NDTV Khabar

लड़की का पीछा करने का मामला, विकास बराला पुलिस के सामने होगा हाजिर

विकास के साथ ही उसके दोस्त आशीष कुमार को भी पुलिस के सामने हाजिर होना है. दोनों के आरोप है कि उन्होंने पहले पीड़िता वर्णिका कुंडू का पीछा किया और फिर उसकी कार को रोककर अपहरण करने की कोशिश की है.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लड़की का पीछा करने का मामला, विकास बराला पुलिस के सामने होगा हाजिर

विकास बराला को पुलिस ने हाजिर होने के लिए कहा.

खास बातें

  1. विकास बराला को आज होना है पेश
  2. चंडीगढ़ पुलिस करेगी पूछताछ
  3. लड़की का पीछा और अपहरण करने का है आरोप
नई दिल्ली: एक आईएएस अधिकारी की बेटी का पीछा करने के मामले में फंसे हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाषा बराला के बेटे विकास बराला को चंडीगढ़ पुलिस ने पूछताछ के लिए बुधवार को 11 बजे हाजिर होने के लिए कहा है. विकास के साथ ही उसके दोस्त आशीष कुमार को भी पुलिस के सामने हाजिर होना है. दोनों के आरोप है कि उन्होंने पहले पीड़िता वर्णिका कुंडू का पीछा किया और फिर उसकी कार को रोककर अपहरण करने की कोशिश की है. वर्णिका कुंडू हरियाणा काडर के आईएएस की बेटी हैं. यह घटना शुक्रवार को हुई थी. इस मामले में पुलिस पर आरोप है कि पहले तो उसने आईएएस अधिकारी की बेटी से जुड़ा मामला होने की वजह से तेजी दिखाई और दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया लेकिन जब उसे पता चला कि आरोपियों में से एक बीजेपी नेता का बेटा है तो पुलिस ने मामले में ढील दे दी और दोनों पर मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बाद जमानत दे दी. इसके बाद यह मामला मीडिया में जोर-शोर से उछाला गया और राहुल गांधी सहित पूरी कांग्रेस हमलावर हो गई और बीजेपी पर सुभाष बराला के बेटे को बचाने का आरोप लगाया. धीरे-धीरे इस मामले में सियासत तेज हो गई. वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टरका कहना है कि सुभाष बराला को उनके बेटे के अपराध के लिए सजा नहीं दी जा सकती है जबकि हरियाणा बीजेपी के उपाध्यक्ष ने तो कह दिया कि बेटियों को देर रात घर से निकलना ही नहीं चाहिए. 

यह भी पढ़ें :  चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला: CCTV फुटेज में कैद उस रात की दास्‍तान


पिता ने सोशल मीडिया पर की अपील
हरियाणा के भाजपा अध्यक्ष के बेटे ने जिस लड़की का कथित तौर पर पीछा किया था, उसके आईएएस अधिकारी पिता ने सोशल मीडिया पर लोगों से आह्वान किया कि महिलाओं के खिलाफ अपराधों से लड़ाई लड़ें उन्होंने अपने परिवार की व्यथा भी साझा की है.

पीड़ित लड़की ने भी अपनी वेदना जाहिर करते हुए एक पोस्ट डाली है जिसमें उसने लिखा है कि वह सौभाग्यशाली है कि किसी आम आदमी की बेटी नहीं है, अन्यथा वह जानती है कि उसकी क्या हालत होती.  पीड़िता के पिता ने फेसबुक पर लिखा, ‘अगर हम दोषियों को न्याय के कठघरे में लाने के लिए प्रयासरत नहीं रहते हैं तो और अधिक बेटियां यह आघात सहेंगी.’
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement