कश्‍मीर: सुरक्षा बलों के साथ ताजा संघर्ष में दो नागरिकों की मौत, सीएम महबूबा मुफ्ती ने जताया दुख

कश्‍मीर: सुरक्षा बलों के साथ ताजा संघर्ष में दो नागरिकों की मौत, सीएम महबूबा मुफ्ती ने जताया दुख

फाइल फोटो...

खास बातें

  • अनंतनाग में सुरक्षा बलों द्वारा पैलेट गन फायर करने से एक शख्‍स की मौत
  • शोपियां जिले में आंसू गैस का खोल लगने से एक व्‍यक्ति की जान चली गई.
  • शोपियां में एक और युवा मारा गया है और यह बेहद दुखद है : महबूबा मुफ्ती
श्रीनगर:

दक्षिण कश्‍मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों द्वारा पैलेट गन से फायर किए जाने से एक व्‍यक्ति की मौत हो गई, जबकि शोपियां जिले में आंसू गैस का खोल लगने से एक व्‍यक्ति की जान चली गई. शोपियां में यवर अहमद की मौत हुई, जबकि अनंतनाग में 26 वर्षीय शख्‍स की जान गई.

कश्मीर पिछले करीब दो महीने से अशांत है. 8 जुलाई को हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी के सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से ही घाटी में तनाव है. हिंसक प्रदर्शन और झड़पों में अब तक 78 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 10 हजार के करीब लोग घायल हैं और उनमें से भी काफी संख्या में सुरक्षाबलों के जवान हैं. घाटी के ज्यादातर इलाकों में लगातार कर्फ्यू जारी है और स्कूल-कॉलेज करीब दो महीने से बंद पड़े हैं.

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती दुखी
दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में पथराव करने वाले एक युवक की मौत पर चिंता प्रकट करते हुए जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि घटना के बारे में जानकर वह दुखी हैं.

उन्होंने जम्मू में एक समारोह में कहा, 'मुझे नहीं पता कि क्या कहूं, मैं दुखी हूं. क्योंकि जब मैं यहां से निकलने वाली थी तो मेरे सचिव ने मुझसे कहा कि शोपियां में फिर पथराव करने वाला एक लड़का मारा गया. इसलिए मैं थोड़ा दुखी हूं.'

शोपियां जिले के तुकरू में आंसू गैस के गोले का खोल सिर में लगने से सायर अहमद शेख की शनिवार को मौत हो गई. यह घटना तब हुई जब सुरक्षाकर्मी पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों के एक समूह को तितर-बितर कर रहे थे.

स्वास्थ्य कर्मियों के काम की तारीफ
मुख्यमंत्री ने कठिन समय पर सराहनीय कार्य करने के लिए स्वास्थ्य विभाग का शुक्रिया अदा किया और उनके प्रयासों तथा सेवाओं की सराहना की.

Newsbeep

उन्होंने कहा, 'मैं ऐसे कठिन समय में सराहनीय कार्य करने के लिए स्वास्थ्य विभाग का शुक्रिया अदा करती हूं और मुबारकवाद देती हूं. घाटी में स्वास्थ्य कर्मी 24 घंटे काम में जुटे रहे और उनमें से कुछ तो कई सप्ताह से अपने घर भी नहीं गए.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- साथ में एजेंसी इनपुट