NDTV Khabar

यह हो सकती है मां न बन पाने की वजह! इस बीमारी से ग्रस्त 10 में से 2 महिलाएं नहीं बन पाती मां...

पेल्विक ट्यूबरक्लोरसिस (टीबी) से ग्रस्त हर 10 महिलाओं में से दो गर्भधारण नहीं (Complications of Pregnancy) कर पाती हैं और जननांगों की पेल्विक टीबी के 40-80 प्रतिशत मामले महिलाओं में देखे जाते हैं. चिकित्सकों का कहना है कि अधिकतर वे लोग इसकी चपेट में आते हैं, जिनका इम्यून सिस्टम या रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर होता है और जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यह हो सकती है मां न बन पाने की वजह! इस बीमारी से ग्रस्त 10 में से 2 महिलाएं नहीं बन पाती मां...

Genital Tuberculosis in Females or Pelvic Tuberculosis: पेल्विक ट्यूबरक्लोरसिस (टीबी) से ग्रस्त हर 10 महिलाओं में से दो गर्भधारण नहीं (Complications of Pregnancy) कर पाती हैं और जननांगों की पेल्विक टीबी के 40-80 प्रतिशत मामले महिलाओं में देखे जाते हैं. चिकित्सकों का कहना है कि अधिकतर वे लोग इसकी चपेट में आते हैं, जिनका इम्यून सिस्टम या रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर होता है और जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं. इंदिरा आईवीएफ हास्पिटल कि आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ. सागरिका अग्रवाल का कहना है कि संक्रमित व्यक्ति जब खांसता या छींकता है तब बैक्टरिया वायु में फैल जाते हैं और जब हम सांस लेते हैं यह हमारे फेफड़ों में प्रवेश कर जाते हैं. इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाना भी जननांगों की पेल्विक टीबी होने का एक कारण है. 

Pelvic Tuberculosis Diagnosis: चूंकि यह बैक्टीरिया चुपके से आक्रमण करने वाला है इसलिए उन लक्षणों को पहचानना बहुत मुश्किल है कि पेल्विक टीबी महिलाओं में प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर रही है. इसमें अनियमित मासिक चक्र, योनि से विसर्जन जिसमें रक्त के धब्बे भी होते हैं, यौन सबंधों के पश्चात दर्द होना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं लेकिन कई मामलों में ये लक्षण (संक्रमण) काफी बढ़ जाने के पश्चात दिखाई देते हैं." 


मां बनने का सपने पूरा करेगी यह नई तकनीक...

Pelvic Tuberculosis Treatment: डॉ. सागरिका अग्रवाल ने कहा हालांकि प्रजनन मार्ग में पेल्विक टीबी की उपस्थिति की पहचान करना मुश्किल है, फिर भी कई तकनीकें हैं जिनके द्वारा इस रोग की पहचान की जाती है जैसे जो महिला पेल्विक टीबी से पीड़ित है उसकी डिम्बवाही नलियां और गर्भकला से उतकों के नमूने लिए जाते हैं और उन्हें प्रयोगशाला में भेजा जाता है, जहां बैक्टीरिया विकसित होते हैं और बाद में उन्हें जांच के लिए भेजा जाता है. 

महिला दिवस 2019: हर साल 3 में से 1 महिला की होती है मौत, वजह दिल की बीमारी...!

उन्होंने कहा कि सबसे विश्वसनीय पद्धति है कि पेल्विक टीबी करने वाले बैक्टीरिया की हिस्टो लॉजिकल डायग्नोसिस या औतकीय पहचान की जाए, जो चिकित्सकों को लैप्रोस्कोपी में यह सुनिश्चित करने में सहायता करते हैं कि यह संदेहास्पद घाव टीबी के कारण है या नहीं. इसके डायग्नोसिस के लिए पॉलीमरैज चेन रिएक्शन पद्धति का भी प्रयोग किया जाता है, लेकिन दुर्भाग्य से यह बहुत महंगी है और विश्वसनीय भी नहीं है. 

PCOD: औरतों के मुंह पर दाढ़ी मूंछ और पिंपल्स हो सकते हैं इस बीमारी की देन...

कैंसर को रोका भी जा सकता है! पर कैसे? यहां जानें

मां बनने के लिए इलाज किस तरह करने हैं डॉक्टर : डॉ. सागरिका ने कहा कि कई डॉक्टर इन नलियों को ठीक करने के लिए सर्जरी करते हैं, लेकिन यह कारगर नहीं होती है. अंत में संतानोत्पत्ति के लिए इन-व्रिटो फर्टिलाइजेशन की सहायता लेनी पड़ती है. उन वयस्कों में पेल्विक टीबी का संक्रमण जल्दी फैलता है जो कुपोषण के शिकार होते हैं, क्योंकि इनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है. इसलिए उपचार के दौरान खानपान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. 

अब IVF से भी हो रही है फेल, आखिर क्या है वजह...

महिलाओं की योनी में क्यों लगानी पड़ती है जाली! क्या होते हैं नुकसान और क्या हैं विकल्प

आहार में करें ये बदलाव : ऐसे लोगों को एटरैटेड प्रोडक्ट्स, अल्कोहल, संसाधित मांस और मीठी चीजों जैसे पाई, कप केक आदि के सेवन से बचना चाहिए. उनके भोजन में पत्तेदार सब्जियां, विटामिन डी और आयरन के सप्लीमेंट्स, साबुत अनाज और असंतृप्त वसा होना चाहिए. 

डॉ. सागरिका ने बताया, "भोजन पेल्विक टीबी के उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, अनुपयुक्त भोजन से उपचार असफल हो सकता है और द्वितीय संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है." 

और खबरों के लिए क्लिक करें.

ये भी पढ़ें -

'Black Hairy Tongue': बला नहीं बीमारी है काली जुबान, जानें इसके बारे में...

डिप्रेशन की वजह हो सकता है आपका आहार, जानें कैसे

जानिए क्‍या करें जब लिंग का अग्रभाग हो संवेदनशील

ऑर्गेज्म तक न पहुंच पाने के ये हो सकते हैं कारण, आपको भी जरूर जानने चाहिए

8 वजहें, आखिर क्यों महिलाओं के लिए अच्छा है हस्तमैथुन, जानें लाइफस्टाइल कोच लुक कुटिनो से

टिप्पणियां

अनचाहे गर्भधारण से बचने में मदद कर सकते हैं ये घरेलू नुस्‍खे

Sexual Hygiene Tips: हेल्‍दी सेक्‍शुअल लाइफ के लिए ध्यान रखें ये 4 बातें



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement