NDTV Khabar

रोहतक जेल में रखे जाएंगे गुरमीत राम रहीम, सेना के हेडक्वार्टर से हेलीकॉप्टर से भेजे जाएंगे

सूत्रों का कहना है कि रोहतक की जेल में उन्हें रखने की तैयारी की जा रही है. वहां पर जेल में उन्हें रखने का प्रबंध किया जा रहा है. 

441 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
रोहतक जेल में रखे जाएंगे गुरमीत राम रहीम, सेना के हेडक्वार्टर से हेलीकॉप्टर से भेजे जाएंगे

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम.

खास बातें

  1. डेरा प्रमुख रेप मामले में पंजाब- हरियाणा में कानून व्यवस्था का सवाल
  2. डेरा प्रमुख रेप मामले में दोषी करार
  3. सजा के लिए भेजे जाएंगे जेल. सजा पर फैसला 28 को
नई दिल्ली: डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को कोर्ट ने रेप के मामले में दोषी करार दिया और इसी के साथ अब उन्हें जेल में भेजने की तैयारी शुरू हो रही है. अभी तक की जानकारी के अनुसार डेरा प्रमुख में कागजी कार्रवाई तक के लिए चंडी मंदिर के सेना के पश्चिमी कमांड के हेडक्वार्टर में रखा गया. सेना की निगरानी में उन्होंने कोर्ट परिसर से सेना के हेडक्वार्टर भेजा गया था.  इसके बाद जेल में उन्हें शिफ्ट किया गया. सूत्रों का कहना है कि गुरमीत राम रहीम को हेलीकॉप्टर से जेल भेजा जाएगा. सूत्रों का कहना है कि रोहतक जेल में गुरमीत राम रहीम को रखा जाएगा. पहले खबर थी कि उन्हें अंबाला की जेल भी भेजा जा सकता था. जेल में उन्हें रखने का प्रबंध किया जा रहा है. 

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो महिलाओं से बलात्कार के आरोप में आज पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने दोषी करार दिया है. सजा पर फैसला 28 अगस्त को होगा. राम रहीम को कोर्ट से ही हिरासत में ले लिया गया है. राम रहीम को सड़क के रास्ते अंबाला जेल ले जाया जाएगा. फैसले को देखते हुए सिरसा स्थित डेरा सौदा मुख्यालय में बड़ी संख्या में डेरा प्रमुख के समर्थक जुटे हुए थे और बड़ी ही तादाद में लोग पंचकूला में डटे हैं. सुरक्षा बल उन्हें खदेड़ने की कोशिश में लगे हैं. आंसू गैस के गोले छोड़ने की बात भी सामने आ रही है. समर्थकों ने न्यूज चैनलों की ओबी वैन पर भी हमला किया. हालांकि डेरा प्रमुख ने एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने और अपने अनुयायियों से घर लौटने की भी अपील की थी. लेकिन समर्थक नहीं लौटे. पंचकूला की सड़कों पर लोगों का हंगामा जारी है.

पढ़ें: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ पहले भी लग चुके हैं कई गंभीर आरोप​

सेना भी मौजूद
उधर सजा सुनाए जाने से पहले ही सेना की टुकड़ियां आज पंचकूला पहुंच गईं थीं. गौरतलब है कि पंथ के अनुयायियों के शहर में पहुंचने के बाद किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए यहां सुरक्षा ज्यादा कड़ी कर दी गई है. 

पढ़ें: गुरमीत राम रहीम पर क्या है केस, जानें पूरा मामला

सिरसा में हुआ फ्लैग मार्च
सिरसा के पुलिस अधीक्षक अश्विन शेन्वी ने कहा, 'सिरसा में पंथ मुख्यालय पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने फ्लैग मार्च किया ताकि रात करीब 10 बजे से अनिश्चितकाल के लिए लगाए गए कर्फ्यू को लागू किया जा सके.' धारा 144 के तहत शहर में निषेधाज्ञा लगे होने के बावजूद पिछले तीन दिनों में बड़ी संख्या में डेरा अनुयायी पंचकूला में जमा हुए.

पढ़ें: गुरमीत राम रहीम से बिना शर्त प्यार करते हैं डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी

जानें क्या हैं आरोप
गुरमीत राम रहीम सिंह द्वारा दो साध्वियों का यौन उत्पीड़न किए जाने संबंधी अज्ञात चिट्ठी मिलने के बाद पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने 2002 में डेरा प्रमुख के खिलाफ मामला दर्ज किया था. डेरा प्रमुख ने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है. 

VIDEO : सिरसा और पंचकूला में डेरा समर्थक जुटे
राम रहीम की अपील
राम रहीम ने एक वीडियो जारी करके समर्थकों से लौट जाने की अपील की थी. उन्होंने कहा था कि 'मैंने पहले भी शांति बनाए रखने की अपील की थी और समर्थकों से पंचकूला नहीं जाने का आग्रह किया था. सभी (समर्थक) जो पंचकूला में मौजूद हैं उन्हें अपने घरों को लौट जाना चाहिए. मुझे फैसला सुनने के लिए अदालत जाना है और मैं पंचकूला जाऊंगा. हमें कानून का पालन करना चाहिए और शांति बनाए रखनी चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement