Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Hockey world Cup: हॉकी के 'महाकुंभ' में पाकिस्‍तान का रहा है वर्चस्‍व, ऑस्‍ट्रेलिया के पास है बराबरी का मौका..

Hockey world Cup: हॉकी के 'महाकुंभ' में पाकिस्‍तान का रहा है वर्चस्‍व, ऑस्‍ट्रेलिया के पास है बराबरी का मौका..

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • पाकिस्‍तान सर्वाधिक चार बार रहा है वर्ल्‍डकप चैंपियन
  • ऑस्‍ट्रेलिया, नीदरलैंड्स तीन-तीन बार बने विजेता
  • भारतीय टीम वर्ष 1975 में बनी थी वर्ल्‍डकप विजेता
भुवनेश्‍वर:

हॉकी वर्ल्‍डकप (Hockey world Cup 2018) के प्रारंभ होते ही यह खेल और इसके खिलाड़ि‍यों का प्रदर्शन लोगों के लिए चर्चा का विषय होगा. हॉकी वर्ल्‍डकप 2018 का आयोजन ओडिशा के भुवनेश्‍वर शहर में होने जा रहा है. टूर्नामेंट का रंगारंग आगाज मंगलवार 27 नवंबर को होगा, इसके बाद 28 नवंबर से मुकाबलों का दौर शुरू हो जाएगा. मेजबान भारतीय टीम (Indian Hockey Team) को बुधवार, 28 नवंबर को अपना प्रारंभिक मुकाबला दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलना है. मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली भारतीय टीम को इस बार टूर्नामेंट के खिताबी दावेदारों में हैं. भारत के अलावा गत चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया, नीदरलैंड्स, जर्मनी और अर्जेंटीना को प्रबल दावेदारों में शुमार किया जा रहा है. टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला 16 दिसंबर को खेला जाएगा.

Hockey World Cup: भारत का पहला मैच 28 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से, देखें टूर्नामेंट का कार्यक्रम

इस बार टूर्नामेंट के लिए पूल ए में अर्जेंटीना, न्‍यूजीलैंड, स्‍पेन और फ्रांस की टीमें रखी गई हैं. पूल बी में ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड, आयरलैंड और चीन जबकि पूल सी में बेल्जियम, भारत, कनाडा और दक्षिण अफ्रीका हैं. पूल डी में नीदरलैंड्स, जर्मनी, मलेशिया और पाकिस्‍तान को रखा गया है. सेमीफाइनल मुकाबले 15 दिसंबर को होंगे जबकि फाइनल मैच रविवार 16 दिसंबर को खेला जाएगा. इतिहास की बात करें तो सबसे पहले वर्ष 1971 में हॉकी वर्ल्‍डकप (पुरुष) का आयोजन किया गया. स्‍पेन के बार्सिलोना शहर ने इस टूर्नामेंट की मेजबानी की. पाकिस्‍तान (Pakistan Hockey Team) ने मेजबान स्‍पेन को 1-0 से हराकर पहला वर्ल्‍डकप चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. ओडिशा का भुवनेश्‍वर शहर 14वें हॉकी वर्ल्‍डकप की मेजबानी कर रहा है.

Hockey World Cup: कप्‍तान मनप्रीत सिंह बोले, यह है भारतीय टीम का पहला लक्ष्‍य...

वर्ल्‍डकप विजेता टीमों की बात करें तो पाकिस्‍तान ने इस टूर्नामेंट में अब तक चार बार चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया है. पाकिस्‍तान के अलावा कोई देश अब तक चार बार हॉकी वर्ल्‍डकप चैंपियन नहीं बन पाया है. पाकिस्‍तान ने वर्ष 1971, 1978, 1982 और 1994 में चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था. पाकिस्‍तान की टीम इस समय भले ही कमजोर हो गई हो, लेकिन 70 और 80 के दशक में इसे विश्‍व हॉकी की बड़ी ताकत माना जाता था. चैंपियन बनने के मामले में ऑस्‍ट्रेलिया और नीदरलैंड्स दूसरे स्‍थान पर है, यह दोनों टीमें तीन अब तक तीन बार चैंपियन रही हैं. ऑस्‍ट्रेलिया टीम वर्ष 1986, 2010 और 2014 में वर्ल्‍डकप चैंपियन बनी थी. इसी तरह नीदरलैंड्स ने 1973, 1990 और 1998 में वर्ल्‍डकप चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था. जर्मनी की टीम दो बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बनी है, इसने 2002 और 2006 में वर्ल्‍डकप खिताब हासिल किया था. वर्ष 2014 में वर्ल्‍डकप जीतने वाली ऑस्‍ट्रेलियाई टीम यदि इस बार चैंपियन बनी तो पाकिस्‍तान के चार वर्ल्‍डकप जीतने की उपलब्धि को बराबर कर लेगी.

वीडियो: भारतीय हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह से खास बातचीत

भारत में तीसरी बार हॉकी वर्ल्‍डकप आयोजित हो रहा है. भुवनेश्‍वर से पहले 1982 में बंबई (अब मुंबई) शहर और 2010 में नई दिल्‍ली इस टूर्नामेंट की मेजबानी कर चुका है. भारत केवल एक बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बना है. वर्ष 1975 में मलेशिया के कुआलालम्‍पुर शहर में आयोजित हुए वर्ल्‍डकप में भारतीय टीम प्रबल प्रतिद्वंद्वी पाकिस्‍तान को हराकर चैंपियन बनी थी. फाइनल मुकाबला भारत ने 2-1 से जीता था. इस बार खेलप्रेमियों को यही उम्‍मीद है कि भारतीय टीम न केवल टूर्नामेंट में अच्‍छा प्रदर्शन करे बल्कि देश को वर्ल्‍डकप तोहफे के रूप में दे.