World Hypertension Day 2020: एक्सपर्ट के बताए ये योगासन हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए हैं रामबाण! रोजाना करें अभ्यास

World Hypertension Day 2020: योग संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है. पौष्टिक भोजन का सेवन, अच्छी नींद आपके ब्लड प्रेशर लेवल (Blood Pressure Level) को कम करने में मदद कर सकती है, लेकिन ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए इस बात पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि आप कौन सी एक्सरसाइज (Exercise) कर रह हैं. यहां कुछ योगासनों (Yogasan) के बारे में बताया है जिन्हें आप आजमा सकते हैं.

World Hypertension Day 2020: एक्सपर्ट के बताए ये योगासन हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए हैं रामबाण! रोजाना करें अभ्यास

World Hypertension Day 2020: योग आपको उच्च रक्तचाप को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने में मदद कर सकता है

खास बातें

  • उच्च रक्तचाप आपके स्वास्थ्य को कई तरीकों से प्रभावित करता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर को अनकंट्रोल नहीं छोड़ना चाहिए.
  • योग हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है.

World Hypertension Day 2020: ब्लड प्रेशर जिसका लो या हाई दबाव के रूप में निदान किया जा सकता है, इसे हाइपोटेंशन और हाई ब्लड प्रेशर के रूप में वर्गीकृत किया जाता है. आज यानि 17 मई को दुनियाभर में वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे (World Hypertension Day) मनाया जा रहा है. दुनिया भर में अनुमानित 972 मिलियन लोग हैं जो ब्लड प्रेशर की समस्या (Blood Pressure Problerm)  से पीड़ित हैं. यह बड़ी संख्या हाई ब्लड प्रेशर के साथ दुनिया की आबादी का लगभग 26 प्रतिशत है. काम से संबंधित तनाव, अच्छी नींद न लेना, अस्वस्थ रहने के चक्र को सेट कर सकता है, भोजन जो आपके शरीर की पोषण संबंधी आवश्यकताओं, अनियमित नींद को पूरा नहीं करता है. ऐसा करने से न सिर्फ आपको भूख कम लगती है बल्कि आप हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की चपेट में भी आ सकते हैं.

हाई ब्लड प्रेशर के कारण (Causes Of High Blood Pressure) कई हैं. मानव शरीर में हृदय और रक्त परिसंचरण कैसे काम करता है, ब्लड प्रेशर इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इसे चिकित्सकीय रूप से आपकी धमनियों की दीवारों पर आपके रक्त के दबाव के रूप में परिभाषित किया जाता है क्योंकि आपका हार्ट इसे आपके शरीर के चारों ओर पंप करता है. हेल्दी लाइफस्टाइल के साथ हाई ब्लड प्रेशर को प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया जा सकता है. योग उच्च रक्तचाप से लड़ने (Yoga For High Blood Pressure) और इससे जुड़ी बीमारियों के जोखिम को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है.

हर साल वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे की थीम (World Hypertension Day 2020 Theme) भी एक खास विषय पर रखी जाती है, जिससे लोगों में इसके प्रति जागरुकता बढ़े. एक्सपर्ट्स ने हाई ब्लड प्रेशर के लिए योग (Yoga For High Blood Pressure) को सबसे बेहतर और कारगर बताया है.

रोजाना इन योगासनों का अभ्यास कर हाइपरटेशन से पाएं राहत | Yoga Asanas To Fight High Blood Pressure

1. वृक्षासन (Vrikshasana)

- शुरुआत खड़े होकर करें.
- आप फर्श से दाएं पैर को उठाएं और अपने शरीर के वजन को अपने बाएं पैर पर संतुलित करें.
- अपने दाहिने पैर को अपनी लिफ्ट की आंतरिक जांघ पर रखें.
- इसे यथासंभव अपने श्रोणि के करीब रखें.
- अपना संतुलन खोजने के बाद, अपने हृदय चक्र में प्राणम मुद्रा में अपनी हथेलियों को मिलाएं.
- अपने हाथों को आकाश की ओर उठाएं.
- अपनी कोहनी को सीधा करें और सुनिश्चित करें कि आपका सिर आपकी बाहों के बीच में है.
- अपने टकटकी आगे ध्यान केंद्रित करें.
- ठीक ऐसा दूसरे पैर के साथ दोहराएं.
- प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं.

सांस लेने की प्रक्रिया | Breathing Methodology

इस आसन का अभ्यास करते समय सामान्य रूप से श्वास लें और छोड़ें.

2. वज्रासन (Vajrasana)

- अपने शरीर के किनारों से अपनी बाहों के साथ सीधे खड़े होकर शुरुआत करें.
- आगे झुकें और धीरे-धीरे अपने घुटनों को अपनी चटाई पर छोड़ें.
- अपनी एड़ी पर अपनी श्रोणि रखें और अपने पैर की उंगलियों को बाहर की ओर इंगित करें.
- अपनी एड़ी को एक-दूसरे के करीब रखें.
- पैर की उंगलियों को दूसरे के ऊपर न रखें, इसके बजाय दाएं और बाएं एक दूसरे के बगल में होना चाहिए.
- अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर ऊपर की ओर रखें.
- अपनी पीठ को सीधा करें और आगे देखें.
- प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं

57jrg8igWorld Hypertension Day: वज्रासन हाई ब्लड प्रेशर से राहत दिलाने में फायदेमंद हो सकता है

3. सावित्री आसन (Savithri Asana)

- अपनी भुजाओं को बाहर की ओर तानें, अपने घुटनों को मोड़ना शुरू करें.
- अपने ऊपरी शरीर को मोड़ें और अपने शरीर को सहारा देने के लिए अपनी भुजाओं को फर्श पर रखें. 
- आपके शरीर के वजन के साथ आपके निचले पैर और घुटनों का सहारा लेकर अपने ऊपरी शरीर को फर्श पर सीधा रखें.
- हथेलियों के साथ कंधे से दूरी और एक दूसरे का सामना करने के साथ अपनी बाहों को आकाश तक फैलाएं.
- आपके हाथ, रीढ़, कूल्हे और जांघें एक सीध में होनी चाहिए.
- प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं

4. प्राणायाम- भस्त्रिका प्राणायाम (Pranayama- Bhastrika Pranayama)

- किसी भी आरामदायक मुद्रा में बैठें (जैसे सुखासन, अर्धपद्मासन या पद्मासन)
- अपनी पीठ को सीधा करें और अपनी आंखें बंद करें.
- अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर रखें (प्रपथी मुद्रा में)
- श्वास लें और अपने फेफड़ों को हवा से भरें.
- पूरी तरह से साँस छोड़ें

e0n2sobWorld Hypertension Day: योग आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए काफी मददगार होता है
 

सांस लेना और साँस छोड़ना 1: 1 के अनुपात में किया जाना चाहिए. उदाहरण के लिए, अगर आप 6 काउंट के लिए सांस लेते हैं, तो आपको सांस छोड़ने के लिए 6 ही काउंट लेना चाहिए.

समय: आप दिन में पांच मिनट के लिए इस श्वास तकनीक का अभ्यास करके शुरू कर सकते हैं और धीरे-धीरे समय के साथ इसे बढ़ा सकते हैं.

हाई ब्लड प्रेशर आपके रक्त वाहिकाओं और अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है, विशेष रूप से मस्तिष्क, हृदय, आंखें और गुर्दे. अगर इसे अनकंट्रोल छोड़ दिया जाए तो यह दिल के दौरे, स्ट्रोक, वृक्क विकार और संवहनी मनोभ्रंश जैसी संभावित जीवन-धमकी की स्थिति पैदा कर सकता है.

योग संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है. पौष्टिक भोजन का सेवन, अच्छी नींद आपके ब्लड प्रेशर लेवल को कम करने में मदद कर सकती है, लेकिन ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए इस बात पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि आप कौन सी एक्सरसाइज कर रह हैं. योग शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना आवश्यक है. अगर आपको उच्च रक्तचाप है, तो योग विशिष्ट खड़े पोज़, बैक बेंड और इनवर्सस की सिफारिश नहीं करता है. इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप योग शिक्षक के मार्गदर्शन में अभ्यास करें कि आपके लिए पोज़ सुरक्षित है या नहीं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(एक्सपर्ट- योग ग्रैंड मास्टर अक्षर)

अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी उसी के लिए कोई ज़िम्मेदारी या दायित्व नहीं मानता है.