उम्र सिर्फ 12 साल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीवनी समेत लिख डालीं 135 किताबें!

मृगेंद्र राज ने छह साल की उम्र से किताबें लिखना शुरू किया था, पहली किताब कविताओं का एक संकलन थी

उम्र सिर्फ 12 साल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीवनी समेत लिख डालीं 135 किताबें!

यूपी के सुल्तानपुर के 12 साल के बच्चे मृगेंद्र राज ने 135 किताबें लिखी हैं.

खास बातें

  • लेखक के तौर पर 'आज का अभिमन्यु' नाम का उपयोग करते हैं मृगेंद्र
  • रामायण के 51 किरदारों का विश्लेषण करके किताबें लिखीं
  • प्रत्येक किताब में करीब 25 से 100 तक पन्ने
अयोध्या:

उत्तर प्रदेश में 12 साल के बच्चे ने धर्म और जीवनी जैसे विषयों पर अब तक कुल 135 किताबें लिखी हैं. इसमें राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीवनी भी शामिल है. मृगेंद्र राज ने कहा कि उन्होंने छह साल की उम्र से किताबें लिखनीं शुरू की और उनकी पहली किताब कविताओं का एक संकलन थी.

वह लेखक के तौर पर 'आज का अभिमन्यु' नाम का उपयोग करते हैं और उनके नाम कुल चार वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं.

उन्होंने कहा, "मैंने रामायण के 51 किरदारों का विश्लेषण करके किताबें लिखीं. हर किताब में करीब 25 से 100 पन्ने हैं. मुझे यहां तक की लंदन स्थित वर्ल्ड यूनिवर्सिटी आफ रिकार्ड्स से डॉक्टरेट के लिए ऑफर भी मिला."

गया में सरकारी स्कूल की किताबों पर उल्टा छाप दिया तिरंगा, प्रशासन ने दिया वापस किताबें मंगाने का निर्देश

सुल्तानपुर स्थित एक निजी स्कूल में पढ़ाने वाली उनकी मां ने कहा कि उनके लड़के ने बचपन में ही पढ़ने में रुचि दिखाई और उन्होंने अपने बेटे को प्रोत्साहित किया. मृगेंद्र के पिता राज्य के चीनी उद्योग व गन्ना विकास विभाग में काम करते हैं.

FlashBack 2018: साल 2018 की वो 5 चर्चित किताबें, जो आपको जरूर पढ़नी चाहिए

मृगेंद्र ने कहा कि वह बड़े होकर एक लेखक ही बने रहना चाहते हैं और विभिन्न विषयों पर अधिक से अधिक किताबें लिखना चाहते हैं.

VIDEO : बच्चे कैसे जानेंगे बापू को

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



(इनपुट आईएएनएस से)