NDTV Khabar

गुरुग्राम के स्कूल में बच्चे की हत्या के शक में बस का कंडक्टर गिरफ्तार

पुलिस ने बच्चे की हत्या के शक में कंडक्टर को गिरफ्तार किया है. बता दें कि शव के पास से चाकू बरामद हुआ है.

34 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरुग्राम के स्कूल में बच्चे की हत्या के शक में बस का कंडक्टर गिरफ्तार

आरोपी कंडक्टर हुआ गिरफ्तार.

खास बातें

  1. बच्चे का शव स्कूल के वॉशरूम में मिला
  2. बच्चे के शरीर में चाकू से हमले के थे कई निशान
  3. पुलिस ने बस के कंडक्टर को किया गिरफ्तार
नई दिल्ली: गुरुग्राम के नामी रयान  इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के बच्चे का शव वॉशरूम में मिला था. इस मामले में बस के कंडक्टर को गिरफ्तार किया गया है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने बच्चे की हत्या के शक में कंडक्टर को गिरफ्तार किया है. आरोपी अशोक 8 महीने से बस कंडक्टर की नौकरी कर रहा था. वो घमरोज़ गांव का रहने वाला है, वो स्कूल के टॉयलेट को अक्सर यूज़ करता था. आज जब वो टॉयलेट गया तो उसे ये बच्चा दिखा. उसने बच्चे को सेक्सुअली असॉल्ट करने की कोशिश की. बच्चे ने जब विरोध किया तो अशोक से अपनी जेब से चाकू निकाला और बच्चे की हत्या कर दी. वो विशेष रूप से इसी बच्चे को टारगेट नहीं करने आया था. उसने टॉयलेट में बच्चा देखा और वारदात कर दी. चाकू सब्ज़ी काटने वाला था जो उसकी जेब में रह गया था. अशोक के क्रिमिनल रिकॉर्ड की जांच कर रहे हैं. सीसीटीवी से भी सुराग मिले हैं. स्कूल की लापरवाही की जांच चल रही है. 

बता दें कि शव के पास से चाकू बरामद हुआ है. बच्चे की गर्दन और शरीर के अन्य हिस्सों पर चाकू के निशान मिले थे. 

हैदराबाद : 7 साल के लड़के ने पहली क्लास के बच्चे को कथित तौर पर पीटा, हुई मौत

पिछले साल  दिल्ली के एक नामी स्कूल में 6 साल के बच्चे का शव वाटर टैंक में संदिग्ध हालत में मिला था. राहुल (बदला हुआ नाम) नामक यह बच्चा रयान इंटरनेशनल स्कूल में पहली कक्षा का छात्र था. शनिवार को वह पोएम कॉम्पटिशन में भाग लेने स्कूल आया था. हैरानी की बात ये रही कि शव शनिवार दोपहर करीब सवा 12 बजे बरामद हुआ, जबकि पुलिस को इसकी जानकारी करीब 2 घंटे बाद दी गई. स्कूल पहुंचकर पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि राहुल सांतवें पीरियड से क्लास से गायब हो गया था.

स्कूल के पिछले हिस्से में एक वाटर पंप के टैंक में उसका शव मिला. जांच रिपोर्ट में स्कूल को लापरवाह और सबसे बड़ा जिम्मेदार बताया गया था. मामले में प्रिंसिपल से लेकर स्कूल मैनेजमेंट तक पर कार्रवाई की सिफारिश की गई थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि स्कूल अपनी जिम्मेदारी निभाने में पूरी तरह से फेल रहा था. छुट्टी के दिन बच्चे को बुलाया था इसलिए एक्स्ट्रा ध्यान रखने की जरूरत थी जो नहीं हुआ.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement