COVID-19: 130 से ज्यादा वायरस थेरेपी पर जांच जारी: फार्मा ग्रुप

Possible Treatments For Cronavirus: कोरोनावायरस का संभावित इलाज तलाशने क‍े लिए जारी मश्क्कत में 130 से ज्यादा थेरेपियों पर काम किया जा रहा है. इस बात की जानकारी गुरुवार को फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने दी.

COVID-19: 130 से ज्यादा वायरस थेरेपी पर जांच जारी: फार्मा ग्रुप

दुनियाभर तकरीबन 100 लैब कोव‍िड 19 का टीका तैयार (Covid-19 Vaccine) करने में जुटी हैं.

Possible Treatments For Cronavirus: कोरोनावायरस का संभावित इलाज तलाशने क‍े लिए जारी मश्क्कत में 130 से ज्यादा थेरेपियों पर काम किया जा रहा है. इस बात की जानकारी गुरुवार को फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने दी. इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फार्मास्युटिकल मैन्युफैक्चरर्स एंड एसोसिएशन ने कहा कि फार्मास्युटिकल उद्योग में सहयोग के अभूतपूर्व प्रयासों ने नोवल कोरोनवायरस के लिए सुरक्षित और प्रभावी उपचार की खोज को तेज कर दिया है. 

आईएफपीएमए के निदेशक थॉमस क्यूनी ने कई दवा कंपनी के अधिकारियों के साथ एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि "130 से अधिक COVID-19 थेरेपी पर जांच चल रही है।"

टीम द्वारा एंटी-मलेरिया, एंटी-वायरल, इम्युनोथैरेपी और प्लाज्मा जैसी अलग-अलग थेरेपी पर विचार किया जा रहा है. क्यूनी ने कहा कि उनमें से 77 दवाओं का यह देखने के लिए परीक्षण किया जा रहा है कि क्या उन्हें COVID-19 के इलाज में 
भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जबकि 68 नए उपचार थे. 

उन्होंने कहा ज्यादातर अभी भी टेस्टिंग के शुरुआती स्तर पर है और 25 क्ल‍िन‍िकल ट्राइयल शुरू कर दिए गए हैं. 
 
''यह वास्तव में हम सबके लिए एक अच्छी खबर है, क्योंकि हमें उम्मीद है कि जल्द ही हम कोव‍िड-19 का इलाज और उपचार तलाशने में सफलता पा लेंगे.'' क्यूनी ने कहा. 

एएफपी के आंकड़ों के अनुसार नोवल कोरोनावायरस, जो बीते साल चीन से शुरू हुआ, से दुनियाभर में अब तक तकरीबना 230,000 लोगों की जान जा चुकी है और तकरबीन 32 लाख लोग संक्रमित हैं.
 
विशेषज्ञों ने चेताया है कि केवल वैक्सीन यानी टीका ही इस रोग को कंट्रोल कर पाएगा, जिसने मानवता के आधे हिस्से को लॉकडाउन की कैद में ला दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

लेकिन जहां एक ओर दुनियाभर तकरीबन 100 लैब टीका तैयार करने में जुटी हैं, सही, सुरक्ष‍ित और इस्तेमाल योग्य प्रभाव‍ी टीके को तैयार करने में तकरीबन एक साल तक का समय लग जाएगा.
 
क्यूनी ने कहा प्रभावी इलाज की तलाश को तेज किया जा सकता है.
 

क्यू‍नी ने यह बातें तब कहीं जब अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा एंटीवायरल ड्रग रेमेडिसविर के कोरोनावायरस पर नैदानिक परीक्षण कहा कि रेमेडिसविर के इस्तेमला से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या प्लेसेबो की तुलना में लगभग 30 प्रतिशत तेज रही.