Navratri 2020: उपवास करने से होते हैं ये 5 नुकसान, जानें इनसे बचने के तरीके, इस तरह करें हेल्दी उपवास बरतें ये सावधानियां!

Navratri 2020 Fasting Rules: नवरात्रि में कई लोग उपवास रखते हैं. इस बार यानि 2020 की नवरात्रि (Navratri 2020) 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक हैं. नवरात्रि में कुछ लोग 9 दिनों तक उपवास (Fasting) रखते हैं. आपने उपवास रखने के फायदे सुने होंगे, लेकिन कई दिनों तक लगातर उपवास रखने के कई दीर्घकालिक हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं. उपवास के नुकसान (Disadvantages Of Fasting) से बचने के यहां कई तरीके बताए गए हैं...

Navratri 2020: उपवास करने से होते हैं ये 5 नुकसान, जानें इनसे बचने के तरीके, इस तरह करें हेल्दी उपवास बरतें ये सावधानियां!

Disadvantages Of Fasting: इस बार यानि 2020 की नवरात्रि 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक हैं.

खास बातें

  • उपवास करने के कई स्वास्थ्य नुकसान हो सकते हैं.
  • यहां जानें उपवास के दौरान किन बातों का रखना चाहिए ध्यान.
  • नवरात्रि में हेल्दी उपवास के लिए फॉलो करें ये कुछ टिप्स.

Navratri 2020: नवरात्रि में कई लोग उपवास रखते हैं. इस बार यानि  2020 की नवरात्रि (Navratri 2020) 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक हैं. नवरात्रि में कुछ लोग 9 दिनों तक उपवास (Fasting) रखते हैं. आपने उपवास रखने के फायदे सुने होंगे, लेकिन कई दिनों तक लगातर उपवास रखने के कई दीर्घकालिक हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं. उपवास के नुकसान (Disadvantages Of Fasting) में प्रतिरक्षा प्रणाली को नुकसान होना, जिगर और गुर्दे सहित शरीर के कई अंगों को भी नकारात्मक रूप से प्रभावित होना शामिल है. कई लोग उपवास के दौरान पूरे दिन भूखे रहते हैं, जिसका सेहत पर बुरा असर हो सकता है. कुछ लोग व्रत को डाइटिंग (Fasting Diet) का ऑप्शन समझते हुए महज इसलिए व्रत रखते हैं कि इससे वजन कम हो जाएगा. व्रत के दौरान खानपान का जो तरीका अपनाया जाता है, वह सेहत के लिहाज से कहीं से भी फायदेमंद नहीं होता क्योंकि व्रत में हम ज्य़ादातर हाई कैलरी वाली चीजों का सेवन करते हैं.

इसलिए अगर लगातार लंबे समय तक व्रत रखा जाए तो यह सेहत के लिए बहुत नुकसानदेह साबित होता है. उपवास महत्वपूर्ण शारीरिक कार्य में रुकावट पैदा कर सकता है. खाने से परहेज उन लोगों में भी खतरनाक हो सकता है जो पहले से कुपोषित हैं. उपवास के कई तरीके हैं, सूखा उपवास (या सभी तरल पदार्थ और भोजन के सेवन से बचना) विशेष रूप से खतरनाक है. शुष्क उपवास (जल्दी से निर्जलीकरण को जन्म दे सकता है) गर्मी, शारीरिक काम जैसे कारक कुछ ही घंटों में शुष्क उपवास को घातक बना सकते हैं. नवरात्रि में उपवास के नुकसानों (Disadvantages Of Fasting In Navratri) से बचने के लिए क्या करना चाहिए?

उपवास करने के 5 नुकसान | 5 Disadvantages Of Fasting

1. चिड़चिड़ापन

अगर उपवास आपकी आदतों में न हो तो लंबे समय तक उपवास रखने से आपके स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता है. अगर आप लगातार 9 दिनों तक अनहेल्दी उपवास करते हैं, तो आपका स्वभाव चिडचिड़ा हो सकता है. स्वभाव में बदलाव या चिड़चिड़ापन होना भी उपवास में तब सामान्य हो सकता है, जब आपको उपवास की आदत न हो. यह ऐसा सीजन है जब लोग छोटे अंतराल में ज्यादा उपवास करते हैं.

s8btbqngDisadvantages Of Fasting: स्वभाव में बदलाव या चिड़चिड़ापन होना भी उपवास का साइडइफेक्ट हो सकता है

2. कमजोरी या चक्कर आना 

उपवास के नुकसानों में से एक कमजोरी और चक्कर आना भी शामिल है. आपकी सेहत की स्थिति का इसमें बड़ा योगदान होता है. अगर आप किसी भी तरह से बीमार हैं, तो आपके लिए उपवास सुखदायी नहीं होगा. इससे आपको कमजोरी और चक्कर आने जैसी समस्या हो सकती है. खासकर अगर आप हेल्दी उपवास न करें, तो आपको यह समस्या ज्यादा हो सकती है.

3. घबराहट

अगर आप कभी-कभी उवास करते हैं, तो आपको घबराहट का अहसास हो सकता है. क्योंकि आपके शरीर को भूखा रहने की आदत नहीं होती है. इस दौरान आपको शरीर में कंपन या घबराहट महसूस हो सकती है जिसका मतलब है आपके शरीर में शर्करा का स्तर असंतुलित हो रहा है. इसको कंट्रोल करने के लिए आपको हेल्दी फलों को डाइट में शामिल करना चाहिए.

4. ज्यादा भूख लगना 

यह भी तब ज्यादा होता है जब आप लंबे समय बाद उपवास रखते हैं. कई लोग नवरात्रि के दौरान 9 दिनों तक उपवास करते हैं और अगर आपको अपवास करने की आदत नहीं है तो आपको ज्यादा भूख का अहसास हो सकता है. इससे आपको कमजोरी भी महसूस हो सकती है. ज्यादा भूख लगने और खाना न खाने से आपका डायजेशन भी गड़बड़ा सकता है.

o484u8dDisadvantages Of Fasting: उपवास के दौरान ज्यादा भूख का अहसास हो सकता है.

5. मोटापा बढ़ सकता है

व्रत के दौरान लोग कई घंटों तक खाली पेट रहते हैं. उसके बाद उन्हें बहुत तेज़ भूख लगती है. इसलिए न चाहते हुए भी उनसे ओवर ईटिंग हो ही जाती है. ऐसे में अंत:स्रावी ग्रंथियों से इंसुलिन का अधिक मात्रा में सिक्रीशन होता है. इससे शरीर में बहुत ज्य़ादा कैलरी अब्ज़ॉर्ब होने लगती है.

उपवास में जरूर रखनी चाहिए 5 सावधानियां | 5 Precautions To Be Taken During Fasting

1. उपवास वाले दिन हल्का भोजन लें. उपवास के बाद एक बार में अधिक या भारी भोजन लेने से  पाचन तंत्र को नुकसान हो सकता है.

2. व्रत के दौरान अत्यधिक शारीरिक मेहनत से बचें. इससे आपकी कैलोरी जल्दी खर्च होती है और भूख भी तेजी से लगती है.
 
3. अगर आप उपवास वाले दिन स्ट्रेस में रहते हैं, तो यह आपका ब्लड प्रेशर गड़बड़ कर सकता है. ऐसे में उपवास वाले दिन मन को शांत रखें.

4. व्रत वाले दिन ऑयली फूड का सेवन न करें. उपवास का असली फायदा फलाहार में ही है. हेल्दी चीजों का सेवन कर ही एनर्जी लें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

5. उपवास वाले दिन जल्दी पचने वाली चीजों का सेवन करें.

इस तरह से करें हेल्दी उपवास | How To Do Healthy Fasting

  1. उपवास में आपको फलों के साथ ऐसी चीजों का सेवन करना चाहिए जो व्रत के दौरान खाए जाते हैं. आपको कभी भी पूरे दिन भूखा नहीं रहना चाहिए.
  2. फलाहार नहीं करना चाहते हैं, तो आप फलों का जूस भी ले सकते हैं.
  3. अगर आप फलों या जूस का सेवन नहीं करना चाहते, तो आंशिक उपवास में 2 से 3 घंटे में एक गिलास पानी में नींबू और एक चम्मच शहद डालकर इसका सेवन कर सकते हैं.
  4. उपवास वाले दिन ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं. क्योंकि यह आपके शरीर को हाइड्रेट रखता है. 
  5.  
  6. उपवास में आप साबूदाने की जगह मोरधन, कूट्टू के आटे या राजगिरे की बनी चीजें या फिर आलू या शकरकंद से बने व्यंजन हेल्दी उपवास का ऑप्शन हैं.
  7. अगर आप उपवास कर रहे हैं और इस दौरान सिर्फ फल पर ही निर्भर हैं, तो आप हर तीन घंटे में कोई फल खा सकते हैं. ऐसे फलों का सेवन करें जो आपके पेट को देर तक भरा रख सकें.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.