एयरपोर्ट के पास सेना की वर्दी में 11 लोग नहीं दिखा पाए ID कार्ड, संदिग्ध हालत में पुलिस ने धर दबोचा

पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की है. पुलिस को अभी तक इनके मकसद का पता नहीं चल सका है कि अति उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र में 11 लोग सेना की वर्दी पहनकर क्यों टहल रहे थे?

एयरपोर्ट के पास सेना की वर्दी में 11 लोग नहीं दिखा पाए ID कार्ड, संदिग्ध हालत में पुलिस ने धर दबोचा

पुलिस को अभी तक इनके मकसद का पता नहीं चल सका है कि अति उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र में 11 लोग सेना की वर्दी पहनकर क्यों टहल रहे थे?

गुवाहाटी:

गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बारदोलोई इंटरनेशनल (LGBI) एयरपोर्ट के पास असम पुलिस (Assam Police) ने ऐसे 11 लोगों को गिरफ्तार किया है जो  भारतीय सेना की वर्दी पहने हुए थे. पुलिस को जब कुछ संदिग्ध लगा तो उन लोगों से पहचान पत्र मांगा गया लेकिन सभी लोग अपनी आईडी नहीं दिखा पाए. इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की है. पुलिस को अभी तक इनके मकसद का पता नहीं चल सका है कि अति उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र में 11 लोग सेना की वर्दी पहनकर क्यों टहल रहे थे?

एनडीटीवी को पुलिस सूत्रों ने बताया कि पेट्रोल टीम ने शुरुआत में सेना की वर्दी पहने चार लोगों को संदिग्ध हालत में देखा और उन्हें पकड़ा, जब उनसे आईडी कार्ड मांगा गया तो वो नहीं दिखा पाए. बाद में पूछताछ के बाद उनलोगों ने सात अन्य लोगों से भी मिलवाया. इनमें से किसी ने भी न तो पहचान पत्र दिखाया और न ही वहां टहलने की वजह बताई. इसके बाद पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया.

Newsbeep

गुवाहाटी पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर देबराज उपाध्याय ने बताया, "हमने सभी 11 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है. हमने आईपीसी (भारतीय दंड संहिता) की कई कड़ी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. प्रारंभिक जांच में हमने पाया है कि ये लोग पिछले एक महीने से इस क्षेत्र में रह रहे थे." उन्होंने कहा, "वे लोग अवैध रूप से सेना की वर्दी पहने हुए थे क्योंकि वे भारतीय सेना का कोई कानूनी और वैध पहचान पत्र नहीं दिखा सके. हमें यहां एक साजिश का संदेह है. हम इसके पीछे का मकसद तलाश करने में जुटे हैं."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शुरुआती जांच में पता चला है कि गिरफ्तार 11 लोगों में से एक, ध्रीमन गोस्वामी, ने आरोप लगाया है कि उसे एक सिक्योरिटी कंपनी में नौकरी का फर्जी नियुक्ति पत्र दिया गया था. उन लोगों के पास से किसी भी तरह का हथियार बरामद नहीं हुआ है. पुलिस ने उनकी निशानदेही पर नजदीक के उस घर की तलाशी ली, जहां ये लोग रह रहे थे. पुलिस को वहां से कुछ फर्जी आईडी कार्ड समेत कुछ कागजात मिले हैं. पुलिस ने उन कागजातों की जानकारी एयरपोर्ट की सुरक्षा करने वाली सीआईएसएफ से साझा की है.