How To Manage PCOS: पीसीओएस में महिलाओं को इन 4 बातों का जरूर रखना चाहिए ध्यान

PCOS Manage: पीसीओएस की समस्या से कई महिलाएं परेशान रहती हैं. कई लोग सवाल करते हैं पीसीओएस को कैसे मैनेज करें? (How To Manage PCOS) एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखना, वजन कम करना और अपने मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करना पीसीओएस के बेहतर प्रबंधन में मदद कर सकता है.

How To Manage PCOS: पीसीओएस में महिलाओं को इन 4 बातों का जरूर रखना चाहिए ध्यान

PCOS Management: लक्षणों को कम करने के लिए अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें

खास बातें

  • पीसीओएस या अनियमित पीरियड्स के पारिवारिक इतिहास पर ध्यान दें.
  • अपने मासिक धर्म चक्र का ट्रैक रखें.
  • स्वस्थ वजन बनाए रखें और अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें.

How To Manage PCOS: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) एक ऐसी स्थिति है जो महिलाओं को उसके बच्चे के जन्म के वर्षों के दौरान प्रभावित करती है. यह महिलाओं में हार्मोन के स्तर को प्रभावित करता है, जहां प्रभावित लोग सामान्य हार्मोन की तुलना में अधिक मात्रा में पैदा करते हैं. हार्मोनल असंतुलन (Hormonal Imbalance) उनके मासिक धर्म को छोड़ने का कारण बनता है और गर्भ धारण करने में कठिनाई का कारण बनता है. पीसीओएस के लक्षणों (PCOS Symptoms) में चेहरे के बालों का बढ़ना या शरीर पर बालों का बढ़ना है. यह महिला के अंडाशय में अल्सर का कारण बनता है, जो प्रजनन अंग हैं जो एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन का उत्पादन करते हैं.

पीसीओएस को मैनेज (Manage PCOS) करने के लिए डाइट और जीवनशैली में बदलाव को प्रभावी पाया गया है. वजन कम करना, कम कैलोरी वाला आहार और नियमित व्यायाम सहायक हो सकता है. मेयोक्लिनिक के अनुसार, आपके शरीर के वजन का 5% भी बहा देने से पीसीओएस को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है. वजन घटाने से पीसीओएस दवाओं की प्रभावशीलता में सुधार हो सकता है.

पीसीओएस इन 4 बातों को कभी न भूलें | Never Forget These 4 Things PCOS

अगर आप पीसीओएस लक्षणों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो एक स्वस्थ जीवन शैली एक आवश्यक है. इसके अलावा, अपने जोखिम को कम करने और हालत को बिगड़ने से रोकने के लिए इन बिंदुओं पर ध्यान दें:

1. पारिवारिक इतिहास को समझें

जबकि पीसीओएस का सटीक कारण अज्ञात है, ऐसी संभावना है कि परिवारों में स्थिति चल सकती है. यानि कि यह जेनेटिक हो सकता है. अगर आपके परिवार की महिलाओं को अनियमित पीरियड्स या बांझपन का पीसीओएस या इतिहास रहा है, तो यह स्थिति आपको प्रभावित कर सकती है.

2. अपने पीरियड्स को ट्रैक करें

मासिक धर्म चक्र में परिवर्तन स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत हो सकता है. अपनी पहली अवधि प्राप्त करने के बाद अपने मासिक धर्म चक्र का रिकॉर्ड रखना एक अच्छी आदत है. उन दिनों के बारे में जानकारी रखें, जब आप खून बह रहा है, आपका प्रवाह कैसा है, चाहे वह हल्का हो या भारी. इस उद्देश्य के लिए, आप अपने स्मार्टफोन पर कई पीरियड ट्रैकिंग ऐप डाउनलोड कर सकते हैं.

f85bckeHow To Manage PCOS: अपने पीरियड्स, रक्तस्राव के दिनों और प्रवाह की प्रकृति पर नज़र रखें

3. एक स्वस्थ वजन बनाए रखें

पीसीओएस हो या न हो, स्वस्थ वजन बनाए रखना महत्वपूर्ण है. संतुलित आहार खाएं और सुनिश्चित करें कि आप रोजाना व्यायाम करते हैं. अपने तनाव के स्तर को प्रबंधित करें और नियमित रूप से अच्छी नींद लें. धूम्रपान और शराब को ना कहें. ये सभी उपाय पीसीओएस के प्रबंधन के संदर्भ में एक लंबा रास्ता तय कर सकते हैं.

4. अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीसीओएस के साथ महिलाओं में अवसाद, चिंता विकार और खाने की गड़बड़ी का खतरा अधिक पाया गया है. मुंहासे, चेहरे के अतिरिक्त बाल, वजन बढ़ना और बांझपन आपके आत्म-सम्मान और खराब मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं. तनाव से पीसीओएस के लक्षण बिगड़ सकते हैं. जरूरत पड़ने पर पेशेवर मदद लें.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.