दिल्ली एनसीआर में हवा 'खराब', सरकारी संस्‍था ने कहा, 'दवा साथ लेकर चलो'

Pollution In Delhi Today Live: दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में बुधवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 273 रिकॉर्ड किया गया. जो आपकी सेहत को प्रभावित कर सकती है. हवा में प्रदूषण (Air Pollution) का यह स्‍तर अस्‍थमा के रोगियों के लिए खतरनाक है.

दिल्ली एनसीआर में हवा 'खराब', सरकारी संस्‍था ने कहा, 'दवा साथ लेकर चलो'

Pollution In Delhi Today Live: दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में बुधवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 273 रिकॉर्ड किया गया. जो आपकी सेहत को प्रभावित कर सकती है. हवा में प्रदूषण (Air Pollution) का यह स्‍तर अस्‍थमा के रोगियों के लिए खतरनाक है. वायु गुणवत्ता के स्‍तर (Air Quality Index) की यह जानकारी केंद्र संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्ट एंड रिसर्च यानी सफर ने दी. क्षेत्र में प्रमुख प्रदूषक तत्व पीएम 10 और पीएम 2.5 की संख्यां क्रमश: 228 और 112 मापी गई. वायु प्रदूषण के लिहाज से यह स्थिति 'खराब' श्रेणी में है. सफर ने अस्थमा से पीड़ित लोगों को दवा अपने साथ रखने की सलाह दी है. 

किडनी के लिए बेहद खतरनाक है Air Pollution!, लेकिन कितना...

हालांकि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की भविष्यवाणी के अनुसार बुधवार को गरज-चमक के साथ आंधी-तूफान की संभावना है, ऐसे में वायु गुणवत्ता का स्तर गिर सकता है.

सफर के अनुसार, "पश्चिमी विक्षोभ, उत्तरी-पश्चिमी भारतीय क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है, जिससे वायु गति में तेजी आ सकती है. एक्यूआई 20 फरवरी तक खराब श्रेणी के निचले स्तर पर जा सकता है. वहीं 21 फरवरी तक वायु गुणवत्ता में सुधार हो सकता है."आईएमडी के अनुसार, सफदरजंग क्षेत्र का तापमान सुबह 8.30 बजे 10.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है पॉल्यूशन, कैसे बचें

प्रदूषण से हो सकती हैं ये समस्याएं -

- वायु प्रदूषण के कारण अस्थमा होने की आशंका बढ़ जाती है.
- वायु प्रदूषण से आप एलर्जी कारकों के प्रति बेहद संवेदनशील हो सकते हैं.
- आप बीमार और थकान महसूस करने लगते हैं.
- वायु प्रदूषण सांस से जुड़े संक्रमण बढ़ा सकता है.
- फेफड़ो को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है.

खुद को प्रदूषण से कैसे बचाएं  

- कोशिश करें कि जो काम घर में रहकर किए जा सकते हैं उनके लिए बाहर न निकलना पड़े. 
- अगर बाहर जाना जरूरी है तो मास्‍क लगाकर निकलें. 
- ध्यान रखें कि सामान्‍य कपड़े का नहीं एंटी पॉल्‍यूशन मास्क का इस्‍तेमाल करें.
- खाने में पोषक तत्‍वों का ध्‍यान रखें. 
- अगर स्मॉग अधिक है तो बच्चों को आउटडोर गेम्सक खेलने से रोकें. 
- बच्चे को अधिक से अधिक तरल पदार्थ खिलाएं.
- अगर आप मुंह पर मास्क लगा कर बाहर निकल रहे हैं, तो उसे बार-बाद छूएं नहीं.

कई तरह के कैंसर की वजह बन सकता है वायु प्रदूषण

और खबरों के लिए क्लिक करें

दिवाली के बाद दिल्ली में धुंध, वायु गुणवत्ता में गिरावट

हर चार में से तीन औरतों को है यह रोग, बचाव है बेहद आसान...

Home Remedies: दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ा, कैसे बचाएं खुद को, पढ़ें नुस्खे

किडनी के लिए बेहद खतरनाक है Air Pollution!, लेकिन कितना...

#Pranaairmotionmask: अब वायु प्रदूषण से बचाएगा प्राणा एयर मोशन मास्क

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिल की बनावट में चेंज ला सकता है जलवायु प्रदूषण

किस तरह नुकसान पहुंचा सकता है वायु प्रदूषण, क्या हैं इससे बचने के उपाय...