Krishna Janmashtami 2020 Vrat Niyam: जानें जन्‍माष्‍टमी के व्रत में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं

आज जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) का त्योहार है. इस साल जन्माष्टमी का त्यौहार 11 अगस्त को मनाया जा रहा है. हिंदू मान्यता के अनुसार बाल गोपाल कृष्ण का जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को चंद्रोदय के समय हुआ था. यह घटी साल 2020 में 11 अगस्त को है. इसके अनुसार दही हांडी का उत्सव (Dahi Handi 2020) 12 अगस्त को होगा. जन्माष्टमी का त्यौहार हर साल मनाया जाता है जो भगवान विष्णु के आठवें अवतार भगवान कृष्ण के जन्मदिन (Krishna Birthday) के तौर पर मनाया जाता है.

Krishna Janmashtami 2020 Vrat Niyam: जानें जन्‍माष्‍टमी के व्रत में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं

Janmshtami 2020: उपवास शुरू करने से पहले स्वस्थ भोजन जरूर लें.

खास बातें

  • आज जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) का त्योहार है.
  • इस साल जन्माष्टमी का त्यौहार 11 अगस्त को मनाया जा रहा है.
  • दही हांडी का उत्सव (Dahi Handi 2020) 12 अगस्त को होगा.

आज जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) का त्योहार है. इस साल जन्माष्टमी का त्यौहार 11 अगस्त को मनाया जा रहा है. हिंदू मान्यता के अनुसार बाल गोपाल कृष्ण का जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को चंद्रोदय के समय हुआ था. यह घटी साल 2020 में 11 अगस्त को है. इसके अनुसार दही हांडी का उत्सव (Dahi Handi 2020) 12 अगस्त को होगा. जन्माष्टमी का त्यौहार हर साल मनाया जाता है जो भगवान विष्णु के आठवें अवतार भगवान कृष्ण के जन्मदिन (Krishna Birthday) के तौर पर मनाया जाता है. कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami) पूरे देश में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है. यह भगवान कृष्ण के समृद्ध व्यक्तित्व का जश्न मनाने का अवसर है, जिन्होंने बुराई को दूर करने और प्रेम और एकता का संदेश फैलाने के लिए जन्म लिया. मथुरा, गोकुल और वृंदावन जैसे शहरों में जन्माष्टमी समारोह अपनी ऊंचाई तक पहुंचते हैं. विस्तृत उत्सव पूरे दिन जारी रहते हैं, जिसमें "रास लीला" (Rasa Lila) का प्रदर्शन, "झाकियां" सजाना, उपवास करना, भक्ति गीत गाना, "जागरण", "दही हांडी" वगैरह शामिल है. इस साल कोरोना के चलते यह उतने भव्य रूप में नहीं मनाया जा रहा है. 

अगर आप इस शुभ हिंदू त्योहार पर जन्माष्टमी व्रत रखने की योजना बना रहे हैं, तो आपको उपवास करते समय कुछ स्वास्थ्य युक्तियों का पालन करना चाहिए. मसलन, ढेर सारा पानी और फलों का जूस पीना आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होगा. यह शरीर को हाइड्रेट रखता है और आपको आलस महसूस करने से रोकता है.

जन्माष्टमी व्रत के कुछ स्वस्थ सुझावों पर एक नजर (Have a look at some healthy tips for Janmashtami fasting)

1. एक दिन पहले सेहतमंद खाएं: यदि आप इस जन्माष्टमी का व्रत कर रहे हैं, तो आपको एक दिन पहले स्वस्थ भोजन खाना शुरू कर देना चाहिए. जिस दिन आप उपवास कर रहे हैं, यह आपको एक स्वस्थ पाचन तंत्र बनाने में मदद करेगा. जिस दिन आप जन्माष्टमी व्रत रखते हैं उस दिन मसालेदार या तैलीय खाने से गैस्ट्रिक या एसिडिटी की समस्या हो सकती है.
 

2. पानी: आप जिस दिन उपवास करते हैं उस दिन बहुत सारा पानी पीना चाहिए. यदि आपको सूर्यास्त के बाद पानी पीने की अनुमति नहीं है, तो सुनिश्चित करें कि आप पूरे दिन पर्याप्त पानी पीते हैं. पानी शरीर के चयापचय को बढ़ाने में मदद करता है और आपको पूरे दिन हाइड्रेटेड रखता है. साथ ही, पानी आपके पेट को भरा रखने और सभी एसिड को बेअसर करने में मदद करता है. इसलिए, यदि आप इस जन्माष्टमी का उपवास कर रहे हैं, तो कम से कम 5-6 लीटर पानी पीना आवश्यक है.

9qca7bv8

पूरे दिन खुद को हाइड्रेटेड रखें. Photo Credit: iStock

3. फल खाना: जन्माष्टमी का व्रत करते समय अगर आपको फल खाने की इजाजत दी गई है, तो यह स्वास्थ्य टिप वाकई फायदेमंद होगी. पानी के तरबूज या कस्तूरी तरबूज जैसे फल खाने से जिनमें पानी की मात्रा अधिक होती है वे आपको दिनभर ऊर्जावान बनाए रखेंगे. फल पोषक तत्व और विटामिन प्रदान करते हैं, जो शरीर के लिए आवश्यक हैं. एक गिलास दूध के साथ केला या आम जैसे फल लें. 

vtk144s

यदि आप जन्माष्टमी व्रत रख रहे हैं तो आपको बहुत सारे फल खाने चाहिए.Photo Credit: iStock

4. दावत न दें: जब आप अपना उपवास तोड़ते हैं, तो आप अपने आप को भारी भोजन से भर देते हैं. लेकिन अपनी प्लेट को ओवरलोड करके दावत देने से अपच और वजन बढ़ने जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं. जन्माष्टमी व्रत को तोड़ने पर आपको भारी या तैलीय भोजन से बचना चाहिए. 

Newsbeep

5. तले हुए भोजन से बचें: जब आप अपना जन्माष्टमी व्रत तोड़ते हैं, तो पकोड़े, आलू के चिप्स और समोसे जैसे व्यंजन और भारी मिठाइयां तैयार की जाती हैं. इसके बजाय आपको खाना पकाने या रोस्टिंग जैसे स्वस्थ खाना पकाने के विकल्पों का चयन करना चाहिए. तले हुए खाद्य पदार्थों से पेट की समस्याएं जैसे एसिडिटी और गैस हो सकती हैं.

Happy Janmashtami! 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है. यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता. ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें. एनडीटीवी इस जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नहीं लेता.