NDTV Khabar

नमाज पर सीएम खट्टर के बयान के बाद अब वक्फ बोर्ड ने गुरुग्राम प्रशासन को सौंपी जमीन की लिस्ट

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने उन्होंने कहा था कि सार्वजनिक स्थानों की जगह नजाम सिर्फ मस्जिद या ईदगाह के अंदर ही पढ़नी चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नमाज पर सीएम खट्टर के बयान के बाद अब वक्फ बोर्ड ने गुरुग्राम प्रशासन को सौंपी जमीन की लिस्ट

मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो )

गुरुग्राम:
टिप्पणियां
हरियाणा के साइबर सिटी गुरुग्राम में नमाज़ करने को लेकर जिला प्रशासन की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. मुसलमानों के धार्मिक स्थलों की देख-रेख करने वाली संस्था वक्फ बोर्ड ने गुरुग्राम उपायुक्त को जमीनों की सूची सौंपी हैं जिनमें तकरीबन 19 जगहों पर अवैध कब्जे की शिकायत की है.
 
gurugram


गौरतलब है कि हरियाणा के गुरुग्राम में शुक्रवार को (4 मई) कुछ हिंदुवादी संगठनों द्वारा नमाज में बाधा पहुंचाए जाने की खबर के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने उन्होंने कहा था कि सार्वजनिक स्थानों की जगह नजाम सिर्फ मस्जिद या ईदगाह के अंदर ही पढ़नी चाहिए. उन्होंने कहा था कि नमाजियों को गुड़गांव में सड़क किनारे, उद्यानों और खाली सरकारी जमीनों पर नमाज अदा करने की इजाजत नहीं है.
woqf board
​(वक्फ बोर्ड की ओर से सौंपी गई जमीन की लिस्ट)
वहीं जब उनके बयान पर विरोध हुआ तो उन्होंने यू-टर्न लेते हुये कहा, 'मैंने खुले में नमाज पढ़ने पर रोक लगाने की बात नहीं की थी. अगर किसी को खुले में नमाज पढ़ने में परेशानी आ रही है तो वो पुलिस प्रशासन से संपर्क करें.'
gurugram

इस बीच उनकी सरकार के मंत्री अनिल विज ने इस मसले को और तूल देते हुए कहा है कि जमीन कब्जा करने की नीयत से नमाज पढ़ना गलत है. उन्होंने कहा, 'अगर किसी को कभी-कभी खुले में नमाज पढ़नी पड़ जाती है तो धर्म की आजादी है, लेकिन किसी जगह को कब्जा करने की नीयत से नमाज पढ़ना गलत है. उसकी इजाजत नहीं दी जा सकती.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement