World Milk Day 2020: क्यों मनाते हैं विश्व दुग्ध दिवस, इतिहास, महत्व, थीम और दूध के फायदे

हर साल 1 जून (World Milk Day date) को विश्व दूग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे (World Milk Day 2020) मनाया जाता है. बहुत सारे देशों के सहभागिता से पूरे विश्व में 2001 में पहली बार विश्व दुग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे (World Milk Day) मनाया गया था. जिसके बाद से हर साल इस उत्सव भाग लेने वाले देशों की संख्या बढ़ रही है.

World Milk Day 2020: क्यों मनाते हैं विश्व दुग्ध दिवस, इतिहास, महत्व, थीम और दूध के फायदे

हर साल 1 जून को विश्व दूग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे (World Milk Day 2020) मनाया जाता है.

हर साल 1 जून को विश्व दूग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे (World Milk Day 2020) मनाया जाता है. बहुत सारे देशों के सहभागिता से पूरे विश्व में 2001 में पहली बार विश्व दुग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे मनाया गया था. जिसके बाद से हर साल इस उत्सव भाग लेने वाले देशों की संख्या बढ़ रही है. जानते हैं क्यों मनाते हैं वर्ल्ड मिल्क डे, क्या है विश्व दूग्ध दिवस का महत्व, इतिहास, क्या है विश्व दुग्ध दिवस 2020 की थीम और कैसे मनाते हैं विश्व दुग्ध दिवस.

क्यों मनाते हैं वर्ल्ड मिल्क डे (Why Do We Celebrate World Milk Day)
वर्ल्ड मिल्क डे या विश्व दुग्ध दिवस का उद्देश्य मानव जीवन में दूध और दुग्ध उत्पादों के महत्व के बारे में लोगों में जागरुक करना है. दूध से आपकी सेहत को मिलने वाले फायदों के बारे में आम जनता की जागरुकता बढ़ाने के लिये वर्ल्ड मिल्क डे या विश्व दुग्ध दिवस मनाया जाता है.

विश्व दुग्ध दिवस का इतिहास (World Milk Day History)
हर साल 1 जून को विश्वभर के लोग विश्व दुग्ध दिवस मनाते हैं. संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन ने इसकी स्थापना की थी. अब सवाल आता है कि 1 जून को ही क्यों चुना गया, तो इसकी वजह है कि संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन द्वारा इसे मान्यता दिए जाने से पहले इसी दिन बहुत से देश विश्व दुग्ध दिवस पहले से ही मना रहे थे.

jb3s382g

World Milk Day 2020 image:  विश्व दुग्ध दिवस 2020 की थीम है 'वर्ल्ड मिल्क डे की 20वीं वर्षगांठ'. 

विश्व दुग्ध दिवस 2020 की थीम (World Milk Day 2020 Theme)
जैसा कि हमने आपको बताया वर्ल्ड मिल्क डे पहली बार 2001 में मनाया गया, तो इस साल विश्व दुग्ध दिवस के 20 साल पूरे हो रहे हैं. तो इस साल की थीम भी इसी पर आधारित है. विश्व दुग्ध दिवस 2020 की थीम है 'वर्ल्ड मिल्क डे की 20वीं वर्षगांठ' (20th Anniversary of World Milk Day). 

विश्व दुग्ध दिवस 2020: दूध का महत्व (World Milk Day 2020: Importance of Milk)
भारत एक कृषि प्रधान राष्ट्र है ऐसे में हमारे लिए विश्व दुग्ध दिवस बहुत महत्व रखता है. जब से हम पैदा हुए हैं, दूध हमारे भोजन में मुख्य भोजन है. यह पूरे देश में संस्कृतियों और क्षेत्रों में समान है. खाना पकाने में दूध के उपयोग की भिन्नता है, लेकिन यह एक दिन में कम से कम एक भोजन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है.

विश्व दुग्ध दिवस पर जानें दूध के फायदे (Benefits of milk)
दूध पोषक तत्वों से भरपूर होता है. इसमें कैल्सियम, मैगनिशियम, ऑयोडीन, आयरन, पोटेशियम, फोलेट्स, जिंक, फॉसफोरस, विटामिन डी, राइबोफ्लेविन, विटामिन ए, विटामिन बी12, प्रोटीन, स्वस्थ फैट होते हैं. क्योंकि इसमें उच्च गुणवत्ता के प्रोटीन और दूसरे कई अमीनो एसिड और फैटी एसिड मौजूद होता है तो दूध एक एनर्जी ड्रिंक हो सकता है, जो शरीर को तुरंत ऊर्जा दे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

विश्व दुग्ध 2020: कैसे मनाएं (World Milk 2020: How to Celebrate)
वहीं COVID-19 महामारी के कारण इस साल विश्व दुग्ध दिवस के 20 साल पूरे होने के बावजूद इस खास दिन पर भी बड़ा कार्यक्रम नहीं किया जा रहा है. पिछले साल भारत में वर्ल्ड मिल्क डे की थीम थी 'दूध पीना: आज और हर दिन' ( ‘Drink Milk: Today and Every day') इस दिन का लक्ष्य हर साल नियमित रूप से आहार में दूध और डेयरी उत्पादों को शामिल करने के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता फैलाना है. विभिन्न गैर-सरकारी संगठन और अन्य संगठन जो योगदान दे रहे हैं, वे गरीब बच्चों को मुफ्त दूध के पैकेट दान करते हैं. 

COVID-19 महामारी (COVID-19 pandemic) के कारण सभी के लिए मुश्किल भरा समय है, तो आप भी अगर आप विश्व दुग्ध दिवस 2020 मनाना चाहते हैं तो अपनाने आसपास के ज़रूरतमंद लोगों को कुछ दूध के पैकेट दान कर सकते हैं.