नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद से सैन्य प्रतिष्ठानों पर हुए 10 हमले

जम्मू एवं कश्मीर में सेना के प्रतिष्ठानों पर 2014 से अबतक 10 हमले हो चुके हैं.

नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद से सैन्य प्रतिष्ठानों पर हुए 10 हमले

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  • साल 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार केंद्र में आई थी.
  • 2014 में दो हमले, 2015 में दो, 2016 में पांच और 2017 में एक हमला हुआ है.
  • रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने एक लिखित जवाब में कहा
नई दिल्ली:

केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद सैन्य ठिकानों पर भी कई आतंकी हमले हुए हैं. साल 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार केंद्र में आई थी. जम्मू एवं कश्मीर में सेना के प्रतिष्ठानों पर 2014 से अबतक 10 हमले हो चुके हैं. इसमें 38 जवान शहीद हुए हैं. यह जानकारी लोकसभा में शुक्रवार को दी गई. रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने एक लिखित जवाब में कहा कि जम्मू एवं कश्मीर से बाहर किसी सैन्य अड्डे पर हमला नहीं हुआ है. सदन में दिए गए जवाब के अनुसार, राज्य में सेना के शिविरों पर 2014 में दो हमले, 2015 में दो, 2016 में पांच और 2017 में एक हमला हुआ है.

इसमें सबसे ज्यादा हताहतों की संख्या 2016 में रही, जिस दौरान 26 जवान शहीद हुए थे. उड़ी आतंकवादी हमले में 19 सैन्यकर्मी शहीद हुए थे, जबकि सात अन्य नगरौटा में नवंबर में हुए हमले में शहीद हुए थे. साल 2014 में सैन्य प्रतिष्ठानों पर हुए हमलों में नौ जवान शहीद हुए थे और इस साल तीन शहीद हुए हैं. 

यह भी पढ़ें : रक्षा मंत्री अरुण जेटली और सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कश्मीर में सुरक्षा हालात का जायजा लिया

मंत्री ने कहा कि रक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं और रक्षा सेवाओं ने सैन्य अड्डों के जोखिम के वर्गीकरण सहित कई तरह की कार्रवाई की है.
VIDEO : सेना के कैंप पर आतंकी हमला

इसमें खुफिया जानकारी जुटाने की क्षमताओं का उन्नयन, प्रतिक्रिया तंत्र को मजबूत व सुव्यवस्थित करना तथा मानवरहित हवाई वाहनों का इस्तेमाल और सभी सैन्य प्रतिष्ठानों की सामयिक सुरक्षा जांच शामिल है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com