Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Lyme Disease: क्‍या है लाइम रोग, इसके लक्षण, कारण, इलाज और बचाव के उपाय

Lyme Disease: लाइम रोग, जि‍से लाइम बोरेलियाऑसि‍स (Lyme Borreliosis) के नाम से भी जाना जाता है एक संक्रामक बीमारी है. लाइम रोग एक बैक्टीरिया बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Lyme Disease: क्‍या है लाइम रोग, इसके लक्षण, कारण, इलाज और बचाव के उपाय

लाइम रोग एक बैक्टीरिया बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से होता है.

खास बातें

  1. लाइम रोग को लाइम बोरेलियाऑसि‍स (Lyme Borreliosis) नाम से भी जाना जाता है.
  2. लाइम रोग बोरेलिया बर्गडोरफेरी के काटने से होता है.
  3. चल‍िए जानते हैं लाइम रोग के बारे में सबकुछ...

Lyme Disease: लाइम रोग, जि‍से लाइम बोरेलियाऑसि‍स (Lyme Borreliosis) के नाम से भी जाना जाता है एक संक्रामक बीमारी है. लाइम रोग एक बैक्टीरिया बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से होता है. लाइम रोग का ज‍िक्र बीते दिनों में आपने खूब सुना होगा. इसकी वजह है क‍ि यह संक्रमण खूब फैला रहा है. अब सवाल उठता है क‍ि लाइम रोग क्‍या है, लाइम रोग के लक्षण (Symptoms of Lyme Disease ) क्‍या होते हैं और यह कैसे फैलता है. इसके साथ ही साथ इस बारे में भी पूरी जानकारी लेना जरूरी है क‍ि लाइम रोग से कैसे बचा जा सकता है या इससे बचाव के लिए क्‍या-क्‍या करना चाह‍िए. तो चल‍िए जानते हैं लाइम रोग के बारे में सबकुछ, क्‍या होता है, कैसे होता है, इससे बचाव के उपाय और इलाज क्‍या है... 

How To Avoid Pregnancy: अनचाहे गर्भधारण से बचने में मदद कर सकते हैं ये घरेलू नुस्‍खे


क्‍या होता है लाइम रोग, कारण, लक्षण, बचाव और इलाज (Lyme Disease: Symptoms, Causes, Diagnosis, Treatment) 


क्‍या होता है लाइम रोग (What Is Lyme Disease) 



लाइम रोग एक संक्रामक रोग है जो बैक्टीरिया बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से होता है.  लाइम रोग बेहद तेजी से फैल रहा है. कुछ साल पहले आई खबरों के अनुसार अमरीका में एड्‌स के बाद सबसे तेजी से फैलने वाले संक्रमणों में लाइम रोग का नाम शाम‍िल था. इसके अलावा लाइम रोग के मामले एशिया, यूरोप, और दक्षिण अमरीका में भी देखने को म‍िल रहे हैं.  असल में लाइम रोग सूजन और त्‍वचा के लाल हो जाने से जुड़ा एक संक्रमण है, जो बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से इंसानों में होता है. बोरेलिया बर्गडोरफेरी बेहद छोटे जीव होते हैं, जो हमारी त्वचा से चिपक कर खून चूसते है, जिससे संक्रमण फैलता है. 

ऑर्गेज्म तक न पहुंच पाने के ये हो सकते हैं कारण, आपको भी जरूर जानने चाहिए

क्‍या होता है लाइम रोग का कारण (Lyme Disease: Causes) 

लाइम रोग बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) के काटने से होता है. बोरेलिया बर्गडोरफेरी बेहद छोटे जीव होते हैं, जो हमारी त्वचा से चिपक कर खून चूसते है, जिससे संक्रमण फैलता है. 

u6oo9j5g

Lyme Disease, Symptoms: बुखार आना और ठंड लगना भी लाइम रोग के लक्षण हो सकते हैं.


लाइम रोग के लक्षण (Lyme Disease: Symptoms)

लाइम रोग बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) नाम के कीट के काटने से होता है. यह कीट इतने छोटे होते हैं क‍ि इन्‍हें देख पाना मुश्‍क‍िल होता है. क‍िसी ऐसे कीट के काटने के बाद जोक‍ि संक्रमि‍त हो 3 से 30 द‍िन के अंदर-अंदर इंसानों में लाइम रोग के लक्षण नजर आने लग जाते हैं. एक नजर में जानते हैं लाइम रोग के लक्षणों के बारे में- 

1. लाइम रोग के लक्षण आम तौर पर फ्लू जैसे होते हैं.
2. लाइम रोग होने पर त्‍वचा पर मच्‍छर के काटने जैसे निशान हो जाते हैं. यह न‍िशान एक लाल रंग के ब‍िंदू की तरह होता है, जो धीर-धीरे बड़ा होता जाता है.
3. त्‍वचा पर होने वाले ये लाल रंग के चतके धीरे-धीरे बड़े होते हैं और इनमें खुजली महसूस नहीं होती. 
4. बुखार आना भी लाइम रोग का लक्षण हो सकता है.
5. ठंड लगना. 
6. नाड़ी धीमी होना. 
7. सिसदर्द की समस्‍या बने रहना.
8. थकान महसूस होना. 
9. मासपेश‍ियों में दर्द. 
10. लिम्‍फ नोड्स बढ़ना. 

8 वजहें, आखिर क्यों महिलाओं के लिए अच्छा है हस्तमैथुन

कब जाएं डॉक्‍टर के पास 

लाल चतके होने का मतलब यह नहीं है क‍ि आपको लाइम रोग ही हुआ है. अगर आपको लाल चतको के साथ ऊपर द‍िखाए ये लक्षण भी महसूस हो रहे हैं तो डॉक्‍टर से सलाह लें. 


क्‍या हो सकते हैं खतरे  (Lyme Disease: Complications) 

1. लाइम रोग का इलाज समय पर न क‍िया जाए तो यह दि‍ल के रोगों के खतरे को बढ़ा देता है. 
2. लाइम रोग का समय पर इलाज न क‍िया जाए तो यह जोड़ों के दर्द की समस्‍या भी पैदा कर सकता है.

n6pbo3io

Lyme Disease: बैक्टीरिया बोरेलिया बर्गडोरफेरी (Borrelia Burgdorferi) बेहद छोटा होता है.

कि‍से हो सकता है लाइम रोग (Risk factors of Lyme disease) 

लाइम रोग आमतौर पर 5 से 14 साल के बच्चों और 40 से 50 साल की उम्र के वयस्कों में होता है. लाइम रोग का सबसे पर्याप्त जोखिम कारक उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों जहां टि‍क्‍स से संपर्क आसानी से हो सकता हो - जैसे न्यू इंग्लैंड राज्यों, साथ ही मिनेसोटा और विस्कॉन्सिन हैं. लाइम रोग के अन्य जोखिम कारकों में बाहरी गतिविधियां जैसे जंगल में या खेतों में बागवानी करना आपको लाइम रोग के उच्च जोखिम में डाल देता है.


Sexual Hygiene Tips: हेल्‍दी सेक्‍शुअल लाइफ के लिए ध्यान रखें ये 4 बातें

लाइम रोग का इलाज (Lyme Disease: Treatment)

लाइम रोग में इलाज डॉक्‍टर की नि‍गरानी में होता है. इस बीमारी के शुरुआती चरण में डॉक्‍टर एंटीबायोटिक्स दे सकता है.  लाइम रोग के लि‍ए दिए जाने वाले सामान्य एंटीबायोटिक दवाओं में डॉक्सिसीक्लिन, एमोक्सिसिलिन और सेफूरोक्साइम शाम‍िल हैं. लाइम रोग के नि‍दान के ल‍िए संक्रमित ब्लैकलेग्ड टिकों का इस्‍तेमाल भी क‍िया जा सकता है. 

Remedies for Stamina: यौन शक्ति को बढ़ाने के 6 असरदार घरेलू नुस्खे


लाइम रोग के स्‍टेज : लाइम रोग के तीन स्‍टेज माने गए हैं. 

लाइम रोग की पहली स्‍थि‍त‍ि : पहले स्‍टेज में लाइम रोग के लक्षणों में बुखार, ठंड लगना या त्वचा पर सूजन के साथ चकत्ते दिखना शामिल हैं. 
लाइम रोग की दूसरी स्‍थि‍त‍ि : इस बीमारी के दूसरे में बीमारी तंत्रिका तंत्र में फैलती है. इसमें पाल्सी और मेनिनजाइटिस हो सकते हैं. 
लाइम रोग की तीसरी स्‍थि‍त‍ि : लाइम रोग के तीसरे और अंत‍िम स्‍टेज को खतरनाक माना गया है. इस स्‍टेज में संक्रमण बहुत ज्‍यादा फैल जाता है और मस्तिष्क में सूजन की शि‍कायत या अर्थराइटि‍स या गठिया बन सकता है. 
 

(अस्वीकरण: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है. यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता. ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें. एनडीटीवी इस जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नहीं लेता).

और खबरों के लिए क्लिक करें

सुबह खाली पेट घी के सेवन से कई बीमारियों से मिलता है छुटकारा, ये होंगे कमाल के फायदे!

खाली पेट भीगे हुए काजू, बादाम और किशमिश खाने से ब्लड प्रेशर होगा कंट्रोल, घटेगा मोटापा! और भी कई फायदे कर देंगे हैरान

ये व्यायाम घटाएंगे पेट की चर्बी, वजन कम करने के साथ बनाएंगे बॉडी शेप, मोटापा भी होगा कम!

दीपिका पादुकोण फिट रहने के लिए करती हैं कुछ ऐसा! वाइरल Video से खुला राज

टिप्पणियां

पेट से जुड़ी हर बीमारी के लिए रामबाण हैं ये घरेलू नुस्खे! जानें कौन सी बीमारी में क्या खाएं

रात में सोने से पहले आजमाएं ये ट्रिक्स, अगले ही दिन खिल जाएगी आपकी स्किन!



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अक्षय कुमार ने कोरनावायरस से जंग के लिए दान की सबसे बड़ी रकम, ट्वीट कर दी जानकारी

Advertisement