NDTV Khabar

स्वामी विवेकानंद की कही 10 बातें, जिनसे मैनेजमेंट गुरुओं को भी सीखना चाहिए

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 125 साल पहले भी एक 9/11 हुआ था. उस समय स्वामी विवेकानंद ने विश्व का रास्ता दिखाया था. वह दिन प्रेम, सद्भाव और भाईचारे के बारे में था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्वामी विवेकानंद की कही 10 बातें, जिनसे मैनेजमेंट गुरुओं को भी सीखना चाहिए

स्वामी विवेकानंद की कही 10 खास बातें..

खास बातें

  1. स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ
  2. विवेकानंद ने कहा- जनसेवा ही प्रभुसेवा : पीएम मोदी
  3. 125 साल पहले भी एक 9/11 हुआ था : पीएम मोदी
नई दिल्ली: स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ पर पीएम नरेंद्र मोदी ने आज छात्रों को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने विवेकानंद के जीवन से जुड़े खास पहलुओं को छुआ. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 125 साल पहले भी एक 9/11 हुआ था. उस समय स्वामी विवेकानंद ने विश्व का रास्ता दिखाया था. वह दिन प्रेम, सद्भाव और भाईचारे के बारे में था. स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि जनसेवा ही प्रभुसेवा है. उस समय के समाज की कल्पना कीजिए जब पूजा-पाठ और परंपराओं की समाज में पैठ थी. ऐसे समय में 30 साल का नौजवान यह कह दे कि मंदिर में बैठने से भगवान नहीं मिलने वाला. समाज सेवा करने से भगवान मिलेगा. 

जानें पीएम नरेंद्र मोदी क्यों बोले- लोगों ने तो मेरे बाल नोंच लिए​

टिप्पणियां
आइये जानते हैं विवेकानंद की कही खास बातें

1.उठो, जागो और तब तक न रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाए.
2. ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां हमारी हैं. वह हमीं हैं जो अपनी आंखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अंधकार है.  (125 साल पहले भी 9/11 हुआ था : स्वामी विवेकानंद पर पीएम मोदी की कही 10 रोचक बातें)
3.दिल दिमाग के टकराव में दिल की सुनो.
4.पहले हर अच्छी बात का मज़ाक बनता है, फिर उसका विरोध होता है और फिर अंत में उसे स्वीकार कर लिया जाता है
5.उठो मेरे शेरो, इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो.
6.जो तुम सोचते हो वह हो जाओगे. यदि तुम खुद को कमजोर सोचते हो, तुम कमजोर हो जाओगे, अगर खुद को ताकतवर सोचते हो, तुम ताकतवर हो जाओगे.
7.पढ़ने के लिए जरूरी है एकाग्रता, एकाग्रता के लिए जरूरी है ध्यान.
8. एक समय में एक ही काम करो और उस समय अपनी पूरी आत्मा उसमें डाल दो.
9.संभव की सीमा जानने केवल एक ही तरीका है असम्भव से आगे निकल जाना.
10. अपने आपको निर्बल कहना पाप है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement