भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह ने जीता बड़ा अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार, पहले भारतीय बने

पिछले सत्र के बारे में मनप्रीत ने कहा, ‘अगर आप साल में हमारे प्रदर्शन को देखें तो हमने जिस भी टूर्नामेंट में हिस्सा लिया उसमें अच्छा किया.

भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह ने जीता बड़ा अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार, पहले भारतीय बने

भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह

खास बातें

  • मनप्रीत को 35.2 प्रतिशत मत मिले
  • बेहद सम्मानित महसूस कर रहा हूं
  • बेल्जियम के आर्थर वॉन डोरेन और अर्जेंटीना के लुकास विला को पछाड़ा
नई दिल्ली:

राष्ट्रीय पुरुष हाकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) वीरवार को अंतराष्ट्रीय हाकी महासंघ (एफआईएच) का साल का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाले पहले भारतीय बने जिससे उनके लिए 2019 सत्र यादगार रहा जहां उनकी अगुआई में टीम ने ओलिंपिक में भी जगह बनाई. मिडफील्डर मनप्रीत इस तरह 1999 में पुरस्कार शुरू होने के बाद इसे जीतने वाले पहले भारतीय बने. मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) ने इस पुरस्कार की दौड़ में बेल्जियम के आर्थर वॉन डोरेन और अर्जेंटीना के लुकास विला को पछाड़ा जो क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे.

यह भी पढ़ें:  एश‍िया टीम चैंप‍ियनश‍िप में भारतीय पुरुष टीम की नजर मेडल पर..

राष्ट्रीय संघों, मीडिया, प्रशंसकों और खिलाड़ियों के संयुक्त मतों में मनप्रीत को 35.2 प्रतिशत मत मिले. वॉन डोरेन ने कुल 19.7 प्रतिशत जबकि विला ने 16.5 प्रतिशत मत हासिल किए. इस पुरस्कार के लिए बेल्जियम के विक्टर वेगनेज और ऑस्ट्रेलिया के एरन जालेवस्की और एडी ओकेनडेन को भी नामित किया गया था. लंदन 2012 और रियो ओलिंपिक 2016 में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले 27 साल के मनप्रीत ने 2011 में सीनियर राष्ट्रीय टीम के लिए पदार्पण किया था. वह अब तक भारत की ओर से 260 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं. 

यह भी पढ़ें:  बेल्जियम को प्रो हॉकी लीग में भारत के ख‍िलाफ कड़े मुकाबले की उम्‍मीद..

पिछले सत्र के बारे में मनप्रीत ने कहा, ‘अगर आप साल में हमारे प्रदर्शन को देखें तो हमने जिस भी टूर्नामेंट में हिस्सा लिया उसमें अच्छा किया. यह जून में एफआईएच सीरीज फाइनल हो या बेल्जियम में टेस्ट सीरीज, जहां हम मेजबान और स्पेन के खिलाफ खेले और उन्हें हराया.' उन्होंने कहा, ‘2019 में हमारा सबसे बड़ा लक्ष्य ओलिंपिक में जगह बनाना था.'भारत ने दो ओलिंपिक के ओलिंपिक क्वालीफायर में रूस को 4-2 और 7-2 से हराकर यह लक्ष्य हासिल किया. मनप्रीत ने इस पुरस्कार को टीम के अपने साथियों को समर्पित करते हुए कहा कि उनके समर्थन के बिना यह संभव नहीं था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO:  काफी समय पहले भारतीय पुरुष व महिला हॉकी कप्तानों ने एनडीटीवी से बात की थी. 

उन्होंने कहा, ‘यह पुरस्कार जीतकर मैं बेहद सम्मानित महसूस कर रहा हूं और मैं इसे अपनी टीम को समर्पित करना चाहता हूं. मैं अपने शुभचिंतकों और दुनियाभर के हाकी प्रशंसकों को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने मेरे पक्ष में मतदान किया. भारतीय हाकी के लिए इतना अधिक समर्थन शानदार है.