NDTV Khabar

बदमाश को अपने साहस के दम पर खदेड़ने वाली समृद्धि शर्मा को मिलेगा वीरता पुरस्कार

स्मृद्धि की इसी बहादूरी के लिए उसको वीरता पुरस्कार दिया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बदमाश को अपने साहस के दम पर खदेड़ने वाली समृद्धि शर्मा को मिलेगा वीरता पुरस्कार

खास बातें

  1. समृद्धि शर्मा को मिलेगा वीरता पुरस्कार
  2. बदमाश को अपने साहस के दम पर खदेड़ दिया था
  3. समृद्धि गुजरात की रहने वाली हैं
अहमदाबाद: अपनी बहादुरी से दूसरों का जान बचाने वाले देशभर के 18 बच्चों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीरता पुरस्कार से नवाजेंगे. इन बच्चों में एक नाम है समृद्धि शर्मा का, जो गुजरात की रहने वाली हैं. समृद्धि ने अपने साहस के बल पर एक नकाबपोश बदमाश, जिसके हाथ में चाकू था उसके कड़ा सबक सिखाया. बदमाश ने समृद्धि के गर्दन पर चाकू रख दिया था, लेकिन समृद्धि ने उस बदमाश का सामना करते हुए खदेड़ दिया. स्मृद्धि की इसी बहादूरी के लिए उसको वीरता पुरस्कार दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें:  यूपी की नाजिया को मिलेगा वीरता पुरस्‍कार, मोहल्‍ले में चल रहे जुए के धंधे को कराया था बंद

यह घटना 1 जुलाई 2016 की है, जब समृद्धि शर्मा घर पर अकेली थी, तभी दरवाजे की घंटी बजी. उसने दरवाजा खोला तो सामने एक नकाबपोश व्यक्ति नौकरानी के बारे में पूछताछ करने लगा. समृद्धि ने उसे बताया कि वह अपना काम खत्म करके जा चुकी है. यह सुनने के बाद उस नकाबपोश व्यक्ति ने समृद्धि से पीने के लिए पानी मांगा. लेकिन स्मृद्धि ने पानी देने से मना कर दिया, जिसके बाद नकाबपोश व्यक्ति ने चाकू निकालकर उसकी गर्दन पर रख दिया. लेकिन बिना घबराए समृद्धि ने खतरे का सामना करते हुए अपने बांए हाथे से चाकू को खुद से दूर कर दिया और उस बदमाश को गेट से बाहर धकेल दिया.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: तालाब में कूदकर बच्‍चों को बचाने वाली नेत्रावती को मरणोपरांत मिलेगा वीरता पुरस्‍कार

धक्का दिए जाने के बाद वह नकाबपोश बदमाश फिसलकर प्रवेश द्वार के पास गिर पड़ा. उसके बाद बदमाश चाकू छीनते हुए कंपाउंड से बाहर भागा. हाथापाई में चाकू से लड़की के हाथ की नस कट गई और बहुत खून बहने लगा. दर्द के परवाग किए बिना स्मृद्धि साहस से उस बदमाश के पीछे भागी. लेकिन बदमाश बचकर अपनी बाइक पर भागने में सफल रहा, लेकिन जल्दबाजी में चाकू उसके हात से गिर गया.

VIDEO: गणतंत्र दिवस पर 18 बहादुर बच्चों को दिए जाएंगे वीरता पुरस्कार
बाद में चाकू को पुलिस को सौंप दिया गया. इस घटना में स्मृद्धि को हाथ में चोट लग गई, जिसके लिए उसे दो ऑपरेशन करवाने पड़े. स्मृद्धि की मानसिक शक्ति ने उसे, साहस और शौर्यपूर्ण कार्य के लिए सक्षम बनाया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
 Share
(यह भी पढ़ें)... विपक्ष आपको हमेशा याद रखेगा अटल जी...

Advertisement