Diabetes Diet Plan: ग्लाइसेमिक इंडेक्स है ब्लड शुगर लेवल बिगड़ने का कारण, जानें डायबिटीज कंट्रोल करने वाले फूड्स की लिस्ट!

Food To Eat In Diabetes: डायबिटीज में ऐसे फूड्स को खाने की सलाह दी जाती है जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Glycemic Index) कम हो, लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि जिन लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स (Foods With Low Glycemic Index) को आप पकाते हैं उनका असर आपके ब्लड शुगर लेवल पर हो सकता है. डायबिटीज डाइट का ख्याल रखकर ही ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल किया जा सकता है.

Diabetes Diet Plan: ग्लाइसेमिक इंडेक्स है ब्लड शुगर लेवल बिगड़ने का कारण, जानें डायबिटीज कंट्रोल करने वाले फूड्स की लिस्ट!

Diabetes Food Chart: डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए इन फूड्स का करें सेवन

खास बातें

  • डायबिटीज में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स का करें सेवन.
  • यहां दी गई है डायबिटीज फूड्स की लिस्ट जो रखेंगे ब्लड शुगर को कंट्रोल.
  • ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए खाएं ये चीजें.

Diabetes Control Food List: डायबिटीज में ऐसे फूड्स को खाने की सलाह दी जाती है जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Glycemic Index) कम हो, लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि जिन लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स (Foods With Low Glycemic Index) को आप पकाते हैं उनका असर आपके ब्लड शुगर लेवल पर हो सकता है. ऐसा आपके खाना पकाने के तरीके पर निर्भर कर सकता है. डायबिटीज डाइट (Diabetes Diet) का ख्याल रखकर ही ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल किया जा सकता है. कुछ लोग जानना चाहते हैं कि डायबिटीज के लिए फूड (Food For Diabetes) लिस्ट में कौन-कौन से फूड्स आते हैं, तो यहां हम ब्लड शुगर को मैनेज (Manage Blood Sugar Level) करने के लिए डायबिटिक फूड लिस्ट के बारे में बताएंगे.

डायबिटीज को अनकंट्रोल छोड़ने पर यह कई स्वास्थ्य समस्याओं जैसे हृदय रोग, स्ट्रोक और नसों, मस्तिष्क, आंखों और किडनी को नुकसान पहुंचा सकती है. ब्लड शुगर को मैनेज करने के लिए लाइफस्टाइल और खानपान में बदलाव करना जरूरी होता है. डायबिटीज को कंट्रोल (Control Diabates) करने के लिए कुछ लोग लो ग्लाइसेमिक डाइट प्लान (Low Glycemic Diet Plan) करते हैं, जिसमें ऐसे फूड्स को शामिल किया जाता है जिसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स लो होता है. यहां कुछ ऐसे फूड्स की लिस्ट दी गई हैं जिन्हें आप अपनी डायबिटीज डाइट में शामिल कर सकते हैं और आसानी से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद पा सकते हैं.

डायबिटीज में क्यों लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स खाने चाहिए | Why Should You Eat Foods With Low Glycemic Index In Diabetes

ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) एक प्रकार का स्केल है, जिसमें 1-100 से तक की गितनी होती है और आपके ब्लड शुगर के स्तर पर भोजन के प्रभाव के अनुसार इसे मांपा जाता है. हर तरह के भोजन का एक निश्चित जीआई स्कोर होता है. डायबिटीज रोगियों को लो जीआई वाले फूड्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है क्योंकि ये मध्यम और उच्च जीआई खाद्य पदार्थों की तुलना में किसी व्यक्ति के ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाने में अधिक समय लगाते हैं. दरअसल ये बहुत धीरे-धीरे पचते और अवशोषित होते हैं और ब्लड शुगर में धीमी वृद्धि करते हैं. लो जीआई खाद्य पदार्थों का स्कोर 55 से कम होगा, मध्यम जीआई खाद्य पदार्थों का स्कोर लगभग 56-69 होगा जबकि उच्च जीआई खाद्य पदार्थों का स्कोर 70 और उससे ज्यादा हो ससकता है. 

nerahg3Diabetes Food List: यहां लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स की लिस्ट दी गई है जो डायबिटीज कंट्रोल कर सकते हैं

एक्सपर्ट्स का मानना है कि कई तरह की जीआई वाले खाद्य पदार्थों को एक साथ मिलाने से भोजन के जीआई को कम करने में मदद मिल सकती है. हमारे भोजन के अधिकांश हिस्से में मौजूद खाद्य पदार्थों में कार्बोहाइड्रेट होता है और हमारी डाइट का एक बहुत बड़ा हिस्सा होने के नाते हमें सही गुणवत्ता वाले कार्बोहाइड्रेट को चुनना बहुत ही ज्यादा जरूरी है. दाल का सेवन करने से चावल के जीआई को कम करने में मदद मिल सकती है. 

इन लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स से कंट्रोल होगा डायबिटीज | These Low Glycemic Index Foods Will Control Diabetes

- जौ
- दूध
- मसूर की दाल
- चने
- बटर बीन्स
- राजमा
- क्विनोआ
- बकवीट
- सूजी 
- साबुत अनाज, मल्टीग्रेन, राई से बनी ब्रेड.
- ब्राउन राइस.
- रोल या स्टील-कट ओट्स.
- सेब, स्ट्रॉबेरी, खुबानी, आड़ू, प्लम, नाशपाती और कीवी जैसे फल.
- स्टार्च वाली सब्जियां जैसे गाजर, ब्रोकोली, फूलगोभी, अजवाइन, टमाटर और तोरी न खाएं.

abtupkp

इन चीजों को भी लोग जीआई में रखा जा सकता है

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मांस
अंडे
मछली और समुद्री भोजन
जैतून का तेल
मक्खन
औषधि और मसाले
नट्स

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.