NDTV Khabar

हरियाणा के फतेहाबाद में पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक

फतेहाबाद के गांव ढाणी चेतनपुर में किसानों ने पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों की टीम को बंधक बना लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हरियाणा के फतेहाबाद में पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक

फतेहाबाद में किसानों ने अधिकारियों को बंधक बना लिया.

खास बातें

  1. रोक के बावजूद नहीं रुक रहीं पराली जलाने की घटनाएं
  2. हरियाणा के फतेहाबाद का है ताजा मामला
  3. पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों को बंधक बनाया
नई दिल्ली :

दिल्ली से सटे राज्यों में तमाम पाबंदियों के बावजूद पराली जलाने की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. शासन-प्रशासन की अपील के बावजूद किसान खेतों में पराली जला रहे हैं. ताजा मामला हरियाणा के फतेहाबाद का है. फतेहाबाद के गांव ढाणी चेतनपुर में किसानों ने पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों की टीम को बंधक बना लिया. अधिकारियों से बदसलूकी की गई. बाद में मौक़े पर पहुंची पुलिस फ़ोर्स ने अफ़सरों को बचाया. अब अधिकारियों को बंधक बनाने वाले आरोपियों की पहचान की जा रही है. पुलिस का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की जाएगी. 

पराली जलाने की सूचना देने पर मिलेगा 1000 रुपए का इनाम, खट्टर सरकार का फैसला


आपको बता दें कि दिल्ली से सटे पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की वजह से प्रदूषण की स्थिति विकराल हो गई है. पंजाब के तरणतारन में प्रदूषण का स्तर काफ़ी ज़्यादा है. यहां पराली जलाने की वजह से प्रदूषण कई गुना बढ़ गया है. तो वहीं, चंडीगढ़ से पटियाला के रास्ते में गाड़ियां चलाना मुश्किल हो गया है. यहां पराली के धुएं से पूरा आसमान काला दिखाई पड़ रहा है. गौरतलब है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पराली जलाने की घटनाओं की जानकारी देने वालों को इनाम के रूप में नकदी देने की शुक्रवार को घोषणा की है. 

दिल्ली में प्रदूषण का हवाला देकर गौतम गंभीर ने की क्रिकेट मैच ना कराने की अपील, कहा...

टिप्पणियां

सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे किसानों को अन्य विकल्प अपनाने के लिए प्रोत्साहित करें. एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार खट्टर ने उनके राज्य में फसल अवशेष प्रबंधन (सीआरएम) योजना की समीक्षा के लिए अधिकारियों से मुलाकात की. विज्ञप्ति में कहा गया कि खट्टर ने कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारियों से उन 10 गांवों का दौरा करने को कहा जहां पराली जलाने की सर्वाधिक घटनाएं हुई है. उन्होंने अधिकारियों से इसका कारण जानने को कहा. इसमें कहा गया कि अपने इलाके में इस प्रकार की घटनाओं की सूचना देने वाले को 1000 रुपए इनाम दिया जाएगा और उनकी पहचान गुप्त रखी जाएगी. 

Video: दिल्ली में हवा की गुणवत्ता हुई ‘बहुत खराब'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement