Lunar Eclipse (Chandra Grahan): 5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा पर लगेगा चंद्रग्रहण, जानें समय, सूतक और सेहत से जुड़ी मान्यताओं के बारे में

Lunar Eclipse (Chandra Grahan) 2020: 5 जुलाई (5 July 2020) को साल का तीसरा चंद्रग्रहण लगेगा. यह तो हमने आपको बता दिया कि चंद्र ग्रहण कब है (Chandra Grahan Kab hai). अब बताते हैं क‍ि यह कैसा ग्रहण होगा. असल में 5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण (Penumbral Lunar Eclipse) होगा.

Lunar Eclipse (Chandra Grahan): 5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा पर लगेगा चंद्रग्रहण, जानें समय, सूतक और सेहत से जुड़ी मान्यताओं के बारे में

Chandra Grahan: 5 जुलाई को साल का तीसरा चंद्र ग्रहण लगेगा.

खास बातें

  • इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण 5 जुलाई का लग रहा है.
  • गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक ही दिन पड़ रहे हैं.
  • यहां जानें चंद्र ग्रहण का समय और सूतक काल.

Lunar Eclipse (Chandra Grahan) July 2020 Date, Timings in India: 5 जुलाई को साल का तीसरा चंद्रग्रहण लगेगा. इसी दिन गुरु पूर्णिमा 2020 (Guru Purnima 2020) भी है. यह तो हमने आपको बता दिया कि चंद्र ग्रहण कब है (Chandra Grahan Kab hai). अब बताते हैं क‍ि यह कैसा ग्रहण (Chandra Grahan 2020 होगा. असल में 5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण (Penumbral Lunar Eclipse) होगा. अब अगर आप जानना चाहते हैं कि क्या चंद्र ग्रहण भारत में दिखेगा? तो इसका जवाब है कि यह ग्रहण आपको भारत में दिखाई नहीं देगा. चलिए जानते हैं साल 2020 में लगने वाले ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) के बारे में और यह भी कि यह आपकी सेहत पर वाकई प्रभाव डालता है या नहीं. क्या किसी भी तरह के ग्रहण का आपकी सेहत पर असर होता है. ग्रहण के दौरान खाने से जुड़ी सावधानियों को लेकर कैसी मान्यताएं हैं और क्या ग्रहण के दौरान गर्भवति महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्चों को वाकई असर होता है... 

ग्रहण में सेहत और आहार से जुड़ी मान्यताएं 

- माना जाता है कि ग्रहण लगने से पहले ही सूतक काल शुरू हो जाता है. सूतक काल लगने के बाद से कुछ भी खाना नहीं चाहिए. 

- माना जाता है कि ग्रहण पोषक तत्वों को प्रभावित कर सकता है. इस दौरान खाना पकाने से भी मनाही होती है. 

- कुछ लोग पूरे ग्रहण के दौरान व्रत रखते हैं और कुछ खाते व पीते नहीं हैं. बीमार लोगों को इस दौरान पूरी तरह से उपवास भी नहीं रखना चाहिए.

- गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान सात्विक भोजन लेने की सलाह दी जाती है. 

- कहा जाता है कि पानी में 8-10 बूंदे तुलसी के पत्ते डालकर इसे उबाल कर इसे पीना चाहिए. 

ग्रहण के दौरान गर्भावस्था से जुड़े मिथ (Myths Related To Pregnancy During Eclipse)

आमतौर पर सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण दोनों के ही गर्भावस्था के लिए एकसे ही नियम होते हैं. हमनें इस नियमों और उनकी सटीकता के बारे में बात की द्वारका में मणिपाल हॉस्पिटल की डॉक्टर याशिका गुड़ेसर से. उनका का कहना है कि ''अब महिलाएं और पुरुष दोनों काम कर रहे हैं. ग्रहण जैसे मौकों पर छुट्टी मुश्किल ही है. हमें ऐसे मिथकों से बचना चाहिए. हमें अपनी दिनचर्या जारी रखनी चाहिए. खाने पीने से परहेज नहीं करना चाहिए खासकर गर्भवती महिलाओं को 2 से 3 घंटे से ज्यादा खाली पेट नहीं रखना चाहिए. इससे मां के स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता है. साथ ही सोने की मनाही से भी परहेज करना चाहिए. एक गर्भवती महिला के लिए जितना पौष्टिक खाना जरूरी होता है उतनी ही एक अच्छी नींद भी जरूरी है.''

डॉक्टर याशिका गुड़ेसर ने कहा कि 'ग्रहण एक पैरा कॉस्मिक घटना है. जिसका मनुष्यों पर असर बैज्ञानिक रूप से सिद्ध नहीं हुआ है. कुछ अध्ययनों का कहना है कि ग्रहण के दौरान इंसानी बर्ताव और ब्लड प्रेशर में कुछ बदलाव हो सकते हैं लेकिन यह साबित नहीं हुए हैं.'' 

चंद्र ग्रहण कब है? (Penumbral Lunar Eclipse on June 5–6, 2020)

साल 2020 में 5 जुलाई को यानी रवि‍वार को लगने वाला चंद्रग्रहण असल में लास एंजिस में 4 जुलाई को रात 08:05 से 10:52 तक रहेगा. अनुमान है कि यह तकरीबन पौने तीन घंटे तक रहेगा. वहीं केपटाउन में यह 5 जुलाई को देखा जाएगा वहां के समयानुसार सुबह 5 बजे तक रहेगा. अब जानते हैं साल 2020 में कब-कब लगेंगे ग्रहण. 

साल 2020 में कब-कब लगेंगे ग्रहण (How many lunar eclipses will there be in 2020) 

5 जुलाई को लगने वाले चंद्रग्रहण के बाद अगला चंद्रग्रहण ठीक 5 महीने 25 दिन बाद 30 नवंबर को लगेगा. इसके बाद 14 दिसंबर 2020 को पूर्ण सूर्यग्रहण होगा. यह ग्रहण भी भारत में नहीं देखे जा सकेंगे. अब जानते हैं चंद्रग्रहण का समय और सूतक काल. तो क्योंकि इस ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा इसलिए सूतक काल मान्य नहीं होगा. 

क्या चंद्र ग्रहण भारत में दिखेगा और कहां कहां दिखेगा ग्रहण (Lunar Eclipse (Chandra Grahan) on July 5: Duration, Visibility in India) 

भारत में इस ग्रहण को नहीं देखा जा सकेगा. यह ग्रहण  यूरोप, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा. इस ग्रहण का कुल समय तकरीबन पौने तीन घंटे कहा जा रहा है. 

q1pc7l2k

Penumbral Lunar Eclipse 2020: 5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण है. 

चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण कैसे लगता है? (What's Lunar Eclipse, How It Occurs)

अगर आप भी सोच रहे हैं कि चंद्रगहण कैसे लगता है तो आपको बता दें कि चंद्र ग्रहण हो या सूर्य ग्रहण दोनों ही खगोलीय घटानाएं हैं. चंद्र ग्रहण तब लगता है जब चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे उसकी प्रच्छाया में आता जाता है. 

क्या होता है उपच्छाया चंद्र ग्रहण? (What is Penumbral Lunar Eclipse) 

Newsbeep

जानते हैं कि उपच्छाया चंद्र ग्रहण आखि‍र क्या होता है. असल में उपच्छाया चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) उस ग्रहण को कहा जाता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्‍वी आती है. इस भौगोलिक स्थि‍ति में ये तीनों एक सीध में नहीं होते हैं. इस दौरान पृथ्वी के बीच के हिस्से से पड़ने वाली छाया को अंब्र (Umbra) कहते हैं. तो वहीं चांद के बाकी हिस्‍से में पृथ्‍वी के बाहरी हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे पिनम्‍ब्र या उपच्छाया (Penumbra) कहते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(डॉ. याशिका गुड़ेसर, एचओडी, ओबीजीवाई मणिपाल हॉस्पिटल द्वारका)