तीसरी मंजिल से छलांग लगाने जा रहा था कोरोना मरीज, फिर हुआ कुछ ऐसा...

नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कुलसचिव डॉ पी के कसार ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित एक व्यक्ति अस्पताल की तीसरी मंजिल से कूदने ही वाला था कि अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे देख लिया और उसके प्रयास को नाकाम कर दिया. 

तीसरी मंजिल से छलांग लगाने जा रहा था कोरोना मरीज, फिर हुआ कुछ ऐसा...

प्रतीकात्मक तस्वीर

जबलपुर (मध्यप्रदेश), कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) का इलाज करवा रहे मानसिक रूप से अस्वस्थ 40 वर्षीय एक व्यक्ति ने अस्पताल इमारत की तीसरी मंजिल से रविवार को कूदने (Attempt Suicide) का प्रयास किया, लेकिन वहां मुस्तैद कर्मचारियों ने उसे बचा लिया. नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (Netaji Subhash Chandra Bose Medical College) के कुलसचिव डॉ पी के कसार ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित एक व्यक्ति अस्पताल की तीसरी मंजिल से कूदने ही वाला था कि अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे देख लिया और उसके प्रयास को नाकाम कर दिया. 

Newsbeep

कसार ने कहा कि घटना के बाद मरीज के परिवार के सदस्य ने बताया कि वह मानसिक रूप से पीड़ित है और उसका इलाज भी चल रहा है. उन्होंने कहा कि मरीज के परिजनों ने कोरोना वायरस इलाज के लिए भर्ती करते समय अस्पताल को यह जानकारी नहीं दी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि घटना के बाद मनोचिकित्सकों द्वारा इस मरीज की जांच की गई और उसे इमारत के भूतल पर शिफ्ट कर दिया गया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)