NDTV Khabar

हरियाणा में AAP की सरकार बनेगी- केजरीवाल के इस दावे के क्या हैं मायने ?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के इस दावे में कितना दम है कि हरियाणा में अगली सरकार आम आदमी पार्टी की ही बनेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हरियाणा में AAP की सरकार बनेगी- केजरीवाल के इस दावे के क्या हैं मायने ?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि हरियाणा में अगली सरकार 'आप' की बनेगी.

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि हरियाणा में अगली सरकार आम आदमी पार्टी की बनेगी. दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम के गौशाला ग्राउंड में स्कूल अस्पताल रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने यह बात कही. हरियाणा में प्राइवेट स्कूलों की मनमानी फीस का मुद्दा उठाते हुए केजरीवाल ने कहा  कि हरियाणा की जनता मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर  को आदेश देती है कि आज के बाद हरियाणा में किसी भी प्राइवेट स्कूल की फीस नहीं बढ़ेगी. खट्टर जी.. हरियाणा के मुख्यमंत्री हैं इसलिए हरियाणा की जनता का आदेश उनको मानना ही होगा .अगर खट्टर साहब ये आदेश नहीं मानते हैं तो चिंता मत कीजिये एक साल में हरियाणा में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है. आपके पैसे ब्याज सहित वापस करवाऊंगा.

केजरीवाल ने यह भी कहा, 'दिल्ली में हमारी सरकार बनने से पहले वहां भी यही हाल था. दिल्ली में 15 साल तक शीला दीक्षित की सरकार थी. हर साल ये प्राइवेट स्कूल वाले फीस बढ़ा लेते थे. उनकी पार्टी को चंदा देते और फीस बढ़ा लेते थे. अफसरों को पैसा खिलाते और फीस बढ़ा लेते थे. लेकिन दिल्ली में 3 साल से हमने प्राइवेट स्कूलों को फीस नहीं बढ़ाने दी. जिस स्कूल ने फीस बढ़ाने की हिम्मत की, उनसे फीस कम कराकर पैरेंट्स को पैसे वापस करवाए. भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ होगा कि स्कूलों की फीस कम कराकर बच्चों को चेक वापस करवाए गए हों. 


यह भी पढ़ें- दिल्ली पुलिस के शहीदों को नहीं मिलना चाहिए 1 करोड़, पार्टी विधायकों की मांग पर क्या बोले CM केजरीवाल ?

सरकार बनाने के दावे के मायने
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है हरियाणा में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में सरकार आम आदमी पार्टी की बनेगी. हरियाणा में अक्टूबर 2019 में विधानसभा चुनाव होने हैं. आम आदमी पार्टी के लिहाज से हरियाणा ऐसा चौथा राज्य है जहां पर केजरीवाल सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं. आम आदमी पार्टी के चुनावी सफर की बात करें तो 26 नवंबर 2012 को बनी आम आदमी पार्टी ने दिसंबर 2013 में अपना पहला चुनाव दिल्ली विधानसभा लड़ा. 70 में से 28 सीटें जीतीं और कांग्रेस के समर्थन से अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बने.2014 के लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 434 सीटों पर उम्मीदवार उतारे लेकिन केवल 4 सीट ही वह जीत सकी. 'आप' ने 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ा तो 70 में 67 सीटें जीतकर  इतिहास रच दिया और केजरीवाल फिर मुख्यमंन्त्री बने.

फरवरी 2017 में पंजाब और गोवा विधानसभा के लिए आम आदमी पार्टी ने चुनाव लड़े और दोनों ही जगह केजरीवाल ने सरकार बनाने का दावा किया. पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आई, जबकि राज्य की  117 सीटों में से  पार्टी ने  गठबंधन में  22 सीटें जीती जिसमें 2 सीटें लोक इंसाफ पार्टी की थी.

हालांकि गोवा में पार्टी का प्रदर्शन निराशाजनक रहा. पार्टी ने राज्य की 40 में 39 सीटों पर चुनाव लड़ा और 38 सीटों पर ज़मानत भी नहीं बची.पार्टी के सीएम कैंडिडेट एल्विस गोम्स तक अपनी ज़मानत नहीं बचा पाए.फरवरी 2018 में हुए नागालैंड और मेघालय विधानसभा चुनावों में भी पार्टी ने हाथ आजमाया. कुल नौ सीटों पर चुनाव लड़ा जिनमें आठ सीटों पर जमानत जप्त हो गई. दिसंबर 2017 में पार्टी ने गुजरात विधानसभा की 29 सीटों पर चुनाव लड़ा. सभी सीटों पर जमानत ज़ब्त हो गई.

मई 2018 में आम आदमी पार्टी में कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 29 सीटों पर उतारे, सभी की जमानत जब्त हो गई. नवंबर 2018 में हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में पार्टी ने राज्य की 90 में 71 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. भानुप्रतापपुर से चुनाव लड़ रहे कोमल हुपेंडी को पार्टी ने सीएम उम्मीदवार घोषित किया है.  मतदान हो चुका है, इसके नतीजे 11 दिसंबर को घोषित होंगे.28 नवंबर को होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए राज्य की 230 में से 208 सीटों पर आम आदमी पार्टी ने उम्मीदवार उतारे हैं.आलोक अग्रवाल पार्टी के सीएम उम्मीदवार हैं. सात दिसंबर को होने वाले राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी ने कुल 200 विधानसभा सीटों में से 103 पद उम्मीदवार उतारे हैं. 

टिप्पणियां

वीडियो- सिंपल समाचार: केजरीवाल बोले- 'मुझे मरवाना चाहते हैं ये लोग' 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement