NDTV Khabar

World Diabetes Day: जानें क्या हो सकती हैं टाइप 2 डायबिटीज की जटिलताएं और लक्षण...

Diabetes day 2019: टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 diabetes) और टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes). दोनों में से टाइप 2 डायबिटीज के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं. आप जानना चाह रहे होंगे कि टाइप 2 डायबिटीज क्या होती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
World Diabetes Day: जानें क्या हो सकती हैं टाइप 2 डायबिटीज की जटिलताएं और लक्षण...

World Diabetes Day: आहार में रिफाइंड कार्बस लेने से बचें.

खास बातें

  1. इस साल डायबिटीज डे की थीम है फैमिली एंड डायबिटीज (Family and Diabetes).
  2. 14 नवंबर (November 14) के दिन हर साल वर्ल्ड डायबिटीज डे मनाया जाता है.
  3. डायबिटीज दो तरह की होती है. टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज.

World Diabetes Day: 14 नवंबर (November 14) के दिन हर साल वर्ल्ड डायबिटीज डे मनाया जाता है. हर साल विश्व मधुमेह दिवस को एक थीम दी जाती है. इस साल डायबिटीज डे की थीम है परिवार और डायबिटीज यानी फैमिली एंड डायबिटीज (Family and Diabetes) डायबिटीज दो तरह की होती है. टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 diabetes) और टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes). दोनों में से टाइप 2 डायबिटीज के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं. आप जानना चाह रहे होंगे कि टाइप 2 डायबिटीज क्या होती है. असल में यह वह स्थिति है जब शरीर इंसुलीन को सही तरह से इस्तेमाल करने में सक्षम नहीं होता. ऐसा होने से शरीर को ऊर्जा के दूसरे स्रोतों पर निर्भर होना पड़ता है. टाइप 2 डायबिटीज बेहद धीमी गति से बढ़ती है. यही वजह है कि इसके लक्षण (Type 2 Diabetes Symptoms) एकदम से नजर नहीं आते. तभी तो कहा भी जाता है कि डायबिटीज धीमा जहर है. टाइप 2 डायबिटीज के लक्षणों में बार-बार भूख लगना. थकान महसूस होना, बिना मेहनत वजन कम होना, बार-बार पेशाब आना, नजर कमजोर होना और त्वचा पर खुजली होना. टाइप 2 डायबिटीज के लक्षण समय के साथ साथ बढ़ सकते हैं और बुरे भी हो सकती हैं. यह कई तरह के संक्रमणों का कारण बन सकती है. शरीर के कई हिस्सों का सुन हो जाना. जख्मों को भरने में समय लगना वगैरह भी मधुमेह के लक्षण हैं. 

Remedies For Diabetes: सर्दियों में खाएं ये बस 4 चीजें, ड़ायबीटिज होगी कंट्रोल


World Diabetes Day: टाइप 2 डायबिटीज में होने वाली जटिलताएं यानी कॉम्लिकेशन्स (Complications)

आपको टाइप 2 डायबिटीज की शिकायत हो सकती है अगर आपको इनमें से कोई 2 भी लक्षण नजर आते हैं. डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आपको कुछ बचाव के उपाय अपनाने होंगे. अगर टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करना चाहते हैं तो यहां हम बता रहे हैं कुछ टिप्स- 

Diabetes Mistakes: ये 5 गलतियां बढ़ा सकती हैं आपका बल्ड शुगर लेवल, ऐसे करें कंट्रोल...

टाइप 2 डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए टिप्स 

  • वजन कम करें और स्वस्थ वजन का प्रबंधन करने की दिशा में काम करें.
  • नियमित व्यायाम करें और अपने वर्कआउट रूटीन में हेवी एक्सरसाइज शामिल करें.
  • अच्छी नींद लें.
  • ब्रेड, पास्ता, डीप-फ्राइड, जंक और प्रोसेस्ड फूड में रिफाइंड कार्ब्स का सेवन कम करें.
  • अपने आहार में ताजे फल, सब्जियां, दालें, फलियां, नट्स और बीज शामिल करें.
  • चीनी खाद्य पदार्थों और डेसर्ट के सेवन से बचें.
  • तनाव न लें.
  • शारीरिक रूप से सक्रिय रहें.

जानें कैसे आपकी आंखें बता सकती हैं आपको डायबिटीज है कि नहीं

08o4j6c8

World Diabetes Day 2019: टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए वजन कम करने की सलाह दी जाती है.

Blood Sugar Levels: ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के 4 आसान तरीके!

टाइप 2 डायबिटीज की कॉम्पलिकेशन (Type 2 diabetes complications)

अगर आप टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में सफल नहीं हो पाते तो आ सकती हैं ये कॉम्पलिकेशन्स- 

1. नजरें हो सकती हैं कमजोर : टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों में दृष्टि समस्याएं आम हैं. डायबिटीज आपकी आंखों की छोटी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है. इससे ग्लूकोमा, मोतियाबिंद और मधुमेह संबंधी रेटिनोपैथी का खतरा बढ़ सकता है. इन स्थितियों से समय के साथ दृष्टि हानि हो सकती है.

2. नर्व डैमेज: मधुमेह न्यूरोपैथी या नर्व डैमेज का खतरा बढ़ा देती है. यदि आपको टाइप 2 मधुमेह है, तो यह खतरा बना रहता है उस स्थिति में जब कि डायबिटीज को कंट्रोल न किया जा रहा हो. यह आपके हाथों और पैरों को प्रभावित कर सकता है. इसके लक्षणों में सुन्नता, झनझनाहट या जलन, दर्द, दृष्टि समस्याएं, कमजोरी शामिल हैं.
अगर दिखें ये 8 लक्षण, तो आप इस बीमारी से हो सकते हैं पीड़ित

3. उच्च रक्तचाप: टाइप 2 मधुमेह आपको उच्च रक्तचाप और हृदय रोग के खतरे में डाल सकता है. अपने रक्तचाप की नियमित जांच करें यदि आपको टाइप 2 मधुमेह है और कम सोडियम वाले आहार का पालन करें.

9p0inbr

World Diabetes Day 2019: टाइप 2 मधुमेह हाई बीपी यानी उच्च रक्तचाप और हृदय रोग के खतरे को बढ़ा सकता है.

4. फुट अल्सर: नसों और रक्त संचार खराब होने से पैरों के अल्सर जैसी समस्या हो सकती है. ये पैर के अल्सर कभी-कभी संक्रमित हो सकते हैं. कई बार स्थिति गंभीर होने पर पैरों को काटने तक की नौबत आ जाती है. पैर के अल्सर से बचने के लिए, मधुमेह रोगियों को अपने पैरों को साफ और सूखा रखना चाहिए. आरामदायक, सांस वाले मोजे पहनें. 

Diabetes Diet: डायबिटीज में खाएं ये 5 फल, कंट्रोल होगा ब्लड शुगर लेवल

5. किडनी को नुकसान: ब्लड शुगर लेवल के कारण किडनी की समस्या हो सकती है. यह गुर्दे की अपशिष्ट को फ़िल्टर करने और गुर्दे को नुकसान पहुंचाने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है. इस प्रकार रक्त शर्करा नियंत्रण टाइप 2 मधुमेह के प्रबंधन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है.

Diabetes Management: रसोई में रखी ये 4 चीजें करेंगी ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल

6. खराब मौखिक स्वास्थ्य: टाइप 2 मधुमेह खराब मौखिक स्वास्थ्य का कारण बन सकता है. स्थिति छोटी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाती है, जिसमें आपके दांत और मसूड़ों को पोषण करना भी शामिल है. 

डायबिटीज को दूर भगा देंगी ये 4 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

(अस्वीकरण: यहां दी गई सामग्री या सलाह केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

टिप्पणियां

और खबरों के लिए क्लिक करें.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement