सच में गुजरात चुनाव ने पीएम मोदी का कद छोटा कर दिया, ये हैं 6 कारण
    न्यूज चैनलों और एजेंसियों द्वारा जारी एग्जिट पोल ने ये संकेत दे दिये हैं कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश भवगा रंग में रंगने को तैयार है. हालांकि, पूरी तस्वीर तो 18 दिसंबर को ही साफ होगी, जब दोनों राज्यों का जनादेश सामने आएगा. गुजरात पीएम मोदी का गृह राज्य है और 22 सालों से यहां बीजेपी की सरकार रही है. यही वजह है कि इस चुनाव को बीजेपी और पीएम मोदी की प्रतिष्ठा की नजर से देखा जा रहा है.
  • तत्काल तीन तलाक अवैध, विराट-अनुष्का की हनीमून पिक और रहाणे के पिता गिरफ्तार, दिन भर की 5 बड़ी खबरें
    मोदी कैबिनेट ने तत्काल तीन तलाक को गैर कानूनी कर दिया है. इसके लिए मोदी कैबिनेट ने मुस्लिम महिला बिल यानी ट्रिपल तलाक बिल को मंजूरी दे दी है और इसके तहत तीन साल की जेल होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की उस याचिका को ठुकरा दिया है, जिसमें कांग्रेस ने मांग की थी, कि 25 फीसदी वीवीपीएटी पर्चियों के सत्यापन हों. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात काउंटिंग में दखल देने से इनकार कर दिया.
  • कांग्रेस की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज, गुजरात काउंटिंग में दखल देने से किया इनकार
    गुजरात कांग्रेस के मोहम्मद आरिफ राजपूत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके मांग की थी कि चुनाव आयोग 50 हजार ईवीएम मशीनें वीवीपीएटी से जुड़ी हैं मगर वो एक बूथ एक मशीन पर ही पेपर ट्रेल से जांच कर रहा है. कांग्रेस ने याचिका में कहा था कि चुनाव आयोग को ये निर्देश दिया जाए कि 20 फीसदी मशीनें की गणना को वीवीपीएटी के पेपर ट्रेल से मिलान कराया जाए.
«123456789»

Advertisement