NDTV Khabar

शंकर सिंह वाघेला ने कहा, गुजरात में कांग्रेस जीत सकती थी लेकिन...

गुजरात में दो मुख्य राजनैतिक दलों का नेतृत्व कर चुके पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने कहा है कि कांग्रेस जानबूझकर भाजपा से हार रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शंकर सिंह वाघेला ने कहा, गुजरात में कांग्रेस जीत सकती थी लेकिन...

शंकर सिंह वाघेला की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. यह कांग्रेस के लिए चुनाव जीतने का सर्वश्रेष्ठ मौका हो सकता था : वाघेला
  2. 'कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व में कुछ नेता पार्टी की जीत नहीं चाहते'
  3. 'हार्दिक पटेल जैसे लोग चुनाव खत्म होने के बाद इतिहास बन जाएंगे'
गांधीनगर: गुजरात में दो मुख्य राजनैतिक दलों का नेतृत्व कर चुके पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने कहा है कि कांग्रेस जानबूझकर भाजपा से हार रही है. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा को विधानसभा चुनावों में बहुमत मिलेगा. इस साल कांग्रेस छोड़ने वाले वाघेला का मानना है कि मुख्य विपक्षी पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने विधानसभा चुनाव हारने के लिए भाजपा से 'सुपारी' ली है. छह बार के सांसद वाघेला ने चुनाव से कुछ महीने पहले अपना संगठन जन विकल्प मोर्चा बनाने के लिए कांग्रेस छोड़ी थी. उन्होंने दावा किया कि पाटीदार नेता हार्दिक पटेल इस चुनाव के बाद 'इतिहास' बन जाएंगे.

यह भी पढ़ें : शंकर सिंह वाघेला ने जय शाह के कारोबारी सौदों की जांच की मांग की

वाघेला अलग-अलग समय में राज्य में कांग्रेस और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं. उन्होंने पीटीआई-भाषा के साथ साक्षात्कार में कहा, 'उनके (हार्दिक पटेल) जैसे लोग सिर्फ अपने हितों की पूर्ति करते हैं. आप देखेंगे कि एक बार चुनाव समाप्त हो जाने के बाद वह इतिहास बन जाएंगे.' तीन दशक से अधिक समय से प्रदेश की राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने वाले 77-वर्षीय वाघेला ने कहा कि अगर कांग्रेस ने पहले से इसकी तैयारी शुरू कर दी होती, तो वह चुनाव जीत सकती थी.

यह भी पढ़ें : अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा को नोटबंदी, जीएसटी का असर गुजरात चुनाव के नतीजों में दिखेगा

उन्होंने कहा, 'भाजपा का गुजरात में मजबूत संगठन है और पार्टी कार्यकर्ताओं का बड़ा आधार है. अगर आपको उन्हें चुनौती देनी है, तो आपको चुनाव से कम से कम छह महीने पहले जमीनी काम शुरू करने की आवश्यकता है.' वाघेला ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी से कहा था कि पार्टी 90 से अधिक सीटें जीत सकती है और सरकार बनाने में सक्षम हो सकती है. वाघेला 1996 से 1997 के बीच राज्य के मुख्यमंत्री रहे. वाघेला ने कहा, 'मैंने उन्हें (राहुल गांधी को) यह भी स्पष्ट किया कि मैं मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता हूं. उन्होंने भी मुझे आश्वस्त किया कि वह दिल्ली में मेरे मित्र हैं और राज्य में पार्टी को चलाने में मेरी मदद करेंगे.' उन्होंने दावा किया कि पार्टी आला कमान में कुछ नेता नहीं चाहते हैं कि पार्टी चुनाव जीते.

यह भी पढ़ें : गुजरात चुनाव : भाजपा ने किया दावा, हम 150 से अधिक सीटें जीतेंगे

उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व में नेताओं ने गुजरात में चुनाव हारने के लिए भाजपा से सुपारी ली है. वे चुनाव जीत सकते थे.' उन्होंने दावा किया कि भाजपा 110 से अधिक सीटें हासिल करेगी और राज्य में सरकार बनाएगी. उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस के लिए चुनाव जीतने का सर्वश्रेष्ठ अवसर हो सकता था, क्योंकि लोग मौके की तलाश कर रहे थे. वाघेला ने कहा, 'भाजपा राजनैतिक प्रबंधन में बेहद शातिर है और कांग्रेस ने जमीनी कार्य नहीं करके उस तथ्य की अनदेखी की.'

टिप्पणियां
VIDEO : 'जो पार्टी करेगी विकास, उसे ही मिलेगा वोट'
वाघेला ने भाजपा में जाने की संभावना से भी इनकार किया. उन्होंने कहा, 'पार्टी ने मेरे बेटे को टिकट की पेशकश की थी, लेकिन उसने इसे ठुकरा दिया, इसलिए कोई सवाल ही नहीं है.' उन्होंने कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे. वह राजनीति और सार्वजनिक जीवन में बने रहेंगे.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement