मॉनसून में क्यों ऑयली हो जाती है स्किन? एक्सपर्ट से जानें Oily Skin से कैसे पाएं छुटकारा!

How To Control Oily Skin: ऑयली स्किन एक आम त्वचा की समस्या है जिसका सामना मानसून के दौरान कई लोगों को करना पड़ता है. कई कारक जिससे बरसात के मौसम में स्किन की समस्याएं (Skin Problems) बढ़ जाती हैं. एक्सपर्ट्स ने मानसून में स्किन प्रोब्लम्स का कारण (Causes Of Skin Problems) और इनसे राहत पाने के उपायों के बारे में बताया है.

मॉनसून में क्यों ऑयली हो जाती है स्किन? एक्सपर्ट से जानें Oily Skin से कैसे पाएं छुटकारा!

Skincare Tips: मानसून के दौरान ऑयली स्किन से लड़ने के लिए स्किनकेयर उत्पादों का चयन करें

खास बातें

  • ऑयली स्किन पर अक्सर मुंहासे हो सकते हैं.
  • मानसून के दौरान आप तैलीय त्वचा का अनुभव कर सकते हैं.
  • अतिरिक्त तेल से छुटकारा पाने के लिए आप दिन में दो बार चेहरा धोएं.

How To Get Rid Of Oily Skin: मौसम में बदलाव के साथ, आपकी त्वचा कई परिवर्तनों से गुजरती है. क्या आप भी ऑयली और चिपचिपी त्वचा (Oily And Sticky Skin) से परेशान हैं? यह काफी अप्रिय भावना हो सकती है जो आपकी स्किन को सुस्त और कई समस्याओं को जन्म दे सकती है. मानसून के दौरान, ऑयली स्किन (Oily Skin) एक आम स्किन प्रोब्लमस है, जिसका सामना कई लोग करते हैं. अतिरिक्त तेल उत्पादन आपकी त्वचा को विभिन्न तरीकों से प्रभावित करता है. यह मुंहासे (Acne), ब्लैकहेड्स के कारणों में से एक हो सकता है और आपको एक चिकना लुक देता है. सामान्य या शुष्क त्वचा वाले लोग भी मानसून और गर्मियों के दौरान तैलीय त्वचा (Oily SKin) का अनुभव करते हैं. आप सोच रहे होंगे कि मानसून के दौरान अतिरिक्त तेल उत्पादन क्या होता है? इससे कैसे लड़ें? हमने आपके लिए इन सभी को कवर कर लिया है. मैक्स अस्पताल की वरिष्ठ त्वचा विशेषज्ञ डॉ. मंजू केशरी इन सवालों के जवाब बताती हैं.

इन कारणों से मानसून में ऑयली हो जाती है स्किन | Due To These Reasons, The Skin Becomes Oily In The Monsoon

ऑयली स्किन एक आम त्वचा की समस्या है. गर्म मौसम के दौरान कई शिकायतें होती हैं. यह स्थिति विशेष रूप से मानसून के मौसम के दौरान बढ़ जाती है. तेल या सीबम आपके चेहरे पर मौजूद वसामय ग्रंथियों द्वारा निर्मित होता है. इसका स्राव चेहरे पर एक सुरक्षात्मक परत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह न केवल सुरक्षा करता है बल्कि त्वचा को हाइड्रेट करने में भी मदद करता है.

5vptev3Skincare Tips: तैलीय त्वचा पर मुंहासे हो सकते हैं, रोमछिद्र बंद हो सकते हैं और त्वचा की अन्य समस्याएं हो सकती हैं

डॉ. केशरी बताते हैं, "कई कारक आनुवांशिक, हार्मोनल और पर्यावरणीय कारकों सहित तेल या सीबम स्राव को प्रभावित कर सकते हैं. इसलिए, हार्मोनल असंतुलन होने पर स्राव में परिवर्तन होता है. आप एक बदलाव का अनुभव कर सकते हैं अगर आप चीनी और कार्बोहाइड्रेट के रूप में हाई डाइट का सेवन कर रहे हैं. ये वसामय ग्रंथियों के लिए एक प्रेरणा के रूप में कार्य करते हैं."

डॉ. केशरी कहते हैं, "एक और मुख्य कारक पर्यावरण है. गर्मी और मानसून के दौरान सीबम का उत्पादन बढ़ता है. मानसून में, दिन अत्यधिक आर्द्र होते हैं, जिससे पसीने का कम वाष्पीकरण होता है.

sr8ekhm8Skincare Tips: तैलीय त्वचा से लड़ने के लिए अपने स्किनकेयर रूटीन में आवश्यक बदलाव करें

मानसून के दौरान ऑयली स्किन से कैसे लड़ें? | How To Fight Oily Skin During Monsoon?

धोने या बहुत अधिक रगड़ने पर, त्वचा इस समस्या का समाधान नहीं करेगी, बल्कि ये ग्रंथियां अधिक सक्रिय हो सकती हैं और अधिक सीबम का स्राव करना शुरू कर सकती हैं. आपको दिन में दो बार माइल्ड क्लींजर से चेहरा साफ करना चाहिए. मानसून में विशेष रूप से तैलीय त्वचा वालों के लिए सही उत्पादों को लागू करना बहुत महत्वपूर्ण है. मॉइस्चराइज़र और सनस्क्रीन इस मौसम के लिए उपयुक्त होंगे. आपको अपने आहार में भी बदलाव करना चाहिए. डॉ. केशरी बताते हैं कि आपको तली हुई, तैलीय और चीनी युक्त खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए.

Newsbeep

(डॉ. मंजू केशरी, वरिष्ठ सलाहकार, त्वचा विज्ञान विभाग, मैक्स अस्पताल, पटपड़गंज)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.