NDTV Khabar

गुजरात में घोड़ी पर सवार दलित दूल्हे की बारात को रोका 

गुजरात में उच्च जाति के कुछ लोगों ने दलित दूल्हे के घोड़ी पर सवार होने को लेकर आपत्ति जताते हुए बारात को कुछ घंटे तक रोक दिया. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात में घोड़ी पर सवार दलित दूल्हे की बारात को रोका 

बाद में पुलिस सुरक्षा में बारात निकली और किसी तरह की झड़प या अप्रिय घटना नहीं हुई.

खास बातें

  1. गांधीनगर के मनसा तालुका के परसा गांव में हुई घटना
  2. पुलिस के मुताबिक उच्च जाति के कुछ लोगों ने दलित दूल्हे को रोका
  3. बाद में पुलिस सुरक्षा में निकली बारात
अहमदाबाद : गुजरात में उच्च जाति के कुछ लोगों ने दलित दूल्हे के घोड़ी पर सवार होने को लेकर आपत्ति जताते हुए बारात को कुछ घंटे तक रोक दिया. पुलिस ने बताया कि यह घटना आज गांधीनगर के मनसा तालुका के परसा गांव में हुई. मनसा थाने के निरीक्षक पीजी पटेल ने बताया कि, ‘चार - पांच लोगों ने बारात के दौरान दलित दूल्हे को घोड़ी पर नहीं चढ़ने दिया. पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और अपराध शाखा के कर्मियों की टीम मौके पर पहुंची और हालात पर नियंत्रण पाया’. उन्होंने कहा कि पुलिस टीम के पहुंचने पर बारात को रोक रहे चार - पांच लोगों का समूह वहां से भाग गया. पटेल ने बताया, ‘आखिरकार, पुलिस सुरक्षा में बारात निकली. किसी तरह की झड़प या अप्रिय घटना नहीं हुई. शांति से शादी संपन्न हो गई’. उन्होंने कहा कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है. 

यह भी पढ़ें : हरियाणा : दलित दूल्हे को घोड़ा बग्गी पर बैठने से रोका, गांव में तनाव

आपको बता दें कि पिछले दिनों ही हरियाणा के भूस्थाला गांव में भी इसी तरह के एक मामले को लेकर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी. कथित तौर पर ऊंची जाति के कुछ लोगों ने एक दलित दूल्हे को उसकी बारात में उसे घोड़ा बग्गी पर चढ़ने से रोक दिया और बाराती और पुलिस दल पर पथराव किया. कुरुक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक सिमरदीप सिंह ने कहा, 'ऊंची जाति के लोगों ने शनिवार रात कुरुक्षेत्र के भूस्थाला गांव में एक दलित दूल्हे को उसकी बारात में उसे घोड़ा बग्गी पर चढ़ने से रोक दिया. इससे दोनों समुदायों में तनाव उत्पन्न हो गया।' उन्होंने कहा कि पुलिस के एक दल को मौके पर भेजा गया और जिसने दूल्हे को घुड़चढ़ी की रस्म करने में मदद की. हालांकि इससे ऊंची जाति के लोग नाराज हो गए और पुलिसकर्मियों और दूल्हे के रिश्तेदारों पर पथराव शुरू कर दिया. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वे लोग नहीं चाहते थे कि दूल्हा उस मंदिर में जाए, जहां ऊंची जाति के लोग अक्सर घोड़े पर जाते हैं. वे चाहते थे कि दूल्हा पैदल गांव के रविदास मंदिर जाए. (इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : मोर लुक के कार में बैठा था दलित दूल्हा, दबंगों ने कर दी पिटाई  

VIDEO: दलित दूल्हे ने जीती जंग, घोड़े पर ही बैठकर जाएगा बारात



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement