NDTV Khabar

गुजरात राज्यसभा चुनाव : आधी रात तक चले शह और मात के खेल में जब ये 2 मोहरे बने 'वजीर'

भोला गोहल जसदान से विधायक हैं तो जामनगर ग्रामीण सीट से राघवजी पटले विधायक हैं. दोनों ही विधायकों कांग्रेस के उन 7 बागी विधायकों में शामिल हैं जिन्होंने शंकर सिंह वाघेला की अगुवाई में बीजेपी के पक्ष में वोट किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात राज्यसभा चुनाव : आधी रात तक चले शह और मात के खेल में जब ये 2 मोहरे बने 'वजीर'

अहमद पटेल को सियासी ड्रामे के बाद मिली जीत

खास बातें

  1. भोला गोहल और राघव जी पटेल को वोट अयोग्य ठहराए गए
  2. इन्हीं के वोटों से फंस गई थी अहमद पटेल की सीट
  3. देर रात तक चला था सियासी ड्रामा
नई दिल्ली: गुजरात केराज्यसभा चुनाव में जिन 2 कांग्रेसी विधायकों के वोटों को अयोग्य ठहरा दिया गया उनके नाम हैं भोला गोहल और राघव जी पटेल. भोला गोहल जसदान से विधायक हैं तो जामनगर ग्रामीण सीट से राघवजी पटले विधायक हैं. दोनों ही विधायकों कांग्रेस के उन 7 बागी विधायकों में शामिल हैं जिन्होंने शंकर सिंह वाघेला की अगुवाई में बीजेपी के पक्ष में वोट किया है. लेकिन कांग्रेस की आपत्ति के बाद इन दो विधायकों के वोटों को चुनाव आयोग ने अयोग्य ठहरा दिया था और आधी रात तक चले सियासी ड्रामे के बाद आखिरकार अहमद पटेल को जीत नसीब हो गई. राघवजी पटेल जो पाटीदार समुदाय से आते हैं उन्होंने 1978 में पंचायत चुनाव से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी जबकि भोला गोहल ने 2000 में अपना पहला चुनाव लड़ा था. गोहल कोली समुदाय से आते हैं.

यह भी पढ़ें:अहमद पटेल की जीत से इतर पीएम नरेंद्र मोदी ने किया अमित शाह के लिए ट्वीट, जानें क्या कहा

क्या है राघवजी पटेल का रिकॉर्ड
राघव जी पटेल के ऊपर दो आपराधिक मामले चल रहे हैं. दोनों ही सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले हैं. इनके पास कुल 4.66 करोड़ की संपत्ति है. जिसमें चल संपत्ति 2.93 करोड़ और अचल संपत्ति 1.72 करोड़ है. राघव पटेल ने ग्रेजुएशन और एलएलबी कर रखी है. उनका मुख्य पेशा खेती है. राघव जी पटेल पांच बार विधायक रह चुके हैं जिसमें वह 2 बार बीजेपी के टिकट से चुने गए थे. 

यह भी पढ़ें :  'धर्मनिरपेक्ष' दिग्विजय सिंह ने जब शंकर सिंह वाघेला को याद दिलाया क्षत्रिय धर्म

भोलाभाई गोहल
भोला भाई गोहल की खास बात यह है कि इनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है. इनके पास कुल संपत्ति 26.85 लाख रुपए की है. जिसमें चल संपत्ति 21.85 लाख रुपए और अचल संपत्ति 5 लाख रुपए की है. गोहल में रूरल स्टडीज में ग्रेजुएशन किया है. 

यह भी पढ़ें : राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद अहमद पटेल बोले-'सत्यमेव जयते, मनी और मसल पावर की हार'

कांग्रेस का आरोप
कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत करते हुए कहा कि इन दोनों विधायकों ने अपने पोलिंग एजेंट को वोट दिखाने के बजाय बीजेपी नेताओं को दिखाया. जबकि नियमानुसार केवल अपनी पार्टी के एजेंट को ही वोट दिखाना होता है. चुनाव आयोग ने उस घटना के वीडियो फुटेज को देखने के बाद दोनों विधायकों के वोटों को अमान्‍य करार दिया.

टिप्पणियां
Video : गुजरात में आधी रात को सियासी ड्रामा


जब बदला वोटों का गणित
ये वोट रद होने के बाद 176 विधायकों के वोटों की संख्‍या घटकर 174 हो गई. अब इसके बाद हर प्रत्‍याशी को जीतने के लिए 44 वोटों की दरकार रह गई. पहले इसके लिए 45 वोट चाहिए था. अहमद पटेल को कुल 44 वोट ही मिले थे और नए गणित के मुताबिक इन वोटों के दम पर ही वह विजयी हो गए.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement