कार हादसे में रम्या, उसके चाचा व दादा की मौत के बाद तीन बारों के लाइसेंस रद्द

कार हादसे में रम्या, उसके चाचा व दादा की मौत के बाद तीन बारों के लाइसेंस रद्द

खास बातें

  • हादसे में परिवार के तीन की मौत के बाद तीन बारों के लाइसेंस रद्द
  • हादसे के आरोपी श्रविल की उम्र 21 साल से कम थी, लेकिन उसे शराब दी गई
  • नाबालिगों को शराब परोसने वाले बारों के खिलाफ अभियान तेज़
हैदराबाद:

हैदराबाद में एक छात्र द्वारा शराब पीकर कार चलाने की वजह से हुए हादसे में एक परिवार की तीन पीढ़ियों के तीन लोगों की मौत के बाद तीन बारों के लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं, जिनमें टीजीआईएफ (या थैंक गॉड इट्स फ्राइडे) नामक बार भी शामिल है, जिसमें इंजीनियरिंग के छात्र के. श्रविल को शराब परोसी गई थी।

हैदराबाद के बंजारा हिल्स इलाके में स्थित इस बार में श्रविल ने 1 जुलाई को अपने दोस्तों के साथ शराब पी थी, जबकि सभी लड़कों की उम्र शराब पीने के लिए कानूनन तय की गई उम्र (21 साल) से कम थी। श्रविल पर आरोप है कि इसके बाद उसने अपने एक दोस्त की कार चलाते हुए एक दूसरी कार को टक्कर मारी थी, जिसमें 10-वर्षीय रम्या, उसके चाचा और उसके दादा की मौत हो गई थी।

पुलिस ने चेतावनी दी है कि अगर विद्यार्थी बारों, पबों या सड़क पर शराब पीते, या पिए हुए पकड़े जाएंगे, तो उनके स्कूलों और कॉलेजों को इस बारे में सूचना दी जाएगी। पुलिस के मुताबिक, कानूनी रूप से शराब पीने वाले भी अगर ड्राइविंग करते पकड़े गए, तो उनके कार्यालयों को सूचना दी जाएगी।

सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि बार से निकलने के कुछ ही समय बाद श्रविल और उसके दोस्त कार में बैठे, और बंजारा हिल्स मेन रोड पर तेज़ गति से कार चलाने लगे, जिससे पहले उनकी टक्कर रोड डिवाइडर से हुई, फिर वह उछलकर सड़क के दूसरी ओर एक कार पर गिरे... दूसरी तरफ से आ रही कार को चलाने वाले 35-वर्षीय पी. राजेश की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि उनकी 10-वर्षीय भतीजी रम्या की मौत आठ दिन तक अस्पताल में लाइफ सपोर्ट पर रहने के बाद हुई। दुर्घटना में राजेश के पिता पी. मधुसूदनाचारी की रीढ़ की हड्डी और पसलियां टूट गई थीं, और उनकी मृत्यु सोमवार को हुई।

राजेश और उनकी पत्नी शिल्पा को अगले ही दिन अपने तीन-वर्षीय बेटे के साथ अमेरिका चले जाना था। शिल्पा का कहना है, "एक्साइज़ डिपार्टमेंट इतनी देर से क्यों जागा है, जब हमारा परिवार तबाह हो चुका है...? क्या नाबालिगों को शराब परोसा जाना हमेशा से गैरकानूनी नहीं है...?"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हादसे के बाद जनता में भड़कते गुस्से के बीच तेलंगाना के एक्साइज़ विभाग ने नाबालिगों को शराब परोसने वाले बारों और पबों के खिलाफ अभियान सख्त कर दिया है और चेताया है कि ऐसा करने वालों का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

सरकार का कहना है कि यह बार की ज़िम्मेदारी है कि वह शराब परोसने से पहले ग्राहक का पहचान पत्र देखकर उसकी उम्र सुनिश्चित करे, लेकिन एक बार मालिक के मुताबिक वास्तविक ग्राहकों को नाराज़ किए बिना ऐसा करना बहुत मुश्किल है।