NDTV Khabar

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में खाई में गिरी स्कूल बस, 27 बच्चों समेत 30 की मौत

पुलिस ने बताया कि बस के मलबे में अभी और बच्चों के फंसे होने के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है. बचाव कार्य जारी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में खाई में गिरी स्कूल बस, 27 बच्चों समेत 30 की मौत

NDRF की टीम मौके पर पहुंच गई है और राहत और बचाव कार्य जारी है.

खास बातें

  1. बढ़ सकता है मौत का आंकड़ा
  2. राहत और बचाव कार्य जारी
  3. NDRF की टीम मौके पर पुहंची
शिमला: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले कांगड़ा ज़िले के नूरपुर में मलकवाल के पास सोमवार को एक निजी स्कूल की बस अनियंत्रित होकर 200 फीट गहरी खाई में गिर गई, जिससे 27 बच्चों समेत 30 लोगों की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि बस के मलबे में अभी और बच्चों के फंसे होने के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है. हिमाचल प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने बताया 27 बच्चों सहित 30 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है.

वजीर राम सिंह पठानिया मेमोरियल पब्लिक स्कूल के बच्चे स्कूल की बस से घर जा रहे थे. ज्यादातर बच्चे कक्षा पांच और इससे छोटी कक्षा के थे. इसी दौरान उनकी बस नूरपुर-चंबा मार्ग पर गुरचल गांव के निकट एक खाई में गिर गई. 

कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल ने बताया कि स्कूल बस के 67 वर्षीय चालक मदन लाल और दो शिक्षिकाओं की भी इस घटना में मौत हो गई. स्थानीय भाजपा विधायक राकेश पठानिया ने बताया कि 27 शव बरामद कर लिए गए हैं. एक अधिकारी ने बताया कि गंभीर रूप से जख्मी कम से कम 13 लोगों को पठानकोट के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. बस में 40-45 लोग सवार थे और मरने वालों में बहुसंख्य प्राथमिक कक्षाओं के छात्र थे, जिनकी उम्र दस साल से कम थी. 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये की तत्काल मदद देने की घोषणा की है. एक अधिकारी ने बताया कि मजिस्ट्रेट स्तरीय जांच का आदेश दिया गया है. प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि चालक का बस पर नियंत्रण नहीं रहा और वह सड़क से फिसलकर गहरी खाई में गिर गई. 

टिप्पणियां
खबर मिलते ही बच्चों के माता-पिता घटनास्थल पर पहुंच गए और पूरे इलाके में मातमी सन्नाटा पसरा गया. स्थानीय युवकों की मदद से शवों को मलबे से निकाला गया. खाद्य और आपूर्ति मंत्री कृष्ण कपूर की देखरेख में बचाव अभियान चल रहा है. सूबे के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, परिवहन मंत्री ठाकुर ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है. 

(इनपुट : एजेंसियां)   
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement