NDTV Khabar

गुजरात चुनाव में राम मंदिर बना बड़ा मुद्दा, पीएम मोदी ने कांग्रेस पर कसा तंज, वक्फ बोर्ड को सराहा

पीएम मोदी ने कहा कि जब हिंदू पक्ष, शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड भी जल्द समाधान के पक्ष में हैं, तो फिर कपिल सिब्बल रोड़े क्यों अटका रहे हैं?

2.2K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात चुनाव में राम मंदिर बना बड़ा मुद्दा, पीएम मोदी ने कांग्रेस पर कसा तंज, वक्फ बोर्ड को सराहा

पीएम मोदी ने अयोध्या मामले में सुनवाई टालने की मांग को लेकर कपिल सिब्बल को निशाने पर लिया

खास बातें

  1. पीएम मोदी के भाषणों में अयोध्या विवाद का जिक्र
  2. कौन लड़ रहा है चुनाव, सुन्नी वक्फ बोर्ड या कांग्रेस?: पीएम
  3. 'चुनाव के नाम पर सुनवाई टालना चाहती है कांग्रेस?'
अहमदाबाद: राम मंदिर का मुद्दा अब गुजरात चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. अयोध्या विवाद की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल की मांग पर पीएम मोदी ने गुजरात की सभा में जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जब हिंदू पक्ष, शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड भी जल्द समाधान के पक्ष में हैं, तो फिर कपिल सिब्बल रोड़े क्यों अटका रहे हैं? साथ ही पीएम मोदी ने ये भी पूछा कि 2019 लोकसभा चुनाव से अयोध्या केस कैसे जुड़ा? पीएम मोदी ने शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड की तारीफ भी की. उन्होंने कांग्रेस से पूछा, 'क्या वक्फ बोर्ड चुनाव लड़ता है? क्या चुनाव के लिए सुनवाई टालने के विचार वक्फ बोर्ड के हैं? देश में कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ रही है. आप चुनाव में राजनीतिक लाभ-हानि के लिए मामले को उलझाए रखना चाहते हैं?' उन्होंने कहा कि देश में हर छह महीने में कहीं ना कहीं चुनाव होता है. पीएम मोदी ने कहा, 'हर चीज को राजनीतिक नफा-नुकसान के नजरिये से देखने के रुख से देश का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है.'

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी ने बताया, SC में ट्रिपल तलाक की सुनवाई के दौरान वह क्‍यों थे खामोश

पीएम नरेंद्र मोदी का ये बयान बताता है कि राम मंदिर का मुद्दा अब गुजरात चुनावों में हावी हो गया है. कुछ दिन पहले तक चर्चा में रहे विकास और आरक्षण जैसे मसले अब हाशिए पर हैं. वहीं गुजरात में सॉफ्ट हिंदुत्व से शुरुआत करने के बाद जनेऊ के मसले पर सफाई दे चुकी कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी वोटों के ध्रुवीकरण पर उतर चुकी है.

VIDEO : पीएम मोदी ने कपिल सिब्बल पर किया वार दूसरी तरफ अपनी दलील से बीजेपी के निशाने पर आए कपिल सिब्बल ने इस बात की सफाई दी है कि अयोध्या विवाद मामले में वे हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी के वकील के तौर पर पेश हुए थे, ना कि सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement