NDTV Khabar

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 9 नवंबर को, मतगणना 18 दिसंबर को

हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं जहां 9 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी.

69 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 9 नवंबर को, मतगणना 18 दिसंबर को

हिमाचल विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान करते मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त

खास बातें

  1. पिछले चुनाव में कांग्रेस ने 68 में से 36 सीटें जीत ली थीं
  2. बीजेपी की पिछले चुनाव में हार हुई थी और उसे 26 सीटें ही मिली थीं
  3. वीरभद्र सिंह छह बार हिमाचल के मुख्यमंत्री रहे हैं
नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने हिमाचल विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है. मुख्य निर्वाचन आयुक्त अचल कुमार ज्योति, निर्वाचन आयुक्त ओमप्रकाश रावत और निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा तारीखों का ऐलान किया. हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं जहां 9 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी. चुनाव आयोग ने कहा है कि गुजरात में होने वाले चुनावों की तारीखों का ऐलान बाद में किया जाएगा लेकिन ये चुनाव भी 18 दिसंबर से पहले ही करा लिए जाएंगे. गुजरात में कुल 182 विधानसभा सीटें हैं. निर्वाचन आयोग ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 7,521 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे. हिमाचल प्रदेश में फोटो वोटर आईडी का इस्तेमाल होगा. हिमाचल प्रदेश में आज से ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है.

हिमाचल प्रदेश में सभी 7,521 मतदान केंद्रों पर VVPAT वाली वोटिंग मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा और सभी पोलिंग बूथों की वीडियोग्राफी होगी.

गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले BJP के लिए बड़ी खुशखबरी

हिमाचल प्रदेश में पिछली बार 4 नवंबर को चुनाव हुआ था और 20 दिसंबर को नतीजा आया था. हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं. यहां पिछली बार कांग्रेस ने 36 सीटें जीती थीं. यहां बीजेपी की हार हुई थी और उसे 26 सीटें ही मिली थीं. बीजेपी ने प्रेम कुमार धूमल की अगुवाई में चुनाव लड़ा था. यहां से वीरभद्र सिंह छह बार मुख्यमंत्री रहे हैं.

गुजरात चुनाव- सिर्फ राहुल गांधी के भाषणों से नहीं चलेगा काम, कांग्रेस के सामने हैं ये 5 चुनौतियां

गुजरात में दिसंबर में विधानसभा चुनाव के संकेत..
गुजरात में विधानसभा का कार्यकाल जनवरी के तीसरे सप्ताह में पूरा होने वाला है. मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) एके जोति ने कहा कि गुजरात में 50 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर मतदाता मतदान सत्यापन पर्ची (वीवीपीएटी) प्रणाली का प्रयोग होगा. इस प्रणाली का पहली बार इस्तेमाल इस साल गोवा चुनावों में किया गया था.

VIDEO- गुजरात व हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान आज संभव


उन्होंने कहा कि सभी 182 सीटों के एक-एक बूथ पर मतदान सत्यापन पर्ची की गणना की जाएगी, ताकि पर्चियों की संख्या और डाले गए मतों का आपस में मिलान किया जा सके. पहली बार चुनाव आयोग गुजरात के सभी विधानसभा क्षेत्रों में सर्वमहिला मतदान केंद्र शुरू करेगा.

गुजरात में 1998 से बीजेपी लगातार सत्ता में
वहीं, गुजरात विधानसभा के लिए पिछली बार 13 और 17 दिसंबर को चुनाव हुआ था और 20 दिसंबर को नतीजे आए थे. गुजरात में बीजेपी का परचम लहराया था. उसे 182 में से 116 सीटें मिली थीं. गुजरात में 48 फीसदी वोट बीजेपी को नरेंद्र मोदी की अगुवाई में मिले थे. दरअसल गुजरात बीजेपी का गढ़ माना जाता है.  यहां 1998 से बीजेपी लगातार सत्ता में है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement