देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोविड वैक्सीन, जानिए कौन सा राज्य टीकाकरण में रहा सबसे आगे

देश मे शनिवार को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हुआ. इस अभियान में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पहले दिन कुल 1,91,181 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए.

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोविड वैक्सीन, जानिए कौन सा राज्य टीकाकरण में रहा सबसे आगे

दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हुआ

नई दिल्ली:

देश मे शनिवार को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हुआ. इस अभियान में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पहले दिन कुल 1,91,181 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए.

सबसे ज्यादा टीके उत्तर प्रदेश- 21,291, आंध्र प्रदेश- 18,412, महाराष्ट्र- 18,328, बिहार- 18,169 और ओडिशा में 13,746 टीके लगाये गए. जबकि देश की राजधानी दिल्ली में पहले दिन 4319 टीके लगाए गए.

गौरतलब है कि देश मे 3,352 से वैक्सीनेशन साइट पर टीका लगाने का काम शनिवार से शुरू हुआ और हर साइट पर अधिकतम 100 लोगों को टीका लगना था. इस हिसाब से माना जा रहा था कि पहले दिन 3.35 लाख से ज़्यादा लोगों को टीका लग सकता है लेकिन जितने स्वास्थ्य कर्मियों को  पहले दिन टीका लगने की उम्मीद थी उनमें से 57% को ही टीका लग सका.

पहले दिन के हिसाब से ये आंकड़ा उत्साहवर्धक है या निराशाजनक है इस पर अभी कोई राय बनाना ठीक नहीं क्योंकि कुछ कारण है जिन पर ध्यान देना जरूरी है. पहले दिन का टीकाकरण तय समय से देरी से शुरू हुआ क्योंकि उद्घाटन कार्यक्रम में समय लगा. संभव है स्वास्थ्य कर्मियों में टीके को लेकर कुछ हिचकिचाहट या शंका हो. हालांकि राहत की बात यह है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पूरे देश में पहले दिन कहीं से भी यह रिपोर्ट नहीं आई की वैक्सीन लगवाने के बाद स्वास्थ्य कर्मी को अस्पताल में एडमिट होना पड़ गया हो. कुछ स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पहला दिन सफल रहा.

Newsbeep

आपको बता दें कि शनिवार शाम केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बाकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि देश में शनिवार को 3352 वैक्सीनेशन साइट पर टीकाकरण अभियान शुरू हुआ. कुल 16,755 लोगों ने मिलकर टीकाकरण साइट पर काम किया. स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी ने बताया कि 12 राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ऐसे थे जिन्हें केवल भारत बायोटेक की Covaxin दी गई थी, जबकि सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन COVISHIELD सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को दी गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया CoWIN डिजिटल प्लेटफॉर्म को लेकर कुछ समस्या भी आई. जैसे कुछ साइट पर लाभार्थियों की लिस्ट अपलोड करने में देरी हुई. कुछ साइट पर ऐसे हेल्थ केयर वर्कर को टीका दिया गया जिनको आज टीका नहीं लगना था. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इन समस्याओं का समाधान भी किया गया.